Saturday, May 8th, 2021 Login Here
भोईवाडा की घटना के बाद मंदसौर में पुलिस का फ्लेग मार्च जावरा विधायक से पंगा और मंदसौर के हिस्सें की आॅक्सीजन रोकना भरी पड़ा कलेक्टर को, विधायक सिसोदिया की सीएम के समक्ष कड़ी आपत्ति के बाद विवाह की खुशी में भूल गए लाॅकडाउन के आदेश/ शादि में मेंहमान बन कर पहुंच गऐ एसडीएम और टीआई बीस दिन लाॅकडाउन के बाद भी कोरोना काबू नहीं हुआ तो अब सीएम के निर्देश के बाद मंदसौर में भी शुरु हुआ सख्ती वाला लॉक डाउन कोरोना के तांडव की हकीकत बयां करती मंदसौर के शमशान की सच्चाई ! कोरोना से जंग में भारतीय जैन संघठना ने नृत्य नाटिका के माध्यम से दिया सकारात्मकता का सन्देश रतलाम के एडवोकेट सुरेश डागर की मृत्यु का मामला गरमाया इंदौर के एडवोकेट ने हाईकोर्ट के आदेश की अवमानना पर जबलपुर उच्च न्यायालय में की याचिका दायर रतलाम के एडवोकेट सुरेश डागर की मृत्यु का मामला गरमाया इंदौर के एडवोकेट ने हाईकोर्ट के आदेश की अवमानना पर जबलपुर उच्च न्यायालय में की याचिका दायर बेटा चाहता था ऐश का जीवन जीने के लिए जमीन बेचना, माॅ ने मना किया तो कर दी हत्या कोविड की मार ने तोड़ी आम लोगों की कमर, बिगाडा मध्यवर्गीय परिवार का बजट योग बना रहा निरोग, कोरोना से जीती जंग आपदा में गायब धरती के भगवान! एक दर्जन डाक्टरों को नोटिस अग्रवाल समाज द्वारा सवा लाख महामृत्युंजय जाप एवं नवचंडी अनुष्ठान हुआ आरंभ अग्रवाल समाज सोमवार से सवा लाख महामृत्युंजय जप एवं नवचंडी अनुष्ठान का आयोजन करेगा लापरवाहीं- कोरोना लेकर बाजार में घूम रहे संक्रमित,


प्रदेश में भाजपा की सरकार बावजूद इसके भाजपा की सरकार में गृह मंत्री रहे कैलाश चावला ने मंदसौर की पुलिस पर सवालियां निशान खड़े किए है। दरअसल गुरूवार को मंदसौर के कृष्णा कम्पाउंड में रहने वाली वृ़द्धा रोशनबाई के साथ दोपहर में चैन खिंचने की घटना हुई थी लेकिन मंदसौर की शहर कोतवाली पुलिस ने सात घंटे तक आरोपियों को पकड़ना तो दूर वृद्धा की रिर्पोट तक दर्ज नहीं की। ऐसे में प्रदेश सरकार के पूर्व गृह मंत्री कैलाश चावला ने सौशल मिडिया पर नाराजगी जताते हुए पोस्ट लिखा जिसमें उन्होंने कहा कि मन्दसौर में कृष्णा कम्पाउंड निवासी महिला रोशनबाई की चैन स्नेचिंग की घटना की रिपोर्ट जिला मुख्यालय पर 7 घण्टे तक न लिखा जाना सिटी कोतवाली के पुलिस अधिकारियों को घोर लापरवाही ओर कानूनी प्रावधानों का जानबुझकर उल्ललंघन कहा जाना चाहिए।जानकारी के अनुसार 3 बजे घटित घटना घटित होने के बाद भी महिला की रिपोर्ट रात 10 बजे तक नही लिखी गई यह आपत्तिजनक व्यहवार है सिटी कोतवाली में इस तरह का व्यवहार आये दिनो होने की शिकायत प्राप्त होती है  लोगो को परेशान किये जाने के कारण सर्व विदित है। पुलिस अधीक्षक मन्दसौर से यह अपेक्षा की जाती है की सिटी कोतवाली में फरियादी की सुनवाई एवं उसके साथ ठीक व्यवहार हो यह सुनिश्चित करे तथा इस घटना की रिपार्ट लिखने में विलम्ब करने के दोषी अधिकारियो के विरुद्ध कठोर कार्यवाही कर ताकि जनता का विश्वास पुलिस के प्रति बना रहे।
उधर पूर्व गृह मंत्री के बयान के बाद पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ चैधरी ने कहा कि लापरवाहीं जैसा कुछ नहीं है। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई थी और जांच शुरू कर दी थी इसी में समय लगा।

Chania