Friday, May 7th, 2021 Login Here
रतलाम के एडवोकेट सुरेश डागर की मृत्यु का मामला गरमाया इंदौर के एडवोकेट ने हाईकोर्ट के आदेश की अवमानना पर जबलपुर उच्च न्यायालय में की याचिका दायर रतलाम के एडवोकेट सुरेश डागर की मृत्यु का मामला गरमाया इंदौर के एडवोकेट ने हाईकोर्ट के आदेश की अवमानना पर जबलपुर उच्च न्यायालय में की याचिका दायर बेटा चाहता था ऐश का जीवन जीने के लिए जमीन बेचना, माॅ ने मना किया तो कर दी हत्या कोविड की मार ने तोड़ी आम लोगों की कमर, बिगाडा मध्यवर्गीय परिवार का बजट योग बना रहा निरोग, कोरोना से जीती जंग आपदा में गायब धरती के भगवान! एक दर्जन डाक्टरों को नोटिस अग्रवाल समाज द्वारा सवा लाख महामृत्युंजय जाप एवं नवचंडी अनुष्ठान हुआ आरंभ अग्रवाल समाज सोमवार से सवा लाख महामृत्युंजय जप एवं नवचंडी अनुष्ठान का आयोजन करेगा लापरवाहीं- कोरोना लेकर बाजार में घूम रहे संक्रमित, चार महिने में नहीं बन पाया सवा दो सौ मीटर का नाला दूकान का शटर बंद लेकिन अंदर मिले ग्राहक हर दिन आॅक्सीजन आने का दावा लेकिन खत्म नहीं हो रहीं मारा-मारी *रजिस्ट्री की गाइड लाइन 30 जून तक यथावत* MP में 1 मई से शुरू नहीं होगा वैक्सीनेशन पार्ट-3:2.5 लाख डोज की पहली खेप 3 मई तक मिली तो 18+ लोगों को 5 मई से लगेगा टीका, 19 हजार लोगों ने कराया रजिस्ट्रेशन सोमली नदी को पार कर मंदसौर की तरफ आगे बढा चंबल का पानी

मंदसौर जिले में 4.63 करोड़ रूपए की हेराफेरी वाले खाद घोटाले को मंदसौर विधायक यशपालसिंह सिसोदिया ने विधानसभा में उठाया हालांकि प्रश्न लगने के तत्काल बाद इस पर चर्चा से पहले ही जिम्मेदारों ने इसमें कार्रवाहीं शुरू कर दी और आरोपी पिता-पुत्र पर प्रकरण दर्ज करवा दिया । इस मामलें में भले ही प्रकरण दर्ज हो गया लेकिन भोपाल विधानसभा में गुरूवार को विधायक श्री सिसोदिया ने पूरे जोर-शोर से इस मामलें को उठाया और चर्चा में भाग लिया जिसका जवाब देते हुए प्रदेश के सहकारिता मंत्री अरविंदसिंह भदोरिया ने माना कि इस मामलें में आरोपी ट्रांसपोर्टर और उसके पिता जो खुद चैकीदार भी है के विरूद्व सहकारिता आयुक्त ने प्रकरण दर्ज करने के लिए 15 फरवरी को एक पत्र भेज दिया है। सरकार जांच कर आरोपियों की सम्पत्ती भी कुर्क करेगी इसके लिए कमेटी का गठन किया जा रहा है। महाप्रबंधक दोषी पाऐ गये थे तो उन पर भी कार्रवाहीं होगी।
बजट सत्र के चैथे दिन गुरुवार को प्रश्नकाल के दौरान मंदसौर जिले में ट्रांसपोर्टर द्वारा गेहूं तथा खाद को सोसाइटी तक पहुंचाने में हेराफेरी का मामला उठा। इस महत्वपूर्ण मामलें को मंदसौर से बीजेपी के वरिष्ठ विधायक यशपाल सिंह सिसोदिया ने उठाया। उन्होंने कहा कि वेयरहाउस में चैकीदार का बेटा ही ठेकेदार है जिसने यह हेराफेरी की है। इसका जवाब देते हुए प्रदेश के सहकारिता मंत्री अरविंद सिंह भदौरिया ने कहा कि इस मामले में चैकीदार की संलिप्तता भी सामने आई है। ट्रांसपोर्टर और चैकीदार ने मिलकर 4 करोड़ 63 लाख की हेराफेरी की है। जिसमें 3 करोड 58 लाख की अनियमितता तथा 1 करोड़ 37 लाख रूपए की सब्सिडि है। इस मामले में आरोपियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई जाएगी। को ऑपरेटिव सोसायटी को इस संबंध में सहकारिता आयुक्त ने प्रकरण दर्ज करने के लिए 15 फरवरी को एक पत्र भेज दिया है। आरोपियों से  3 करोड़ 32 लाख रूपए की वसुली भी हो चूकी है।1 करोड़ 63 लाख वसूली की कार्रवाहीं चल रहीं है।
इनके खिलाफ संपत्ति कुर्क करने की भी कार्रवाहीं की जाएगी। इसके लिए शासन स्तर पर एक जांच दल गठित किया जाएगा। यदि सोसायटी के महाप्रबंधक इसमें शामिल पाए जाते हैं तो उनको हटाकर 3 माह में जांच की जाएगी।
इसलिए विधायक ने उठाया मामला
मंदसौर जिले में करोड़ो रूपए का खाद घोटाला हो गया। करीब दो महिने पहले पिपलियामंडी निवासी पिता-पुत्र कमल और ठाकुरप्रसाद तिवारी ने मिलकर इस घोटाले को अंजाम दिया। इस पूरे मामलें को विधायक यशपालसिंह सिसोदिया ने तारंांकिक प्रश्न के माध्यम से उठाया। दरअसल जिला मुख्यालय व मंदसौर विधानसभा में विपणन कार्यालय होने के चलते विधायक सिसोदिया ने इस घटनाक्रम को गंभीरता से लिया और इतना बड़ा घोटाला होने के बाद भी कार्रवाहीं नहीं होने को लेकर विधानसभा में प्रश्न लगा दिया और पूछा कि खाद घोटाला होने के बाद भी आरोपियों पर प्रकरण दर्ज क्यों नहीं किया जा रहा है। इस प्रश्न पर 25 फरवरी को चर्चा होनी थी लेकिन इससे पहले ही प्रश्न लगते ही 19 फरवरी को ही विपणन अधिकारी जेनीफर खान ने पिपलियामंडी थाने में पिता पुत्र के खिलाफ धारा 420 समेत अन्य धाराओं में प्रकरण दर्ज करा दिया।
यह था मामला
मई 2020 में खाद के अग्रिम भंडारण के लिए पिपलियामंडी क्षेत्र की 16 सहकारी समितियों ने चेक व आरओ ट्रांसपोर्टर कमल उर्फ टोनू तिवारी को दिए। उसने चेक व आरओ लेकर पिपलियामंडी स्थित वेयर हाउस काॅर्पोरेशन के गोदाम से 1400 मीट्रिक टन खाद सोसायटियों में भेजने के लिए उठाया। यह सोसायटियों में भेजने की बजाय बाजार में बेच दिया। 5 माह बाद डीएमओ ने 16 सहकारी समितियों को भेजे खाद की राशि के भुगतान के लिए आरओ व चेक सहकारिता विभाग को वापस किए। भुगतान से पहले सहकारिता विभाग ने समितियों से खाद की जानकारी ली तो पता चला कि एक भी सोसायटी में खाद नहीं पहुंचा। डीएमओ ने कलेक्टर को अवगत कराया। कलेक्टर ने सहकारिता विभाग से जांच कमेटी गठित करने को कहा इसी बीच कार्रवाई से बचने के लिए ट्रांसपोर्टर ने सहकारिता विभाग को 5 करोड़ रुपए का चेक देकर हिसाब चुकता कर लेने की बात कर ली। लेकिन विधायक सिसोदिया के प्रश्न लगाते ही मामलें में कार्रवाहीं शुरू हो गई।
सदन में मंत्री ने की विधायक की तारीफ
करोड़ो रूपऐ के खाद्य घोटाले को मप्र विधानसभा में उठाने वाले विधायक यशपालसिंह सिसोदिया की सहकारिता मंत्री अरविन्द्रसिंह भदोरिया ने सदन में तारीफ की। उन्होंने कहा कि माननीय सिसोदिया जी बड़े वि़द्धान व्यक्ति है, बड़े चिंतक, विचारक है, बड़े नाॅलेजेबल व्यक्ति है। आपने जो प्रश्न उठाया है वह काफी महत्वपूर्ण है।


एक बार फिर सदन का संचालन करेंगे विधायक श्री सिसोदिया
सभापति तालिका में मनोनित

भोपाल जनसारंगी।
 विधायक यशपालसिंह सिसोदिया को एक बार फिर से विधानसभा संचालन के लिए बनाई गई सभापति तालिका में मनोनित किया गया है। जिसके बाद वे आसंदी पर बैठकर सदन का संचालन करेेंगे। इस तालिका में वरिष्ठ विधायक लक्ष्मणसिंह, श्रीमती झूमा सौलंकी, रामलाल मालवीय, केदारनाथ शुक्ल, नीना वर्मा के साथ ही मंदसौर विधायक यशपालसिंह सिसोदिया को सम्मिलित किया गया है। उल्लेखनिय है कि सदन के संचालन के लिए विधानसभा अध्यक्ष वरिष्ठ विधायकों को सभापति तालिका में सम्मिलित करते है। जिसमें पहले भी विधायक सिसोदिया को सम्मिलित किया गया था और एक बार फिर से उन्हें सदन की कार्रवाहीं संचालन करने के लिए मनोनित किया गया है।

Chania