Monday, May 17th, 2021 Login Here
कोरोना के गंभीर रोगियों का उपचार सर्वसुविधायुक्त बड़े अस्पतालों में होना जरूरी पुलिस और डाक्टर की पकड़ में कोरोना से सुरक्षित आम आदमी लेकिन लापरवाह लोग बन रहे मुश्किल मंदसौर के मनोज ने कर दिया 200 रूपऐ में आॅक्सी फ्लो मीटर का निर्माण वायरल विडियों ने मंदसौर की दादी को बना दिया स्टाॅर मंदसौर जिला चिकित्सालय में अक्षय तृतीया से सीटी स्कैन मशीन से जांच होना हुई प्रारंभ वित्त मंत्री श्री देवड़ा के निर्देश पर गृह मंत्रालय ने मल्हारगढ़ ब्लॉक कोविड-19 आपदा प्रबंधक मैनेजमेंट कमेटी का गठन कलेक्टर द्वारा किया गया *शामगढ़ में 85 वर्ष के बूढे व्यक्ति का घर से मृत अवस्था मे मिला शव* खुशियों की दास्तां /मल्हारगढ़ कोविड केयर सेंटर से आज 3 व्यक्ति स्वस्थ होकर घर गए प्रशासन ने मीटिंग बुलाकर ईद घर पर ही मनाने हेतु समझाइश दी । अपने अपने मोहल्ले मैं सख्ती से कर्फ्यू का पालन करवाना और दवाई वितरण करवाना हम सबकी जवाबदेही है: श्री पँवार *जिले में रक्त स्त्रोतम संस्थान द्वारा कराया गया पहला प्लाज्मा डोनेशन जनसारंगी --प्रसंगवश./ सर्वसमावेशी समाज के संस्थापक भगवान परशुराम. दो लाख खर्च होने के बाद भी नहीं बनी खाद, पिट बन गऐ डस्टबिन हॉटस्पॉट में बेखौफ चल रहीं सब्जी मंडी, लोगों की जमा हो रहीं भीड़ महामारी से निपटने आर्थिक सहयोग में आगे आ रहे नागरिक

पुलवामा आतंकी हमले के बाद उत्तरप्रदेश में बड़ी आतंकी साजिश का पर्दाफाश हुआ है। यूपी एटीएस ने बड़ी कामयाबी हासिल करते हुए दो आतंकियों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए आतंकियों के नाम शहनवाज अहमद और आकिब मलिक है। दोनों का संबंध जैश-ए-मोहम्मद से बतााय गया है।  एटीएस की टीम ने तड़के सहारनपुर के देवबंद से इन आतंकियों को पकड़ा है। शहनवाज अहमद जम्मू के कुलगाम का रहने वाला है। वहीं आकिब पुलवामा का है। इस्लामिक स्टडी के बड़े सेंटर के रूप में विख्यात सहारनपुर के देवबंद में यूपी एटीएस के इस छापा से खलबली मची है।
माना जा रहा है कि जम्मू-कश्मीर के पुलवामा आतंकी हमले में शाहनवाज का हाथ हो सकता है। उत्तर प्रदेश के डीजीपी ओपी सिंह ने इस बारे में विस्तृत जानकारी दी।  उत्तर प्रदेश एटीएस ने देवबंद में आज तड़के छापा मारकर संदिग्धों से पड़ताल की है। इसमें से एक संदिग्ध शाहजवाज को लखनऊ लाया गया है जबकि तीन से सहारनपुर में पूछताछ चल रही है। देवबंद से कश्मीर के साथ ओडिशा के कुछ छात्रों को हिरासत में लिया गया।
एटीएस ने गुरुवार देर रात देवबंद के मोहल्ला खानकाह के निकट नाज मंजिल में छापेमारी की। बताया जाता है कि यहां से दुकानदार सहित दो कश्मीरी छात्र व पांच ओडिशा के छात्रो को हिरासत में लिया था जिनमें शहनवाज शामिल था। बताया जा रहा है कि शहनवाज जैश ए मोहम्मद के इशारे पर काम करता था।
एटीएस ने कल देर रात से देवबंद में छापा मारने का अभियान शुरू किया था। यहां एटीएस ने मोहल्ला खानकाह के निकट नाज मंजिल में छापेमारी कर एक दुकानदार सहित दो कश्मीरी छात्र व पांच ओडिशा के छात्रों को हिरासत में लिया। सहारनपुर पुलिस को इस बड़ी छापामारी की भनक तक नहीं लगी। एटीएस सभी को अपने साथ गुप्त स्थान पर ले गई है। इनमें से शाहनवाज को लखनऊ लाया गया है।
 शाहनवाज जम्मू-कश्मीर में जैश-ए-मोहम्मद के इशारे पर काम करता था। शाहनवाज के साथ हिरासत में लिए गए दोनों कश्मीरियों को पुलवामा आतंकी हमले की पूरी जानकारी थी। उनके मोबाइल से जैश ए मोहम्मद सहित तमाम आतंकियों की वीडियो बरामद किया गया है। आतंकी हमले से जुड़ी जानकारियां भी एटीएस को मिलीं। शाहनवाज जैश-ए-मोहम्मद के इशारे पर युवाओं को आतंकियों की टीम में भर्ती कराता था।
एटीएस ने सुबह की गई कार्रवाई में 11 कश्मीरी के साथ उड़ीसा के कुछ छात्रों को हिरासत में लिया था, जिनमें से शाहनवाज समेत एक अन्य छात्र को गिरफ्तार कर लिया गया। बाकी छात्रों से भी आगे की पूछताछ की जा रही है। माना जा रहा है कि पूछताछ में शाहनवाज अहम खुलासे कर सकता है, जो पुलवामा आतंकी हमले की जांच कर रही एजेंसियों के भी काम आ सकते हैं। सहारनपुर के देनबंद से यह पहली दफा किसी आतंकी को गिरफ्तार नहीं किया गया। इससे पहले भी कई आतंकवादियों को यहां से दबोचा है। जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में पिछले हफ्ते 14 फरवरी को हुए आत्मघाती हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हुए थे।

Chania