Monday, May 17th, 2021 Login Here
कोरोना के गंभीर रोगियों का उपचार सर्वसुविधायुक्त बड़े अस्पतालों में होना जरूरी पुलिस और डाक्टर की पकड़ में कोरोना से सुरक्षित आम आदमी लेकिन लापरवाह लोग बन रहे मुश्किल मंदसौर के मनोज ने कर दिया 200 रूपऐ में आॅक्सी फ्लो मीटर का निर्माण वायरल विडियों ने मंदसौर की दादी को बना दिया स्टाॅर मंदसौर जिला चिकित्सालय में अक्षय तृतीया से सीटी स्कैन मशीन से जांच होना हुई प्रारंभ वित्त मंत्री श्री देवड़ा के निर्देश पर गृह मंत्रालय ने मल्हारगढ़ ब्लॉक कोविड-19 आपदा प्रबंधक मैनेजमेंट कमेटी का गठन कलेक्टर द्वारा किया गया *शामगढ़ में 85 वर्ष के बूढे व्यक्ति का घर से मृत अवस्था मे मिला शव* खुशियों की दास्तां /मल्हारगढ़ कोविड केयर सेंटर से आज 3 व्यक्ति स्वस्थ होकर घर गए प्रशासन ने मीटिंग बुलाकर ईद घर पर ही मनाने हेतु समझाइश दी । अपने अपने मोहल्ले मैं सख्ती से कर्फ्यू का पालन करवाना और दवाई वितरण करवाना हम सबकी जवाबदेही है: श्री पँवार *जिले में रक्त स्त्रोतम संस्थान द्वारा कराया गया पहला प्लाज्मा डोनेशन जनसारंगी --प्रसंगवश./ सर्वसमावेशी समाज के संस्थापक भगवान परशुराम. दो लाख खर्च होने के बाद भी नहीं बनी खाद, पिट बन गऐ डस्टबिन हॉटस्पॉट में बेखौफ चल रहीं सब्जी मंडी, लोगों की जमा हो रहीं भीड़ महामारी से निपटने आर्थिक सहयोग में आगे आ रहे नागरिक

पुलिस की कार्यशैली पर खड़े किए सवाल, कहा- पुलिस 11 दिन तक क्या करती रही
अपने जुड़वां बेटों को गंवाने वाले पीड़ित पिता ब्रजेश रावत ने सतना में प्रेस कॉन्फ्रेंस करके प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से न्याय की गुहार लगाई है। उन्होंने पीएम मोदी से मामले की उच्च स्तरीय जांच सीबीआई से कराने की मांग की है। उन्होंने कहा कि इस हत्याकांड का अब तक पूरी तरह से खुलासा नहीं हुआ है।
पुलिस और प्रशासन पर गंभीर आरोप लगाए हैं। उन्होंने कहा कि 11 दिन तक पुलिस क्या करती रही। पुलिस ने मामले में कोई तत्परता नहीं दिखाई, बच्चे को आरोपी प्रबंधक के घर में रखे रहे। उन्होंने दोषियों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई करने की मांग की है।
उन्होंने कहा कि आरोपितों के खिलाफ भी अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है। घटना में कई बड़े लोगों को हाथ है। जिसकी उच्च स्तरीय जांच होनी चाहिए। पीड़ित पिता ने मध्य प्रदेश पुलिस पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि, उन्होंने आरोपितों को संरक्षण दिया। आरोपी के पिता और सद्गुरु ट्रस्ट में शिक्षक को पुलिस पकड़कर लाई, लेकिन उसे बिना पूछताछ किए ही छोड़ दिया। उन्होंने कहा कि मुझे न्याय चाहिए, चाहे वह जहां मिले।
इधर, इस बीच सदगुरु ट्रस्ट ने अपरहरण और हत्याकांड के मास्टरमाइंड पद्म शुक्ला के पिता रामशरण शुक्ला को संस्कृत महाविद्यालय से निष्कासित कर दिया है। संस्कृत महाविद्यालय की तरफ से इस संबंध में आदेश जारी कर दिया है। इसमें स्कूल प्रबंधन ने आरोपी के पिता रामशरण शुक्ल को निष्कासित किए जाने की बात कही गई है। इधर, इस हत्याकांड में शामिल महात्मा गांधी ग्रामोदय विश्वविद्यालय में पढ़ाई करने वाले पांच आरोपी छात्रों को यूनवर्सिटी प्रबंधन ने निष्कासित कर दिया है।
बीच चौराहे पर गोली मार देनी चाहिए
जुड़वां बच्चों के अपहरण और उसके बाद हत्या के विरोध में सतना से लेकर भोपाल और इंदौर तक विरोध प्रदर्शन किए गए। भोपाल में भाजयुमो ने विरोध मार्च निकाला और पुलिस मुख्यालय में जाकर ज्ञापन सौंपा। जुलूस में शामिल रहे हुजूर विधायक रामेश्वर शर्मा ने कहा कि सतना के दोषियों पर कड़ी कार्रवाई की जाए। उन्हें बीच चौराहे पर गोली मार देनी चाहिए।
जुड़वां भाईयों का 12 फरवरी को अपहरण हुआ
12 फरवरी को चित्रकूट स्थित सदगुरु पब्लिक स्कूल की बस से तेल कारोबारी ब्रजेश रावत के जुड़वां बेटों का अपहरण हुआ था। अपहरकर्ताओं ने बीस लाख की फिरौती लेने के बाद पकड़े जाने के डर से बच्चों के हाथों में जंजीर और पत्थर से बांधकर यमुना नदी में फेंक दिया था। पुलिस ने शनिवार देर रात एक बजे प्रियांश और श्रेयांश (5) के बंधे शव उत्तर प्रदेश के बांदा जिले के बबेरू के पास नदी से बरामद किए थे। इस मामले में पुलिस ने 6 आरोपितों को गिरफ्तार किया है। इसमें से पांच महात्मा गांधी चित्रकूट ग्रामोदय विश्वविद्यालय के छात्र हैं। एक आरोपित शिक्षक है, जो रावत परिवार के पड़ोस में ट्यूशन पढ़ाता है।
Chania