Monday, May 17th, 2021 Login Here
कोरोना के गंभीर रोगियों का उपचार सर्वसुविधायुक्त बड़े अस्पतालों में होना जरूरी पुलिस और डाक्टर की पकड़ में कोरोना से सुरक्षित आम आदमी लेकिन लापरवाह लोग बन रहे मुश्किल मंदसौर के मनोज ने कर दिया 200 रूपऐ में आॅक्सी फ्लो मीटर का निर्माण वायरल विडियों ने मंदसौर की दादी को बना दिया स्टाॅर मंदसौर जिला चिकित्सालय में अक्षय तृतीया से सीटी स्कैन मशीन से जांच होना हुई प्रारंभ वित्त मंत्री श्री देवड़ा के निर्देश पर गृह मंत्रालय ने मल्हारगढ़ ब्लॉक कोविड-19 आपदा प्रबंधक मैनेजमेंट कमेटी का गठन कलेक्टर द्वारा किया गया *शामगढ़ में 85 वर्ष के बूढे व्यक्ति का घर से मृत अवस्था मे मिला शव* खुशियों की दास्तां /मल्हारगढ़ कोविड केयर सेंटर से आज 3 व्यक्ति स्वस्थ होकर घर गए प्रशासन ने मीटिंग बुलाकर ईद घर पर ही मनाने हेतु समझाइश दी । अपने अपने मोहल्ले मैं सख्ती से कर्फ्यू का पालन करवाना और दवाई वितरण करवाना हम सबकी जवाबदेही है: श्री पँवार *जिले में रक्त स्त्रोतम संस्थान द्वारा कराया गया पहला प्लाज्मा डोनेशन जनसारंगी --प्रसंगवश./ सर्वसमावेशी समाज के संस्थापक भगवान परशुराम. दो लाख खर्च होने के बाद भी नहीं बनी खाद, पिट बन गऐ डस्टबिन हॉटस्पॉट में बेखौफ चल रहीं सब्जी मंडी, लोगों की जमा हो रहीं भीड़ महामारी से निपटने आर्थिक सहयोग में आगे आ रहे नागरिक
    2018-19 में रिलायंस इंडस्ट्रीज का रेवेन्यू 6.23 लाख करोड़ रुपए, आईओसी का 6.17 लाख करोड़
मुंबई. रिलायंस इंडस्ट्रीज देश की सबसे ज्यादा सालाना रेवेन्यू वाली कंपनी बन गई है। उसने इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन (आईओसी) को पीछे छोड़ा है। 31 मार्च को खत्म वित्त वर्ष (2018-19) में रिलायंस का रेवेन्यू 6.23 लाख करोड़ रुपए जबकि आईओसी का 6.17 लाख करोड़ रुपए रहा।
रिलायंस का सालाना मुनाफा 13% बढ़ा, आईओसी का 24% घटा
    2018-19 में रिलायंस देश की सबसे ज्यादा मुनाफे वाली कंपनी भी रही। पूरे साल में रिलायंस का मुनाफा (39,588 करोड़ रुपए) आईओसी के मुनाफे (17,274 करोड़ रुपए) की तुलना में दोगुने से भी ज्यादा रहा। 2017-18 में रिलायंस को 34,988 करोड़ रुपए का जबकि आईओसी को 22,626 करोड़ का प्रॉफिट हुआ था। आईओसी का मुनाफा रिफायनिंग, पेट्रोकेमिकल्स और गैस कारोबार पर निर्भर है।
    10 साल पहले रिलायंस का आकार आईओसी के मुकाबले आधा था लेकिन पिछले कुछ सालों में रिलायंस ने टेलीकॉम, रिटेल और डिजिटल सर्विसेज बिजनेस में तेजी से विस्तार किया।
    मार्केट कैप में भी रिलायंस देश की नंबर-1 कंपनी
    रिलायंस रेवेन्यू, प्रॉफिट और मार्केट कैपिटलाइजेशन में देश की सबसे बड़ी कंपनी बन गई है। रिलायंस का मौजूदा मार्केट कैप 8.49 लाख करोड़ रुपए है। मार्केट कैप में टीसीएस दूसरे नंबर पर है। उसका वैल्यूएशन 7.91 लाख करोड़ रुपए है।
    रिलायंस के पास 1.33 लाख करोड़ रुपए का कैश रिजर्व है लेकिन उसका कर्ज भी सबसे ज्यादा 2.87 लाख करोड़ रुपए है। दूसरी ओर आईओसी का कुल कर्ज 92,700 करोड़ रुपए है।
    आईओसी मुनाफे में ओएनजीसी से पिछड़ सकती है
    आईओसी वित्त वर्ष 2017-18 तक देश की सबसे ज्यादा सालाना मुनाफे वाली (सरकारी) कंपनी थी। लेकिन इस बार ओएनजीसी से पिछड़ सकती है। ओएनजीसी ने अभी तक 2018-19 के पूरे नतीजे घोषित नहीं किए हैं लेकिन दिसंबर तिमाही तक उसे 22,671 करोड़ रुपए का मुनाफा हो चुका है।

Chania