Monday, February 26th, 2024 Login Here
गरीब के जीवन से कष्टों को मिटाना प्रदेश सरकार का लक्ष्य-डॉ यादव चिकित्सक पर हुई कार्रवाहीं का डाक्टरों व सिंधी समाज ने किया विरोध किरायेदारों से अनजान पुलिस, मकान मालिक भी लापरवाह नवनिर्वाचित राज्यसभा सांसद बंशीलाल जी गुर्जर का मंदसोर शहर में होगा भव्य स्वागत ट्रक में लहसुन के नीचे छुपाकर रख 1031 किलो डोडाचूरा जब्त, ड्राइवर गिरफ्तार मुख्‍यमंत्री डॉ.मोहन यादव आज नीमच में 752 करोड से अधिक के कार्यो का लोकार्पण एवं भूमिपूजन करेंगे 36 घंटे में पुलिस ने किया अन्तरॉज्जीय लूटेरों को गिरफ्तार मदिरा दुकानों के नवीनीकरण आवेदन 22 फरवरी तक करें पांच साल के इंतजार के बाद आज से मंदसौर में प्रारंभ होगा पासपोर्ट कार्यालय मध्यप्रदेश से राज्यसभा के पांचों प्रत्याशी निर्विरोध निर्वाचित; 4 सीट बीजेपी, एक कांग्रेस के खाते में 133 किमी लंबे मार्ग में 14 किमी लंबा दूसरा रेलवे ट्रैक तैयार साँप भगाने के लिए टैंक में पेट्रोल डाला, तीली जलाते ही धमाका हुआ, दम्पत्ति झुलसे नदियॉ को छलनी करने का खेल चल रहा,माफियाओं पर नही लग पा रही नकेल सिंगिग स्टार बनने के चक्कर मे लोग हो रहे शिकार संसद रत्न पुरस्कार से सम्मानित होने वाले सांसदों को राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति ने बधाई दी

एसडीएम ने टीम के साथ पहुंच मारा छापा, पहले क्लिनिक नही होने की भेजी जा चुकी है रिपोर्ट
सुवासरा निप्र। जिलें के सुवासरा क्षेत्र में स्थित स्वास्थ्य केन्द्र पर पदस्थ डॉक्टर आर एस जोहरी स्वास्थ्य केन्द्र पर सेवा देने के बजाय निजी क्लिनिक घर के नीचे ही संचालित कर नोट छापने में लगे हुए थे यहीं नही डॉक्टर के द्वारा स्वास्थ्य केन्द्र के कर्मचारियों से भी निजी क्लिनिक पर सेवाएं ली जा रही थी । सरकारी डॉक्टर के द्वारा निजी क्लिनिक चलाएं जाने को लेकर विधायक हरदीपसिंह डंग के द्वारा मंगलवार को विधानसभा में सवाल उठाएं जिसके बाद आनन-फानन में विधानसभा अध्यक्ष के द्वारा मंदसौर कलेक्टर को कार्यवाही कर दो घंटे के भीतर जांच रिपोर्ट देने को कहा। आदेश मिलने के बाद आनन-फानन में एसडीएम के नेतृत्व में एक टीम डॉक्टर जोहरी के क्लिनिक पर भेजी गई लेकिन क्लिनिक पर ताला लगा हुआ मिला । काफी मशक्कत के बाद ताला खुलवाकर एसडीएम ने कुछ स्वास्थ्य सेवा से जुड़े  रिकार्ड एवं स्टुमेन्ट जप्त किए है । खास बात यह है कि पूर्व में भी विधायक डंग के द्वारा स्वास्थ्य मंत्री से डॉ. जोहरी को लेकर शिकायत की थी जिसके बाद मंत्री के निर्देशों पर जिम्मेदार अधिकारियों ने डॉ. जोहरी का निजी क्लिनिक होने से ही इनकार करते हुए एक रिपोर्ट बनाकर भेजे जाने की जानकारी है । ताजा मामलें की बात करें तो विधायक हरदीपसिंह डंग के द्वारा डॉ. जोहरी का मामला प्रमुखता से उठाते हुए विधानसभा में कहा कि डॉ. जोहरी सरकारी डॉक्टर होने के बावजुद स्वास्थ्य केन्द्र पर जाते ही नही है और उनके द्वारा सरकारी स्टुमेन्ट खराब कर दिए गए है और उन्ही कार्या के लिए जैसे कि एक्सरे, सोनोग्राफी आदि स्टुमेन्ट अपने निजी क्लिनिक पर लगाकर निजी सेवाएं दी जा रही है । यहीं नही डॉक्टर सरकारी नर्स एवं अन्य कर्मचारियों से भी अपने निजी क्लिनिक पर सेवाएं लेते है और विरोध करने पर उन्हें नौकरी से निकालने की धमकी तक दी जाती है । जानकारी के अनुसार डॉ. जोहरी का यह जोहर कोई ताजा नही है वह लगभग तीन साल से अधिक समय से यह कारनामा करते आ रहे है और चर्चा के अनुसार डॉ. जोहरी को प्रशासन के नुमाईन्दों का भी सरंक्षण मिलता रहा है । जानकारी के अनुसार जब मंगलवार को टीम कार्यवाही के लिए पहुंची तो पहले तो डॉ. जोहरी के परिवार ने घर का दरवाजा ही नही खोला और बाद में काफी मशक्कत करने के बाद डॉ. जोहरी की पत्नि ने दरवाजा खोला लेकिन बताया जाता हे कि कार्यवाही के दौरान मिडिया को भी प्रशासन ने दूर रखने का प्रयास किया । जानकारी के अनुसार कार्यवाही के दौरान टीम ने रजिस्टर, पर्चियां, मेडिसीन, स्टुमेन्ट  आदि जप्त किए है । बताया जाता है कि डॉ. जोहरी के द्वारा नर्सिंग होम के अंदर ही एक मेडिकल का संचालन भी किया जा रहा था । इस मामलें में एसडीएम रोशनी पाटीदार से चर्चा करना चाही लेकिन उन्होने फोन ही अटेण्ड नही किया । वहीं सीएमएचओ के द्वारा भी चर्चा करने से इनकार कर दिया गया । एसडीओपी  ओपी शर्मा ने चर्चा में कहा कि वह तो सिर्फ सुरक्षा की दृष्टि से सूचना मिलने के बाद पहुंचे थे कार्यवाही को लेकर उनके पास कोई जानकारी नही है ।
इनका कहना
सरकारी डॉ. जोहरी के द्वारा निजी क्लिनिक का संचालन किया जा रहा था इसको लेकर उन्होने पूर्व में भी शिकायत की थी लेकिन अधिकारियों ने गलत रिपोर्ट पेश कर दी जिसमें कहा कि क्लिनिक चल ही नही रहा है, सुवासरा क्षेत्र में चल रहे डॉ. जोहरी के क्लिनिक को लेकर विधानसभा में प्रश्न उठाया गया जिसके बाद कार्यवाही के आदेश विधानसभा अध्यक्ष के द्वारा दिए गए । जांच रिपोर्ट क्या आती है इसके बाद आगे कदम उठाया जाएगा । पूर्व में भेजी गई रिपोर्ट बनाने वाले अधिकारी पर भी कार्यवाही की मांग की जाएगी ।
हरदीपसिंह डंग, विधायक  सुवासरा

Chania