Sunday, February 25th, 2024 Login Here
गरीब के जीवन से कष्टों को मिटाना प्रदेश सरकार का लक्ष्य-डॉ यादव चिकित्सक पर हुई कार्रवाहीं का डाक्टरों व सिंधी समाज ने किया विरोध किरायेदारों से अनजान पुलिस, मकान मालिक भी लापरवाह नवनिर्वाचित राज्यसभा सांसद बंशीलाल जी गुर्जर का मंदसोर शहर में होगा भव्य स्वागत ट्रक में लहसुन के नीचे छुपाकर रख 1031 किलो डोडाचूरा जब्त, ड्राइवर गिरफ्तार मुख्‍यमंत्री डॉ.मोहन यादव आज नीमच में 752 करोड से अधिक के कार्यो का लोकार्पण एवं भूमिपूजन करेंगे 36 घंटे में पुलिस ने किया अन्तरॉज्जीय लूटेरों को गिरफ्तार मदिरा दुकानों के नवीनीकरण आवेदन 22 फरवरी तक करें पांच साल के इंतजार के बाद आज से मंदसौर में प्रारंभ होगा पासपोर्ट कार्यालय मध्यप्रदेश से राज्यसभा के पांचों प्रत्याशी निर्विरोध निर्वाचित; 4 सीट बीजेपी, एक कांग्रेस के खाते में 133 किमी लंबे मार्ग में 14 किमी लंबा दूसरा रेलवे ट्रैक तैयार साँप भगाने के लिए टैंक में पेट्रोल डाला, तीली जलाते ही धमाका हुआ, दम्पत्ति झुलसे नदियॉ को छलनी करने का खेल चल रहा,माफियाओं पर नही लग पा रही नकेल सिंगिग स्टार बनने के चक्कर मे लोग हो रहे शिकार संसद रत्न पुरस्कार से सम्मानित होने वाले सांसदों को राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति ने बधाई दी
पूरे शहर के कई इलाकों में पानी भराया,प्रशासन चला रहा रेस्क्यू
 शुक्रवार शाम से ही जारी तेज बारिश के चलते मंदसौर जिले के कई हिस्सों में बाढ़ जैसे हालात बन गए है। चंबल, शिवना, तुम्बड़, रेतम, सोमली, अंजनी, रेवा सहित सभी नदी-नाले उफान पर हैं। पानी की तेज आवक के चलते गांधीसागर बांध के सभी 19 गेट खोल दिए गए है। मंदसौर में शिवना मैया अपने रौद्र रूप में है काला भाटा डैम के सारे गेट खोल दिए गए हैं शिवना नदी भगवान पशुपतिनाथ का मस्तकाभिषेक कर पूरे वेग से बह रही है पूरे शहर में पानी से बेहाल हो रही हो रहे हैं शहर के प्रमुख इलाकों धानमंडी शुक्ला चौक नयापुरा बस स्टैंड दया मंदिर रोड अभिनंदन नगर सहित कई क्षेत्रों में 22 33 फीट तक पानी भरा है कई ग्रामीण क्षेत्रों का संपर्क मुख्यालय से टूट गया है चारों तरफ पानी पानी होने से हाल बेहाल हो रहे हैं आफत की बारिश लोगों पर जमकर बरस रही है।

  मंदसौर में लगातार हो रही बारिश के चलते हालात बेकाबू हो गए हैं. शिवना नदी उफान पर है, जिसके चलते शिवना नदी का पानी पशुपतिनाथ के मंदिर में छठी बार प्रवेश कर चुका है और भगवान पशुपतिनाथ के आठों मुख जलमग्न हो चुके हैं. नदी नालों के उफान के चलते ग्रामीण अंचल में कई घरों में पानी घुस चुका है, शहरी क्षेत्र में भी सड़कों पर पानी भरा हुआ है. यही हालात नदी किनारे बने दुकानों और मकानों के हैं, बढ़ते जल प्रवाह के चलते अधिकतर ग्रामीण अंचलों का जिला मुख्यालय से संपर्क टूट चुका है. कई गांवों में नदी नालों का पानी लोगों के घरों में घुस चुका है।

पशुपतिनाथ मंदिर के पास बनी दुकान का सिर्फ बोर्ड दिखाई दे रहा है, बाकि पूरा हिस्सा पानी में डूबा हुआ है. यही हालात नदी किनारे बने दुकानों और मकानों के हैं. बढ़ते जलस्तर के चलते अधिकतर ग्रामीण अंचलों का जिला मुख्यालय से संपर्क टूट चुका है।कई गांव में नदी नालों का पानी लोगों के घरों में घुस चुका है। चंबल नदी पर बने गांधी सागर बांध के समस्त गेट खोले जाने के बावजूद पानी का इनफ्लो ज्यादा होने से जलस्तर लगातार बढ़ रहा है, जिसके चलते प्रशासन ने अलर्ट जारी किया है और बैक वाटर के किनारे रहने वाले लोगों को अपना घर छोड़कर सुरक्षित स्थान पर जाने की एडवाइजरी जारी की है. 

कलेक्टर ने लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाने के दिए निर्देश

कलेक्टर मनोज पुष्प ने बताया कि गांधीसागर बांध के चीफ इंजीनियर से चर्चा की गई। चीफ इंजीनियर ने बताया कि गांधीसागर डेम का लेवल 1312 फ़ीट तक पहुंच गया है। मंदसौर जिले के साथ-साथ इंदौर, उज्जैन, प्रतापगढ़, रतलाम एवं आसपास की सभी जिलों में लगातार भारी वर्षा होने से गांधीसागर डेम के सभी गेट खोलने के पश्चात भी पानी का स्तर बढ़ रहा है। कम होने की वर्तमान में कोई संभावना नहीं दिख रही है। Initial Content was in this textarea
Chania