Sunday, March 3rd, 2024 Login Here
मंदसौर संसदीय क्षेत्र से सुधीर गुप्ता को मिला टिकीट सेवा कार्यो में उत्कृष्ट कार्य को लेकर रेडक्रॉस सोसायटी जिला शाखा मंदसौर को मिला अवार्ड बांछड़ा डेरों पर पुलिस की दबिश, भारी मात्रा में अवैध शराब जप्त प्रतिवेदन पेश नहीं करने पर नपा सीएमओं के खिलाफ पांच हजार का जमानती वारंट जारी सूदखोरों से परेशान होकर की आत्महत्या, पिता के मृत्युभोज के लिए लिया था पैसा मंत्री सारंग ने की वन-टू-वन चर्चा, कहा 6 लाख वोट से भाजपा को जिताने का संकल्प ले लोकसभा चुनाव - भाजपा के 155 उम्मीदवारों की सूची आज घोषित होने की संभावना स्वास्थ्य के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले 200 से अधिक प्रतिनिधि को राष्ट्रीय अवॉर्ड से सम्मानित किया भैरव घाटी पर सड़क हादसा, एक की दर्दनाक मौत दो कारों की आमने-सामने भिडन्त, कॉन्स्टेबल की मौत मानपुरा में ग्रामीण के घर, बाड़े व स्विफ्ट कार से 63 किलो से अधिक अफीम जब्त सुपर पॉवर बनने की दिशा में तीन सेमीकंडक्टर, 1.26 लाख करोड़ के प्लांट को सरकार की मंजूरी 8 महिने बाद खाटु श्याम बाबा के मंदिर में प्रवेश कर भक्तों ने किए दर्शन 15 मिनिट में एक लाख का साउंड सिस्टम चुराने वाला बदमाश सीसीटीवी से पकडाया प्रधानमंत्री ने किया वर्चुअल भूमिपूजन, मंदसौर में 99.14 करोड़ की लागत से 18 महीने में तैयार होगा औद्योगिक पार्क
पूरे शहर के कई इलाकों में पानी भराया,प्रशासन चला रहा रेस्क्यू
 शुक्रवार शाम से ही जारी तेज बारिश के चलते मंदसौर जिले के कई हिस्सों में बाढ़ जैसे हालात बन गए है। चंबल, शिवना, तुम्बड़, रेतम, सोमली, अंजनी, रेवा सहित सभी नदी-नाले उफान पर हैं। पानी की तेज आवक के चलते गांधीसागर बांध के सभी 19 गेट खोल दिए गए है। मंदसौर में शिवना मैया अपने रौद्र रूप में है काला भाटा डैम के सारे गेट खोल दिए गए हैं शिवना नदी भगवान पशुपतिनाथ का मस्तकाभिषेक कर पूरे वेग से बह रही है पूरे शहर में पानी से बेहाल हो रही हो रहे हैं शहर के प्रमुख इलाकों धानमंडी शुक्ला चौक नयापुरा बस स्टैंड दया मंदिर रोड अभिनंदन नगर सहित कई क्षेत्रों में 22 33 फीट तक पानी भरा है कई ग्रामीण क्षेत्रों का संपर्क मुख्यालय से टूट गया है चारों तरफ पानी पानी होने से हाल बेहाल हो रहे हैं आफत की बारिश लोगों पर जमकर बरस रही है।

  मंदसौर में लगातार हो रही बारिश के चलते हालात बेकाबू हो गए हैं. शिवना नदी उफान पर है, जिसके चलते शिवना नदी का पानी पशुपतिनाथ के मंदिर में छठी बार प्रवेश कर चुका है और भगवान पशुपतिनाथ के आठों मुख जलमग्न हो चुके हैं. नदी नालों के उफान के चलते ग्रामीण अंचल में कई घरों में पानी घुस चुका है, शहरी क्षेत्र में भी सड़कों पर पानी भरा हुआ है. यही हालात नदी किनारे बने दुकानों और मकानों के हैं, बढ़ते जल प्रवाह के चलते अधिकतर ग्रामीण अंचलों का जिला मुख्यालय से संपर्क टूट चुका है. कई गांवों में नदी नालों का पानी लोगों के घरों में घुस चुका है।

पशुपतिनाथ मंदिर के पास बनी दुकान का सिर्फ बोर्ड दिखाई दे रहा है, बाकि पूरा हिस्सा पानी में डूबा हुआ है. यही हालात नदी किनारे बने दुकानों और मकानों के हैं. बढ़ते जलस्तर के चलते अधिकतर ग्रामीण अंचलों का जिला मुख्यालय से संपर्क टूट चुका है।कई गांव में नदी नालों का पानी लोगों के घरों में घुस चुका है। चंबल नदी पर बने गांधी सागर बांध के समस्त गेट खोले जाने के बावजूद पानी का इनफ्लो ज्यादा होने से जलस्तर लगातार बढ़ रहा है, जिसके चलते प्रशासन ने अलर्ट जारी किया है और बैक वाटर के किनारे रहने वाले लोगों को अपना घर छोड़कर सुरक्षित स्थान पर जाने की एडवाइजरी जारी की है. 

कलेक्टर ने लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाने के दिए निर्देश

कलेक्टर मनोज पुष्प ने बताया कि गांधीसागर बांध के चीफ इंजीनियर से चर्चा की गई। चीफ इंजीनियर ने बताया कि गांधीसागर डेम का लेवल 1312 फ़ीट तक पहुंच गया है। मंदसौर जिले के साथ-साथ इंदौर, उज्जैन, प्रतापगढ़, रतलाम एवं आसपास की सभी जिलों में लगातार भारी वर्षा होने से गांधीसागर डेम के सभी गेट खोलने के पश्चात भी पानी का स्तर बढ़ रहा है। कम होने की वर्तमान में कोई संभावना नहीं दिख रही है। Initial Content was in this textarea
Chania