Sunday, February 25th, 2024 Login Here
गरीब के जीवन से कष्टों को मिटाना प्रदेश सरकार का लक्ष्य-डॉ यादव चिकित्सक पर हुई कार्रवाहीं का डाक्टरों व सिंधी समाज ने किया विरोध किरायेदारों से अनजान पुलिस, मकान मालिक भी लापरवाह नवनिर्वाचित राज्यसभा सांसद बंशीलाल जी गुर्जर का मंदसोर शहर में होगा भव्य स्वागत ट्रक में लहसुन के नीचे छुपाकर रख 1031 किलो डोडाचूरा जब्त, ड्राइवर गिरफ्तार मुख्‍यमंत्री डॉ.मोहन यादव आज नीमच में 752 करोड से अधिक के कार्यो का लोकार्पण एवं भूमिपूजन करेंगे 36 घंटे में पुलिस ने किया अन्तरॉज्जीय लूटेरों को गिरफ्तार मदिरा दुकानों के नवीनीकरण आवेदन 22 फरवरी तक करें पांच साल के इंतजार के बाद आज से मंदसौर में प्रारंभ होगा पासपोर्ट कार्यालय मध्यप्रदेश से राज्यसभा के पांचों प्रत्याशी निर्विरोध निर्वाचित; 4 सीट बीजेपी, एक कांग्रेस के खाते में 133 किमी लंबे मार्ग में 14 किमी लंबा दूसरा रेलवे ट्रैक तैयार साँप भगाने के लिए टैंक में पेट्रोल डाला, तीली जलाते ही धमाका हुआ, दम्पत्ति झुलसे नदियॉ को छलनी करने का खेल चल रहा,माफियाओं पर नही लग पा रही नकेल सिंगिग स्टार बनने के चक्कर मे लोग हो रहे शिकार संसद रत्न पुरस्कार से सम्मानित होने वाले सांसदों को राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति ने बधाई दी

 घर की छत, बालकनी और दरवाजे पर खड़े होकर की ध्वनि
 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आह्वान और पूरे राष्ट्र के साथ ही मंदसौर जिले की जनता भी अपने घर की छतों, बालकनी और दरवाजों पर खड़े होकर एक साथ करतल ध्वनि के साथ कोरोना के योद्धाओं को सलामी दी।
 पूरे शहर में 5 बजते ही एक जुनून सा छा गया। हर तरफ कहीं पटाके, कही थाली तो कहीं घंटे- घड़ियाल की आवाजें गूंज रही थी। हर शहरवासी अपने घर की छत पर खड़ा था, कोई घर की बालकनी पर खड़ा था, कोई घर के दरवाजे पर खड़ा होकर कोरोना के योद्धाओं को सलामी दे रहा था और साथ में दे रहा था एक संदेश कि किसी भी आपदा से लड़ने के लिए पूरा राष्ट्र एकजुट है।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक दिन के जनता कर्फ्यू के साथ ही पूरे देशवासियों से आह्वान किया था कोरोना से लड़ने के लिए अपनी जान की परवाह किए बिना चिकित्सा कर्मी, पुलिस कर्मी, सफाई कर्मी और मीडिया कर्मी निरंतर काम कर रहे हैं। देश की जनता 22 मार्च को शाम 5 बजे 5 मिनट के लिए अपने घर की छत पर बालकनी में या फिर दरवाजे के बाहर खड़े होकर करतल ध्वनि करें और इन योद्धाओं का आभार व्यक्त करें ।इस आह्वान के चलते मंदसौर शहर और पूरे जिले भर में नागरिकों ने पूरे उत्साह के साथ कोरोना के योद्धाओं का आभार व्यक्त किया।

वैज्ञानिक और आध्यात्मिक कारण भी था प्रधानमंत्री की अपील के पीछे

कहा जा रहा है प्रधानमंत्री की अपील के पीछे वैज्ञानिक और आध्यात्मिक कारण भी था। कहा जाता है काँसा धातु व पीतल धातु से उत्पन्न ध्वनि सूक्ष्म ध्वनि तरंगे इलेक्ट्रो मैग्नेटिक ऊर्जा पैदा करती हैं जिनका मान गीगा हर्ट्ज GHZ व टेरा हर्ट्ज THZ तक पहुँचता है,जब हम किसी काँसे के बर्तन को निर्धारित चोट से कम व ज्यादा जोर से बजाते हैं तो ध्वनि तरंगे कम से अधिकतम मोड में प्रवेश करती हैं, जो एक EM या इलेक्ट्रो मेगेनेटिक ऊर्जा क्षेत्र पैदा करती हैं, जिस क्षेत्र के सम्पर्क में आने से वायरस या विषाणु कंपन महसूस करता है, कोरोना वायरस की बाहरी मेम्ब्रेन बहुत ही कमजोर है जिससे इसे द्विपक्षीय ध्रुवीय क्षेत्र यानी dipole में आते ही वायरस का न्यूक्लियस टूटने लगता है तथा ये निष्क्रियता की तरफ बढ़ जाती है।
माइक्रोवेव थ्रेशहोल्ड एनर्जी कंपन जो काँसे के बर्तन को कम से तीव्रता की तरफ बजाते हुए पैदा की जाती है, इसी प्रकार शंख ध्वनि भी तीव्र थ्रेशहोल्ड पर बजा कर उच्च माइक्रोवेव तरंगे पैदा करती हैं जो कंपन करके वायरस के आउटर सेल यानी बाहरी कवर को माइक्रोवेव इलेक्ट्रो मेगनेटिक किरणों से थरथराहट से तोड़ देती है। इसलिये प्रधानमंत्री का यह आव्हान कोरोना से लड़ने में महत्त्वपूर्ण साबित हो सकता हैं।
Chania