Monday, February 26th, 2024 Login Here
गरीब के जीवन से कष्टों को मिटाना प्रदेश सरकार का लक्ष्य-डॉ यादव चिकित्सक पर हुई कार्रवाहीं का डाक्टरों व सिंधी समाज ने किया विरोध किरायेदारों से अनजान पुलिस, मकान मालिक भी लापरवाह नवनिर्वाचित राज्यसभा सांसद बंशीलाल जी गुर्जर का मंदसोर शहर में होगा भव्य स्वागत ट्रक में लहसुन के नीचे छुपाकर रख 1031 किलो डोडाचूरा जब्त, ड्राइवर गिरफ्तार मुख्‍यमंत्री डॉ.मोहन यादव आज नीमच में 752 करोड से अधिक के कार्यो का लोकार्पण एवं भूमिपूजन करेंगे 36 घंटे में पुलिस ने किया अन्तरॉज्जीय लूटेरों को गिरफ्तार मदिरा दुकानों के नवीनीकरण आवेदन 22 फरवरी तक करें पांच साल के इंतजार के बाद आज से मंदसौर में प्रारंभ होगा पासपोर्ट कार्यालय मध्यप्रदेश से राज्यसभा के पांचों प्रत्याशी निर्विरोध निर्वाचित; 4 सीट बीजेपी, एक कांग्रेस के खाते में 133 किमी लंबे मार्ग में 14 किमी लंबा दूसरा रेलवे ट्रैक तैयार साँप भगाने के लिए टैंक में पेट्रोल डाला, तीली जलाते ही धमाका हुआ, दम्पत्ति झुलसे नदियॉ को छलनी करने का खेल चल रहा,माफियाओं पर नही लग पा रही नकेल सिंगिग स्टार बनने के चक्कर मे लोग हो रहे शिकार संसद रत्न पुरस्कार से सम्मानित होने वाले सांसदों को राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति ने बधाई दी

बिमारी से पीढ़ित व्यक्ति का तत्काल बनवाया आयुष्मान कार्ड
मंदसौर जनसारंगी।

दृढ़ इच्छाशक्ति और आम आदमी की मदद का जज्बा हो तो मुश्किल राह भी आसान हो जाती है। ऐसा ही एक मामला उस वक्त सामने आया जब पैर की गंभीर बिमारी से परेशान एक व्यक्ति पिछले दो महिने से सरकार की महती योजना आयुष्मान कार्ड बनवाने के लिए भटक रहा था उसके पास बीपीएल का कार्ड था, समग्र आईडी थी और आधार कार्ड भी था बावजूद इसके इस काम को देखने वाली अफसरशाही  उसे दो महिने से भी ज्यादा समय से टरका रहीं थी लेकिन शुक्रवार को व्हाट्सप संदेश के माध्यम से जैसे ही विधायक यशपालसिंह सिसोदिया को इसका पता लगा उन्होंने तत्काल पीढ़ित को बुलाया और तुरंत सारी औपचारिकताएं पूरी करवाकर उसका आयुष्मान कार्ड बनवाया । यहीं नहीं उन्होंने पीढ़ित व्यक्ति की बिमारी के उपचार में हर संभव मदद का आश्वासन भी दिया।
दरअसल मंदसौर जिले में करीब दस लाख गरीबों को उपचार के लिए महत्वपूर्ण आयुष्मान कार्ड योजना के माध्यम से लाभांवित किया जाना है लेकिन मंदसौर जिले में अफसरशाही अपने टरकाने वाले रवैये के कारण केवल चार लाख लोगों के ही आयुष्मान कार्ड बनवा सकी है जबकी कई लोग इस योजना का लाभ लेने के लिए दर-दर भटक रहे है उन्हें अफसर शाही सहीं मार्गदर्शन तक नहीं दे रहीं है। ऐसा ही एक मामला है मंदसौर के रहने वाले राजेन्द्र कुमार का जो पिछले लंबे समय से अपने पैर में गंभीर बिमारी से जुझ रहे हैं, उनका पैर इतना बड़ा हो गया कि चलने में भी मुश्किल आ रहीं है और लगातार दर्द से कराह रहे है ऐसे में  दो बार बस स्टेण्ड क्षेत्र के व्यापारियों ने पैसे एकत्र कर उनका उपचार प्रारम्भ करवा दिया लेकिन अभी उन्हें लंबे उपचार की आवश्यकता है। परिवार में भी उनका कोई नहीं है ऐसे में वे अपना अधिकांश समय नेहरू बस स्टेण्ड पर ही बिताते है। उनके पास समग्र आई डी थी, अपना आधार पहचान पत्र था और बीपीएल का राशन कार्ड भी था बावजूद उनके पास आयुष्मान कार्ड नहीं था। यदि उनका आयुष्मान कार्ड बन जाता तो अपनी बिमारी के उपचार के लिए किसी के  सामने मदद की गुहार नहीं लगानी पड़ती और समय पर उनका पूरा उपचार हो जाता। पैर से चलने-फिरने में दिक्कत होने के बावजूद भी पिछले दो महिने से अधिक समय से आयुष्मान कार्ड से जूड़ी अफसर शाही के चक्कर लगा रहे है। जिला अस्पताल में आयुष्मान कार्ड प्रभारी दिनेश तंवर से लगाकर लोक सेवा केन्द्र और कार्ड बनाने वाली निजी एजेन्सियों तक जाकर अपना कार्ड बनाने की गुहार लगा चूके लेकिन कोई भी उनका कार्ड बनाना तो दूर  सही रास्ता तक बताने के लिए तैयार नहीं था। जबकि शनिवार की दोपहर से ही आयुष्मान कार्ड बनाने का अभियान फिर से शुरू किया जाना था, पिछले दो दिनों से जिला प्रशासन आयुष्मान कार्ड बनवाने की अपील कर रहा था बावजूद इसके अस्पताल के प्रभारी आयुष्मान कार्ड बनवाऐ जाने का रास्ता तक बताने को तैयार नहीं थे । ऐसे में दैनिक जनसारंगी के माध्यम से जब शनिवार की सुबह विधायक यशपालसिंह सिसोदिया और कलेक्टर मनोज पुष्प को व्हाट्सअप मैसेज के माध्यम से गरीब की पीढा को बताया तो विधायक सिसोदिया ने तत्काल संज्ञान लिया और पीढ़ित व्यक्ति को आयुष्मान कार्ड बनाऐ जाने के अभियान के शुभारंभ स्थल पर बुलाया और वहीं तत्काल उसके आयुष्मान कार्ड बनाऐ जाने की प्रकिृया को पूरा कर उसका कार्ड बनाया। यहीं नहीं उन्होंने बिमारी के उपचार में हर संभव मदद का भी आश्वासन दिया  ।
विधायक यशपालसिंह सिंह सिसोदिया की दृढ़ इच्छाशक्ति के कारण गरीब और बीमारी से परेशान व्यक्ति का आयुष्मान कार्ड तत्काल बन गया और अब उसके पैर का तत्काल उपचार हो सकेगा। वरना अफसर शाही के भरोसे तो गरीब व्यक्ति दर-दर भटकने के लिए ही मजबूर हो रहा था।
क्या है आयुष्मान कार्ड योजना
इस योजना के तहत लाभार्थी को इलाज के लिए एक कार्ड मुहैया करवाया जाता है। इसे आयुष्मान गोल्डन कार्ड नाम दिया गया है। 30 रूपए में बनने वाला ये एक ऐसा कार्ड है जिसके जरिए योजना में चुने गए सरकारी और निजी हॉस्पिटलों में 5 लाख रूपए तक का मुफ्त इलाज प्रतिवर्ष करवाया जा सकता है।
यह होगें योजना के पात्र
संभी संबल कार्ड धारी,खाघान्न पर्चीधारी एवं ऐसे सभी लोग जिनका नाम एस.ई.सी. सूची में हैं वे सभी आयुष्मान कार्ड के लिए पात्र हैं। आप अपना आयुष्मान कार्ड अपने पास के लोक सेवा केन्द्र, कॉमन सर्विस सेंटर एवं ग्राम पंचायत भवन में जाकर बनवा सकते है। इसके लिए हितग्राही को अपनी परिवार समग्र आईडी,आधार कार्ड, मतदाता पहचान पत्र, राशन कार्ड इनमें से कोई भी दस्तावेज लेकर पहुंच सकता है। लेकिन यदि कार्ड बनवाने मे हितग्राहीं को कोई भी परेशानी आऐ तो लोक सेवा केन्द्र के हेल्पडेस्क कर्मचारी से सहायता ले सकते है। आयुष्मान कार्ड संबंधी अधिक जानकारी के लिए नागरिक टोल फ्री नंबर 1800111565/14555 पर कॉल कर सकते है। इसके साथ ही वेबसाईड और जनसेवा केन्द्र पर भी सम्पर्क कर सकते है।

Chania