Sunday, March 3rd, 2024 Login Here
मंदसौर संसदीय क्षेत्र से सुधीर गुप्ता को मिला टिकीट सेवा कार्यो में उत्कृष्ट कार्य को लेकर रेडक्रॉस सोसायटी जिला शाखा मंदसौर को मिला अवार्ड बांछड़ा डेरों पर पुलिस की दबिश, भारी मात्रा में अवैध शराब जप्त प्रतिवेदन पेश नहीं करने पर नपा सीएमओं के खिलाफ पांच हजार का जमानती वारंट जारी सूदखोरों से परेशान होकर की आत्महत्या, पिता के मृत्युभोज के लिए लिया था पैसा मंत्री सारंग ने की वन-टू-वन चर्चा, कहा 6 लाख वोट से भाजपा को जिताने का संकल्प ले लोकसभा चुनाव - भाजपा के 155 उम्मीदवारों की सूची आज घोषित होने की संभावना स्वास्थ्य के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले 200 से अधिक प्रतिनिधि को राष्ट्रीय अवॉर्ड से सम्मानित किया भैरव घाटी पर सड़क हादसा, एक की दर्दनाक मौत दो कारों की आमने-सामने भिडन्त, कॉन्स्टेबल की मौत मानपुरा में ग्रामीण के घर, बाड़े व स्विफ्ट कार से 63 किलो से अधिक अफीम जब्त सुपर पॉवर बनने की दिशा में तीन सेमीकंडक्टर, 1.26 लाख करोड़ के प्लांट को सरकार की मंजूरी 8 महिने बाद खाटु श्याम बाबा के मंदिर में प्रवेश कर भक्तों ने किए दर्शन 15 मिनिट में एक लाख का साउंड सिस्टम चुराने वाला बदमाश सीसीटीवी से पकडाया प्रधानमंत्री ने किया वर्चुअल भूमिपूजन, मंदसौर में 99.14 करोड़ की लागत से 18 महीने में तैयार होगा औद्योगिक पार्क

एयरर्पोट इंजीनियर कोर्स होगा प्रारम्भ, पायलेट ट्रेनिंग के लिए दो दिन में शुरू हो जाऐगा पंजीयन
कलेक्टर ने एयर स्पोर्ट के लिए भी की कंपनी से चर्चा

मंदसौर जनसारंगी।
बनने के बाद से ही विरान पड़ी मंदसौर की हवाई पट्टी पर अब गुलजार होने वाली है। हर दिन अब शहर के आकाश से छोटे हवाई जहाज उडान भरते और उतरते हुए दिखाई देगें जो ट्रेनी पायलेट को ट्रेंनिंग देगें इसके साथ ही जल्द ही यहां हवाई इंजीनियर भी तैयार होगें।  इसके लिए नई दिल्ली की ग्लोबल कनेक्ट एविएशन प्रालि को यह हवाई पट्टी लीज पर दी गई दो दिन में पायलट ट्रेनिंग के लिए पंजीयन का काम शुरु हो जाएगा। इसके अलावा एक और खुश खबर मंदसौर के लिए यह है कि एयर पोर्ट इंजीनियर का कोर्स भी शुरु करने की कवायद प्रशासन ने शुरु कर दी है। इसके साथ ही कलेक्टर मनोज पुष्प ने कंपनी से मंदसौर के साथ गांधी सागर में एयर स्पोर्ट के लिए भी बात की है। ऐसे में अब वह दिन दूर नहीं है जब मंदसौर से हवाई इंजीनियर तैयार होगें और ट्रेनिंग लेकर पायलट हवाई जहाज उडाऐगें।
मंदसौर बायपास पर नोलखा बीड़ में स्थित हवाई पट्टी को मप्र के विमानन विभाग मंत्रालय द्वारा नई दिल्ली की ग्लोबल कनेक्ट एविएशन प्रालि को लीज पर दिया गया है। यह कंपनी फ्लाइंग ट्रेनिंग ऑर्गेनाइजेशन, रीजनल कनेक्टिविटी और एयर एंबुलेंस, स्काई ड्राईविंग, एरियल सर्वे के क्षेत्र में कई वर्षों से कार्यरत है। अब मंदसौर की हवाई पट्टी पर कंपनी छात्र-छात्राओं को कमर्शियल पायलट लायसेंस हेतु प्रशिक्षण देगी। इसमें एक ट्रेनी पायलेट के प्रशिक्षण की समयावधि 10-12 माह तक रहेगी। इसमें 200 घंटे की उड़ान कराई जाएगी। प्रशिक्षण के तहत पंजीकरण, वर्दी, एसपीएल (छात्र पायलट लाइसेंस) के दस्तावेज एफआरटीओएल (उड़ान रेडियो टेलीफोन ऑपरेटर लायसेंस), सीपीएल ( कमर्शियल पायलट लाइसेंस), ग्राउण्ड स्कूल प्रशिक्षण दिये जायेंगे। कंपनी के पास स्वयं का एमआरओ (रखरखाव मरम्मत ओवरआल) भी है। इसमें कंपनी द्वारा एएमई (विमान रखरखाव इंजीनियर) वाले छात्रों को ट्रेनिंग दी जाएगी। हवाई पट्टी पर बाउंड्रीवाल का निर्माण चल रहा है। इसके अलावा यहां विमानों के लिए हेंगर भी तैयार हो रहे हैं। यहां एक छोटा टर्मिनल भी बनेगा। जल्द ही पायलट ट्रेनिंग स्कूल प्रारंभ हो जाएगा। इसके बाद मंदसौर से रीजनल एयर कनेक्टिविटी के तहत छोटी विमान सेवाएं भी प्रारंभ हो सकती हैं।
कुछ एयरलाइंस से है अनुबंध
बताया जा रहा है कि कंपनी का शेड्यूल एयरलाइंस इंडिगो, स्पाइस जेट व गो एयर के साथ अनुबंध भी है। इसके तहत अगर छोटे हवाई जहाज चलते हैं तो वह मंदसौर के निकटतम हवाई अड्डे तक यात्रियों को पहुंचाने की सुविधा देकर वहां से मुंबई, बैंगलुरू, कोलकाता, दिल्ली व अन्य शहरों के लिए लिंक फ्लाइट की सुविधा मिल सकती है।
कंपनी के पास पांच एयरक्राफ्ट
लोक निर्माण विभाग के कार्यपालन यंत्री आदित्य सोनी ने बताया कि मप्र शासन ने दिल्ली की कंपनी ग्लोचबल कनेक्ट एवियेशन प्रालि को मंदसौर की हवाई पट्टी लीज पर दे दी है। अब यहां पायलेट ट्रेनिंग स्कूल खुलेगा। कंपनी के पास अभी 5 एयरक्राफ्ट है एवं 6 एयरक्राफ्ट खरीदने की प्रक्रिया चल रही है। वर्तमान में हवाई पट्टी पर बाउंड्रीवाल व हेंगर का कार्य पूर्ण होने को है।
36 लाख रुपए रहेगी फीस
ट्रेनी पायलेट में पंजीयन करवाने के लिए कोई सीमा नहीं है। बारहवीं फिजीक्स और मैथ्स विषय से पास करने वाले विद्यार्थी इसके लिए पंजीयन करवा सकते हैं। इसके अलावा यहां पद सीमित रहेगे। पर्सनालिटी टेस्ट कंपनी द्वारा लिया जाएगा। जिसमें पास होने वालों का यहां चयन होगा। कोर्स की फीस लगभग 36 लाख रुपए रहेगी।
मंदसौर-गांधी सागर में एयर स्पोर्ट
मंदसौर और गांधी सागर में भी एयर स्पोर्ट शुरु करने की बात प्रशासन ने कंपनी से की है। इस पर कंपनी के कर्मचारी जल्द ही निर्णय ले सकते हैं। इसके अलावा एयर पोर्ट इंजीनियर का कोर्स भी शुरु करने की कवायद लगभग पूरी हो चुकी है। सबकुछ ठीक रहा तो तीन माह में में कंपनी के अधिकारी निरीक्षण करने के लिए मंदसौर आ सकते हैं।
इनका कहना
कंपनी के अधिकारियों से की है चर्चा
कंपनी के अधिकारियों से चर्चा की गई है। ट्रेनी पायलेट के लिए पंजीयन एक दो दिन में शुरु हो जाएगा। इसके अलावा एयर पोर्ट इंजीनियर का कोर्स शुरु करने के लिए भी कंपनी के अधिकारियों से चर्चा की गई है। मंदसौर और गांधी सागर में गांधी सागर में एयर स्पोर्ट शुरु करने के लिए भी कंपनी से बात की गई है।
मनोज पुष्प, कलेक्टर

Chania