Monday, February 26th, 2024 Login Here
गरीब के जीवन से कष्टों को मिटाना प्रदेश सरकार का लक्ष्य-डॉ यादव चिकित्सक पर हुई कार्रवाहीं का डाक्टरों व सिंधी समाज ने किया विरोध किरायेदारों से अनजान पुलिस, मकान मालिक भी लापरवाह नवनिर्वाचित राज्यसभा सांसद बंशीलाल जी गुर्जर का मंदसोर शहर में होगा भव्य स्वागत ट्रक में लहसुन के नीचे छुपाकर रख 1031 किलो डोडाचूरा जब्त, ड्राइवर गिरफ्तार मुख्‍यमंत्री डॉ.मोहन यादव आज नीमच में 752 करोड से अधिक के कार्यो का लोकार्पण एवं भूमिपूजन करेंगे 36 घंटे में पुलिस ने किया अन्तरॉज्जीय लूटेरों को गिरफ्तार मदिरा दुकानों के नवीनीकरण आवेदन 22 फरवरी तक करें पांच साल के इंतजार के बाद आज से मंदसौर में प्रारंभ होगा पासपोर्ट कार्यालय मध्यप्रदेश से राज्यसभा के पांचों प्रत्याशी निर्विरोध निर्वाचित; 4 सीट बीजेपी, एक कांग्रेस के खाते में 133 किमी लंबे मार्ग में 14 किमी लंबा दूसरा रेलवे ट्रैक तैयार साँप भगाने के लिए टैंक में पेट्रोल डाला, तीली जलाते ही धमाका हुआ, दम्पत्ति झुलसे नदियॉ को छलनी करने का खेल चल रहा,माफियाओं पर नही लग पा रही नकेल सिंगिग स्टार बनने के चक्कर मे लोग हो रहे शिकार संसद रत्न पुरस्कार से सम्मानित होने वाले सांसदों को राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति ने बधाई दी

मंदसौर के एक पेंटर ने मास्क पर बनाए 44 शहिद कोरोना योद्धाओ के पोर्ट्रेट । मप्र से लेकर दुनिया के पहले कोरोना शहीद को उकेरा है मास्क पर । अपने इस अद्भुत मास्क के लिए पेंटर राहुल लोहार ने जीते है कई अवार्ड , इस यूनिक मास्क को आज लाया गया मीडिया के सामने । आर्टिस्ट ने कहा ये मेरी ओर से कोरोना योद्धाओ को श्रद्धांजलि है । 
कोरोना की जंग में जहाँ हमारे देश ने पूरी ताकत से जंग लड़ी है तो वही देश के आम नागरिको ने भी अपने अपने स्तर पर कोरोना योद्धाओ के मान सम्मान में अपनी भावनाओं की अभिव्यक्ति की है । मप्र मन्दसौर जिले के छोटे से गाँव कुचड़ोद के रहने वाले राहुल लोहार ने एक मास्क पर 44 पोर्ट्रेट देश विदेश के उन डॉक्टरों के बनाए है जो कोरोना की जंग में शहीद हो गए है । वुहान में सबसे पहले शहिद होने वाले डॉक्टर से लेकर अन्य कई डॉक्टरों के चित्रों को एक ही मास्क पर बड़ी खूबसूरती से उकेरा गया है । 
मन्दसौर जिले के छोटे से गांव कुछड़ोद के रहने वाले 30 वर्षीय राहुल लोहार बचपन से पेंटिंग बनाने के शौकीन है ।कोरोना काल मे मास्क जो लेकर कई लोगो ने अलग अलग डिजाईन के मास्क बनाए , जिनमे अलग अलग प्रिंट , फोटो ,संदेश आदि से लोगो को जागरूक करने की कोशिश की है । लेकिन कुछड़ोद के राहुल लोहार के मास्क की बात कुछ अलग ही है । राहुल ने लगातार 12 घण्टे की मेहनत से इस मास्क को बनाया है , जिसमे ईको फ्रेंडली वाटर कलर का इस्तेमाल हुआ है । काफी बारीकी से मिनिएचर पोर्ट्रेट बनाए गए है । राहुल लोहार का यह मास्क जब इंटरनेट के माध्यम से लोगो तक पहुंचा तो इसकी जमकर तारीफ तो की है साथ ही साथ सर्टिफिकेट भी दिए हैं । राहुल लोहार एक मध्यम वर्गीय परिवार से है और बचपन से ही पेंटिंग बनाने के शौकीन है । कोरोना काल मे उन्हें भी ये खयाल आया कि कोरोना योद्धाओ के सम्मान या उन्हें श्रद्धांजलि स्वरूप कुछ करना चाहिए , राहुल की इस भावना को आकार मिला एक अनूठे मास्क को बनाने की प्लानिंग से , राहुल लोहार ने एक 5x8 इंच का मास्क लिया और लगातार 12 घण्टे काम करके अनूठा मास्क तैयार किया जिस पर देश विदेश के 44 डॉक्टरों के मिनिएचर पोर्ट्रेट बने थे जो कोरोना योद्धा के रूप में शहीद हो गए थे । 
राहुल को इस अनूठे मास्क के लिए कई जगहों से प्रशंसा के प्रमाण पत्र भी मिले है। 
राहुल ने लॉक डाउन के समय एक कोविड पेंटिंग भी बनाई थी । जिसके लिए उसे लॉक डाउन में कही भी केनवास नही मिला तो उसने अपने ट्रेक्टर के हुड को काटकर उसी पर पेंटिंग बना दी थी । 
राहुल के पिता देवीलाल का कहना है कि उनके बेटे को बचपन से ही पेंटिंग बनाने का शौक था , वे समय समय पर राहुल के लिए पेंटिंग की हर चीज लाकर देते थे , राहुल ने मास्क पर जो 44 पोर्ट्रेट बनाए है वो 10 - 12 घण्टे में बनाए है । उन्हें अपने बेटे के इस काम से बड़ी खुशी है ।
Chania