Friday, March 1st, 2024 Login Here
स्वास्थ्य के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले 200 से अधिक प्रतिनिधि को राष्ट्रीय अवॉर्ड से सम्मानित किया भैरव घाटी पर सड़क हादसा, एक की दर्दनाक मौत दो कारों की आमने-सामने भिडन्त, कॉन्स्टेबल की मौत मानपुरा में ग्रामीण के घर, बाड़े व स्विफ्ट कार से 63 किलो से अधिक अफीम जब्त सुपर पॉवर बनने की दिशा में तीन सेमीकंडक्टर, 1.26 लाख करोड़ के प्लांट को सरकार की मंजूरी 8 महिने बाद खाटु श्याम बाबा के मंदिर में प्रवेश कर भक्तों ने किए दर्शन 15 मिनिट में एक लाख का साउंड सिस्टम चुराने वाला बदमाश सीसीटीवी से पकडाया प्रधानमंत्री ने किया वर्चुअल भूमिपूजन, मंदसौर में 99.14 करोड़ की लागत से 18 महीने में तैयार होगा औद्योगिक पार्क गुजरात मॉडल से मप्र सरकार रोकेगी चेक पोस्ट पर अवैध वसूली अधिक आवक के चलते मंडी में बढ़ी अव्यवस्था, दिनभर बंद रही नीलामी शाम को शुरु हुई, आधे घंटे बाद फिर बंद, व्यापारी, किसान व हम्मालों का विरोध जारी नीमच से सिंगोली रावतभाटा होते हुए कोटा रेल मार्ग के फाइनल सर्वे की स्वीकृति, 5 करोड़ से अधिक की राशि स्वीकृत 500 जवानों की 45 टीमों ने की अपराधियों की धरपकड़, एक रात में 156 अपराधियों को पकडा मध्यप्रदेश की 29 सीटों पर पैनल तैयार,मंदसौर संसदीय क्षेत्र से देवीलाल धाकड, यशपालसिंह सिसोदिया, मदनलाल राठौर और सुधीर गुप्ता का नाम दुर्घटनाओं की जांच वैज्ञानिक तरीके से करने के निर्देश लेकिन पुरातन परम्परा अभी भी कायम अव्वल होने का दावा करने वाली नपा में सफाई व्यवस्था बदहाल
मंदसौर। कोरोना संक्रमण के चलते पर्वों का उत्साह कम नहीं हो रहा है पूरी सावधानी के साथ अग्रवाल समाज की मातृशक्ति एवं युवतियों ने गणगौर की झेल  आज बुधवार को गोधूली बेला में ढोल धमाकों के साथ दशपुर कुंज उद्यान से  नगर में निकाली । कोरोना प्रोटोकाल के तहत महिलाओं व युवतियों ने मुंह पर मास्क  लगा रखे थे झेल में दूल्हा दुल्हन  बनने वालों ने भी मुंह पर मास्क लगाकर गणगौर पर्व की शोभा बढ़ाई। महिलाओं व युवतियों  ने दशपुर कुंज में ढोल की थाप पर नृत्य भी किया और गणगौर के झाले भी लिए। गणगौर की झेल में दूल्हा शुभी सिंहल एवं दुल्हन पहल सिंहल बनी।
 इस आशय की जानकारी देते हुए , श्रीमती पिंकी ओम गोयल व श्रीमती रानी अनिल अग्रवाल ने बताया कि गणगौर पर्व का अग्रवाल समाज में विशेष महत्व रहता है 16 दिनों तक गणगोर की पूजा अर्चना गोरी पार्वती के रूप में की जाती है नवविवाहिता  शादी के प्रथम वर्ष इस पूजन के तहत अपने मायके आती है और धुलेंडी के दिन से प्रारंभ होने वाला यह पर्व नवरात्रि की तीज को गणगौर तीज के रूप में समाप्त होता है। वर्ष भर इस पर्व को लेकर महिलाओं में खासा उत्साह रहता है इस बार बढ़ते कोरोना संक्रमण के कारण पर्व तो मनाया जा रहा है लेकिन सावधानी के साथ जनकुपुरा गणपति चौक स्थित भगवान श्री नरसिंह मंदिर में प्रतिदिन महिलाएं एवं युवतियां गणगौर की पूजा अर्चना करती है ओर  संध्या को गोधूलि बेला में अपने अपने घरों पर गणगौर को  साथ ले जाया जाता है ओर उत्साह के साथ प्रतिदिन पर्व मनाया जाता है। आज बुधवार को दशपुर कुंज से गणगौर की झेल  नगर में निकली जो गांधी चौराहा बस स्टैंड,  घंटा घर होते हुए जनकुपुरा पहुंची जहां झेल का समापन हुआ।
गणगौर की झेल में श्रीमती काजल गर्ग, निशू गर्ग, रानी अग्रवाल, पिंकी गोयल,  अर्चना गोयल, संगीता अग्रवाल ,  शुभी अग्रवाल,  स्वाति सिंहल, निलम सिंहल, चीनू सिंहल ,मधु सिंहल , रेखा सिंहल ,मंजू सिंहल ,किरण अग्रवाल, अंजू सिंहल ,आनिष्का गर्ग खुशबू अग्रवाल, कांता सिंहल, मधु अग्रवाल, संगीता अग्रवाल, आयुषी सिंहल, पार्ची गोयल, भक्ति अग्रवाल, एकांशी अग्रवाल, खुशी गोयल,  आयुषी अग्रवाल, निमिषा अग्रवाल, दिशा मित्तल ,अद्विका सिंहल, महक मित्तल दर्शिता गर्ग ,अग्रिमा अग्रवाल अपेक्षा मित्तल सहित बड़ी संख्या में मातृशक्ति व युवतियां उपस्थित थी।
Chania