Friday, March 1st, 2024 Login Here
स्वास्थ्य के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले 200 से अधिक प्रतिनिधि को राष्ट्रीय अवॉर्ड से सम्मानित किया भैरव घाटी पर सड़क हादसा, एक की दर्दनाक मौत दो कारों की आमने-सामने भिडन्त, कॉन्स्टेबल की मौत मानपुरा में ग्रामीण के घर, बाड़े व स्विफ्ट कार से 63 किलो से अधिक अफीम जब्त सुपर पॉवर बनने की दिशा में तीन सेमीकंडक्टर, 1.26 लाख करोड़ के प्लांट को सरकार की मंजूरी 8 महिने बाद खाटु श्याम बाबा के मंदिर में प्रवेश कर भक्तों ने किए दर्शन 15 मिनिट में एक लाख का साउंड सिस्टम चुराने वाला बदमाश सीसीटीवी से पकडाया प्रधानमंत्री ने किया वर्चुअल भूमिपूजन, मंदसौर में 99.14 करोड़ की लागत से 18 महीने में तैयार होगा औद्योगिक पार्क गुजरात मॉडल से मप्र सरकार रोकेगी चेक पोस्ट पर अवैध वसूली अधिक आवक के चलते मंडी में बढ़ी अव्यवस्था, दिनभर बंद रही नीलामी शाम को शुरु हुई, आधे घंटे बाद फिर बंद, व्यापारी, किसान व हम्मालों का विरोध जारी नीमच से सिंगोली रावतभाटा होते हुए कोटा रेल मार्ग के फाइनल सर्वे की स्वीकृति, 5 करोड़ से अधिक की राशि स्वीकृत 500 जवानों की 45 टीमों ने की अपराधियों की धरपकड़, एक रात में 156 अपराधियों को पकडा मध्यप्रदेश की 29 सीटों पर पैनल तैयार,मंदसौर संसदीय क्षेत्र से देवीलाल धाकड, यशपालसिंह सिसोदिया, मदनलाल राठौर और सुधीर गुप्ता का नाम दुर्घटनाओं की जांच वैज्ञानिक तरीके से करने के निर्देश लेकिन पुरातन परम्परा अभी भी कायम अव्वल होने का दावा करने वाली नपा में सफाई व्यवस्था बदहाल

      मंदसौर जनसारंगी । 
      कोरोना मरीजों के उपचार के लिए विधायक निधी दिए जाने की मांग का विधायक यशपालसिंह सिसोदिया ने मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चैहान को ट्वीट किया जिसके बाद सरकार ने विधायकों को अपनी निधि से कोरोना से लड़ने के लिए जरूरी उपकरणों के लिए राशि खर्च करने का अधिकार दे दिया है। यानी वेंटिलेटर, पीपीई किट, मास्क, ग्लोब्ज, सेनेटाइजर विधायक की अनुशंसा पर खरीदे जा सकेंगे। इस संबंध में योजना, आर्थिक एवं सांख्यिकी विभाग ने सभी कलेक्टरों को निर्देश जारी कर दिए हैं।
      दरअसल मंदसौर के वरिष्ठ विधायक यशपालसिंह सिसोदिया ने शुक्रवार को प्रदेश के सीएम को ट्वीट किया था जिसमें उन्होंने कहा था कि गरीब मरीजों के हित में विधायक स्वेच्छा अनुदान की राशि कोविड भर्ती मरीजों की सीटी स्कैन, रेमडेसीविर इंजेक्शन के लिए अनुशंसित करने का संशोधन किया जाना चाहिऐ। विधायक को निधी के  प्राप्त 1 करोड़ 85 लाख में से 1 करोड़ रुपए इस निमित्त अनुशंसित करने की भी  अनुमति दी जाऐ क्योकि विधायक यदि हम हजार रुपए रोज भी गरीब मरीजों को अनुशंसित करेंगे तो आने वाले 6 माह तक 1 करोड़ रुपए की राशि आवंटित हो सकती है। विधायक भर्ती मरीज का पर्चा, सीटी स्कैन और रेमडेसीवियर का  बिल देख कर ही अनुशंसित करेंगे। इसके बाद शाम होते-होते प्रदेश सरकार के मुखिया शिवराजसिंह चैहान ने इस पर निर्णय कर लिया और आदेश भी जारी कर दिए जिसमें कहा गया है कि विधायकों को अपने विधान सभा क्षेत्र में विकास कार्यों के लिए मिलने वाली राशि का उपयोग कोरोना के बचाव व इलाज के लिए जरूरी उपकरणों व अन्य व्यवस्थाओं पर खर्च करने का अधिकार रहेगा। लेकिन यह अनुमति सिर्फ वर्ष 2021-22 के लिए ही दी गई है। खास बात यह है कि विधायक इस मद में केवल एक बार ही राशि का उपयोग कर सकेंगे। बता दें कि हर विधायक को हर साल विधायक निधि में 1 करोड़ 85 लाख रुपए आंवटित किए जाते हैं। यदि हर विधायक 1-1 करोड़ रुपए भी उपकरण खरीदने में खर्च करता है तो 230 करोड़ रुपए कोरोना से लड़ने में सरकार को आर्थिक रूप से बड़ी मदद होगी।
      इन उपकरणों पर खर्च होगी विधायक निधि
      इंफ्रारेड थर्मामीटर, पीपीई किट, टेस्टिंग किट, आईसीयू वेंटिलेटर, आइसोलेशन या क्वारेंटाइन वार्ड में उपयोग में आने वाली सामग्री, फेस मास्क, ग्लोब्ज, सेनेटाइजर और कोविड वार्ड में उपयुक्त होने वाले उन्य उपकरण।

Chania