Monday, February 26th, 2024 Login Here
गरीब के जीवन से कष्टों को मिटाना प्रदेश सरकार का लक्ष्य-डॉ यादव चिकित्सक पर हुई कार्रवाहीं का डाक्टरों व सिंधी समाज ने किया विरोध किरायेदारों से अनजान पुलिस, मकान मालिक भी लापरवाह नवनिर्वाचित राज्यसभा सांसद बंशीलाल जी गुर्जर का मंदसोर शहर में होगा भव्य स्वागत ट्रक में लहसुन के नीचे छुपाकर रख 1031 किलो डोडाचूरा जब्त, ड्राइवर गिरफ्तार मुख्‍यमंत्री डॉ.मोहन यादव आज नीमच में 752 करोड से अधिक के कार्यो का लोकार्पण एवं भूमिपूजन करेंगे 36 घंटे में पुलिस ने किया अन्तरॉज्जीय लूटेरों को गिरफ्तार मदिरा दुकानों के नवीनीकरण आवेदन 22 फरवरी तक करें पांच साल के इंतजार के बाद आज से मंदसौर में प्रारंभ होगा पासपोर्ट कार्यालय मध्यप्रदेश से राज्यसभा के पांचों प्रत्याशी निर्विरोध निर्वाचित; 4 सीट बीजेपी, एक कांग्रेस के खाते में 133 किमी लंबे मार्ग में 14 किमी लंबा दूसरा रेलवे ट्रैक तैयार साँप भगाने के लिए टैंक में पेट्रोल डाला, तीली जलाते ही धमाका हुआ, दम्पत्ति झुलसे नदियॉ को छलनी करने का खेल चल रहा,माफियाओं पर नही लग पा रही नकेल सिंगिग स्टार बनने के चक्कर मे लोग हो रहे शिकार संसद रत्न पुरस्कार से सम्मानित होने वाले सांसदों को राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति ने बधाई दी

कोविड उपचार के दौरान ही मंदसौर में मिले चार मरीज, ठीक होने के बाद एक को हुआ संक्रमण
पोस्ट कोविड ओपीडी प्रारम्भ, पहले ही दिन 55 की जांच, पांच लोगों का बाहर के अस्पतालों में उपचार
मंदसौर जनसारंगी।

कोरोना महामारी के दौरान सामने आया ब्लैक फंगस अब केंद्र सरकार के लिए बड़ी चिंता बन गया है। केंद्र सरकार ने सभी राज्यों को खत लिखकर ब्लैक फंगस के लिए अलर्ट किया है। साथ ही सभी राज्यों सरकारों से इसे महामारी एक्ट के तहत नोटेबल डिजीज घोषित करने को कहा है। यानी राज्यों को ब्लैक फंगस के केस, मौतों, इलाज और दवाओं का हिसाब रखना होगा। उधर मध्यप्रदेश में बडते मामलों के बीच अब मंदसौर में भी ब्लेक फंगस की दहशत दिखने लगी है। कोरोना का उपचार करा रहे चार लोगों को मंदसौर में ब्लेक फंगस होने की पुष्टि हुई है तथा एक को कोरोना ठीक होने के बाद ब्लेक फंगड के लक्षण दिखाई दिए है। जिसके बाद अभी दो लोगों का मंदसौर में ही उपचार चल रहा है, बाकी को मंदसौर से बाहर रैफर कर दिया गया। उधर  पोस्ट कोविड ओपीडी भी गुरूवार से प्रारम्भ हो चूकी है जिसमें पहले ही दिन 55 लोगों की जांच एवं उपचार किया गया।
प्रदेश में अभी तक 585 मरीज ब्लेक फंगस के बताऐ जा रहे है। इसमें से अकेले भोपाल में 239 मरीज आ चुके है। इसके साथ ही मंदसौर में पांच मामलें सामने आने की जानकारी सामने आई है। इसमें से तीन मंदसौर जिले के ही रहने वाले है जिसमें एक मंदसौर के स्नेह नगर का रहने वाला है, दूसरा ग्राम राजाखेड़ी का है तथा तीसरा जवासिया की महिला है। इसके अलावा एक समीप्रस्थ राजस्थान के प्रतापगढ़ और एक रतलाम जिले के मावता का है। इन पांचों मरीजों में से चार लोगों को कोरोना संक्रमण के उपचार के दौरान ही ब्लेक फंगस के लक्षण दिखाई देने लगे है तथा एक को कोविड ठीक होने के बाद ब्लेक फंगस के लक्षण मिले है। इन पांचों मरीजों में से दो का उपचार अभी मंदसौर में ही चल रहा है। प्रतापगढ़ के व्यक्ति का उदयपुर में उपचार चल रहा है तथा दो का इंदौर में उपचार होने की जानकारी आई है
तथा एक राजस्थान के प्रतापगढ़ तथा एक और रतलाम जिले का हैं। अभी इनका उपचार उदयपुर और गुजरात के बडोदा में चल रहा है तथा तीन का इंदौर में उपचार चल रहा है। उधर लगातार ब्लेक फंगस के बड़ते मामलों के कारण मंदसौर में कोविड से ठीक हुए मरीजों में घबराहट का माहौल बना हुआ है इसी के चलते शुक्रवार को जैसे ही पोस्ट कोविड ओपीडी प्रारम्भ हुई, पहले ही दिन 55 मरीज वहां पहुंचे और अपनी जांच करवाई। पोस्ट कोविड ओपीडी के लिए कलेक्टर मनोज पुष्प द्वारा लाभ मुनि नेत्र चिकित्सालय चयनित करते हुए गुरूवार से प्रारम्भ कर दिया गया है। इस अस्पताल में ऐसे व्यक्तियों का उपचार किया जाएगा जिन्हें पूर्व में कोरोना हुआ था और अब ठीक हो चुके हैं, उसके बाद भी स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं आ रही हैं।
इन मरीजों की होगी जांच
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ के एल राठौर ने जानकारी देते हुए बताया कि लाभ मुनि नेत्र चिकित्सालय ओपीडी में ऐसे मरीजों की जांच की जा रही है जो की कोविड ठीक होने के बाद अत्यधिक थकान अथवा सुस्ती होना, कोविड उपरांत सांस लेने में कठिनाई वाले व्यक्ति, घबराहट के लक्षण युक्त व्यक्ति , पोस्ट कोविड तनाव या अवसाद युक्त व्यक्ति , काले फंगस के लक्षण आदि व्यक्तियों की जांच की जा रही है।
यह चिकित्सक करेंगें उपचार
विशेषज्ञ टीम में आईएमए के अध्यक्ष डॉ गोविंद छापरवाल , डॉ अशोक सोलंकी नेत्र रोग विशेषज्ञ , डॉ विक्रम अग्रवाल मेडिसन रोग विशेषज्ञ , डॉ वैभव जैन सर्जिकल रोग विशेषज्ञ , डॉ के सी दवे नेत्र रोग विशेषज्ञ , डॉ प्रदीप पाटीदार नाक कान गला रोग विशेषज्ञ , डॉ वंदना पाटीदार मानसिक रोग विशेषज्ञ द्वारा परीक्षण किया जा रहा है।
सप्ताह में दो दिन निःशुल्क होगी जांच
लाभ मुनि नेत्र चिकित्सालय मंदसौर में पोस्ट कोविड ओपीडी प्रति सोमवार एवं गुरुवार को प्रातः 10 बजे से 4बजे तक निशुल्क जांच एवं उपचार की सुविधा उपलब्ध रहेगी। अस्पताल में जांच कराने आते समय पूर्व में कोरोना उपचार, जांच एवं डिस्चार्ज पर्ची आदि साथ में लेकर जरूर आवे।
इनका कहना
कोरोना उपचार के दौरान ही मंदसौर में चार मरीजों को तथा एक को कोरोना ठीक होने के बाद ब्लेक फंगस के लक्षण दिखाई दे रहे है। इनमें से दो लोगों का उपचार मंदसौर में ही किया जा रहा है तथा तीन लोगों का उदयपुर और इंदौर के अस्पताल में उपचार चल रहा है। ब्लेक फंगस के लक्षण के उपचार के लिए मंदसौर में पोस्ट कोविड ओपीडी प्रारम्भ कर दी गई है।
डाॅ के.एल. राठौर, सीएमएचओं

Chania