Sunday, February 25th, 2024 Login Here
गरीब के जीवन से कष्टों को मिटाना प्रदेश सरकार का लक्ष्य-डॉ यादव चिकित्सक पर हुई कार्रवाहीं का डाक्टरों व सिंधी समाज ने किया विरोध किरायेदारों से अनजान पुलिस, मकान मालिक भी लापरवाह नवनिर्वाचित राज्यसभा सांसद बंशीलाल जी गुर्जर का मंदसोर शहर में होगा भव्य स्वागत ट्रक में लहसुन के नीचे छुपाकर रख 1031 किलो डोडाचूरा जब्त, ड्राइवर गिरफ्तार मुख्‍यमंत्री डॉ.मोहन यादव आज नीमच में 752 करोड से अधिक के कार्यो का लोकार्पण एवं भूमिपूजन करेंगे 36 घंटे में पुलिस ने किया अन्तरॉज्जीय लूटेरों को गिरफ्तार मदिरा दुकानों के नवीनीकरण आवेदन 22 फरवरी तक करें पांच साल के इंतजार के बाद आज से मंदसौर में प्रारंभ होगा पासपोर्ट कार्यालय मध्यप्रदेश से राज्यसभा के पांचों प्रत्याशी निर्विरोध निर्वाचित; 4 सीट बीजेपी, एक कांग्रेस के खाते में 133 किमी लंबे मार्ग में 14 किमी लंबा दूसरा रेलवे ट्रैक तैयार साँप भगाने के लिए टैंक में पेट्रोल डाला, तीली जलाते ही धमाका हुआ, दम्पत्ति झुलसे नदियॉ को छलनी करने का खेल चल रहा,माफियाओं पर नही लग पा रही नकेल सिंगिग स्टार बनने के चक्कर मे लोग हो रहे शिकार संसद रत्न पुरस्कार से सम्मानित होने वाले सांसदों को राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति ने बधाई दी

मंदसौर जनसारंगी ।
मध्यप्रदेश में संडे अनलॉक की घोषणा के बाद इस बार रविवार को बाजारों में चहल-पहल दिखाई दी। सुबह से ही लोग अपनी-अपनी दुकानों को खोलने में व्यस्त रहे। कोरोनाकाल में लंबे समय से शनिवार-रविवार लॉकडाउन रहा है। बाजारों में लोग इस दिन खरीदारी करने उमड़े। इस दौरान कुछ लोग गाइडलाइन का पालन करते दिखे, तो कहीं चेहरों से मास्क भी गायब थे। खास है कि दूसरी लहर की शुरुआत होते ही मार्च महीने में नाइट कर्फ्यू लगाया गया था। इसके बाद शनिवार-रविवार लॉकडाउन घोषित किया गया था।
बता दें कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान ने शनिवार रात संडे अनलॉक की घोषणा की थी। उनका कहना था कि प्रदेश में एक हजार से भी कम एक्टिव केस बचे हैं। 35 जिलों में कोई नया केस भी नहीं मिला है। साथ ही, संक्रमण दर घटकर 0.06 प्रतिशत रह गई है। ऐसे में रविवार को लॉकडाउन का कोई मतलब नहीं है। इस दौरान लोगों को गाइडलाइन का पालन जरूरी है।
संडे अनलाॅक होते ही तीन महिने से रविवार को रहने वाली सूनी सड़कों पर रौनक रही। शहर के प्रमुख बाजारों में कई दूकाने खुली रहीं। संडे को अब लोग बिना रोक-टोक के घरों से बाहर निकले। कोरोना के कारण लोगों के आर्थिक हालात खराब है ऐसे में एक बार फिर रविवार को भी मार्केट खुलने से लोगों के साथ ही व्यापारियों ने भी राहत की सांस ली है। हालांकि नाइट कर्फ्यू समेत कोरोना गाइडलाइन का पालन करना अनिवार्य रहेगा। इसके अतिरिक्त सभी तरह की गतिविधियां पहले की तरह बंदिश के दायरे में रहेंगी।

Chania