Sunday, March 3rd, 2024 Login Here
मंदसौर संसदीय क्षेत्र से सुधीर गुप्ता को मिला टिकीट सेवा कार्यो में उत्कृष्ट कार्य को लेकर रेडक्रॉस सोसायटी जिला शाखा मंदसौर को मिला अवार्ड बांछड़ा डेरों पर पुलिस की दबिश, भारी मात्रा में अवैध शराब जप्त प्रतिवेदन पेश नहीं करने पर नपा सीएमओं के खिलाफ पांच हजार का जमानती वारंट जारी सूदखोरों से परेशान होकर की आत्महत्या, पिता के मृत्युभोज के लिए लिया था पैसा मंत्री सारंग ने की वन-टू-वन चर्चा, कहा 6 लाख वोट से भाजपा को जिताने का संकल्प ले लोकसभा चुनाव - भाजपा के 155 उम्मीदवारों की सूची आज घोषित होने की संभावना स्वास्थ्य के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले 200 से अधिक प्रतिनिधि को राष्ट्रीय अवॉर्ड से सम्मानित किया भैरव घाटी पर सड़क हादसा, एक की दर्दनाक मौत दो कारों की आमने-सामने भिडन्त, कॉन्स्टेबल की मौत मानपुरा में ग्रामीण के घर, बाड़े व स्विफ्ट कार से 63 किलो से अधिक अफीम जब्त सुपर पॉवर बनने की दिशा में तीन सेमीकंडक्टर, 1.26 लाख करोड़ के प्लांट को सरकार की मंजूरी 8 महिने बाद खाटु श्याम बाबा के मंदिर में प्रवेश कर भक्तों ने किए दर्शन 15 मिनिट में एक लाख का साउंड सिस्टम चुराने वाला बदमाश सीसीटीवी से पकडाया प्रधानमंत्री ने किया वर्चुअल भूमिपूजन, मंदसौर में 99.14 करोड़ की लागत से 18 महीने में तैयार होगा औद्योगिक पार्क

3 और युवकों की बिगड़ी तबीयत, आंखों से दिखना हुआ कम, डीआईजी, कलेक्टर, एसपी पिपलिया पहंुच सर्चिंग अभियान के लिए गठित टीमों को करते रहे निर्देशित, शराब दुकानों पर सर्चिंग कर लिए सेंपल, सील भी किया
मंदसौर /पिपलिया मण्डी जनसारंगी।

अंचल में जहरीली शराब से मरने व बीमार होने का सिलसिला नही थम रहा। तीन और मौत के बाद मरने वालों का आंकड़ा 10 पर पहुंच गया है, वहीं दो शराब पीने के बाद दो युवकों की ओर तबीयत बिगड़ी है, जिन्हें आंखों से कम भी दिख रहा है। मंगलवार को सुबह से ही पुलिस अधिकारियों की अलग-अलग गठित टीम ने तहसील में कई देशी शराब दुकानों की सर्चिंग की व सेम्पल लिए। शाम को हुई मौत के बाद दो और युवकों की शराब पीने के बाद मौत हो गई। वहीं दो युवकों को तबीयत बिगड़ने पर प्राथमिक उपचार के बाद मंदसौर रेफर किया। जानकारी के अनुसार जहरीली शराबकांड में  पूर्व में भी कई लोगों के मरने की बात सामने आ रही है। लेकिन हाल में सामने आए 10 मामलों में तो परिजनों ने शराब पीने के बाद मौत होन की पुष्टि की है। सोमवार शाम पिपलिया में गायत्री नगर में निवासरत गोपाल नायक को भी देशी शराब पीने के बाद मंदसौर जिला अस्पताल रेफर किया, लेकिन वहां चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। दूसरी ओर सिद्धी विनायक अस्पताल में भर्ती पिपलिया अजय टाॅकीज मार्ग निवासी ब्रजेश गुर्जर को तबीयत बिगड़ने के बाद रात्रि को उदयपुर रेफर किया। ले जाते समय रास्ते में ही ब्रजेश ने दम तोड़ दिया। वहीं मंगलवार सुबह गायत्री नगर में पुरानी पानी की टंकी के पास निवासरत अनिल उर्फ लल्ला कैथवास को भी तबीयत बिगड़ने पर पिपलिया शासकीय अस्पताल लाए, जहां चिकित्सक ने मृत घोषित कर दिया। अस्पताल में मौके पहंुचे एएसआई एमएल वर्मा को दिए बयान में अनिल के भाई गुड्डू,  भतीजे राजू व रवि ने बताया कि रात्रि को अनिल ने शराब पी थी। उसके बाद सो गया। सुबह तबीयत बिगड़ने पर अस्पताल लाए लेकिन दम तोड़ दिया। परिजनों ने बताया अनिल रोज शराब पीता है, लेकिन शराब जहरीली होने के कारण ही मौत हुई है।
तबीयत बिगड़ने पर दो को और भर्ती करायारू-
जहरीली शराब पीने से तबीयत बिगड़ने पर दो युवकों को मंगलवार प्रातः अस्पताल लाया गया। बीमार गायत्री नगर निवासी 30 वर्षीय विजयसिंह उर्फ रिंकु पिता किशोरसिंह को अस्पताल लाए। विजयसिंह ने बताया उन्होंने कनघट्टी मार्ग स्थित ढ़ाबे से शराब पी थी। उसके बाद से तबीयत खराब है, आंखों से भी कम दिखने लगा है, जी मचल रहा है। कुछ देर बाद सोकड़ी निवासी 30 वर्षीय तेजमल पिता नाथूलाल नायक को रात्रि में शराब पीने के बाद सुबह तबीयत बिगड़ने पर अस्पताल लाए। तेजमल ने बताया कि मंडी के आगे शराब ठेके से मसाला शराब का क्वार्टर पीया था। सुबह आंखों से धंुधला-धुंधला नजर आ रहा है। दोनों को प्राथमिक उपचार के बाद मंदसौर रेफर कर दिया। उधर एसडीओपी टीसी पंवार ने बताया शराब पीने के बाद बीमार हुए लोगों ने ठेके से शराब लेने की बात कही है। इसको लेकर जांच जा रही है। वहीं खंखराई में शराब देने वाले पिता-पुत्रों की तलाशी के लिए अलग से गठित पुलिस टीम लगातार दविश दे रही है।

एबूलेंस के लिए परेशान हुए परिजन, तीन घंटे बाद पहंुची एबूलेंस -
पिपलिया गायत्री नगर निवासी अनिल उर्फ लल्ला को तबीयत बिगड़ने पर मंगलवार सुबह 6 बजे परिजन पिपलिया प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र लाए, जिसे मृत घोषित कर दिया और मौके पर तैनात स्टाफ ने कहा शव को पीएम के लिए मंदसौर ले जाओ। परिजनों का कहना था हमारे पास व्यवस्था नही है। शव कैसे ले जाए ? करीब तीन घंटे तक शव अस्पताल के बाहर स्टेªचर पर पड़ा रहा। सोशल मीडिया पर खबर वायरल हुई। इस दौरान मौके पर ब्लाक कांग्रेस अध्यक्ष अनिल शर्मा ने भी पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों से चर्चा कर एबूलेंस उपलब्ध कराने की मांग की। तीन घंटे बाद पिपलिया नगर परिषद् की एबूलेंस पहंुची। कुछ देर बाद चोकी के एएसआई एमएल वर्मा व डीएस पंवार भी पहंुचे और मृतक के परिजनों के बयान लिए, बाद में शव को एबूलेंस से मंदसौर रेफर किया। मंदसौर जिला अस्पताल में तीनों के शवों का दोपहर तक पीएम नही हो सका। यह खबर सोशल मीडिया पर वायरल होने के कुछ देर बाद तीनों के शव का पीएम किया, जिनका बाद में अंतिम संस्कार हुआ।
अस्पताल में चल रहा इलाज -
दो दिन पूर्व जहरीली शराब पीने के बाद बही पाश्र्वनाथ के चोकीदार भगतराम पिता मांगीलाल मेघवाल व पारस पिता रामनारायण पाटीदार को मंदसौर के निजी अस्पताल में व खंखराई निवासी पर्वतसिंह का मंदसौर जिला अस्पताल में उपचार जारी है। जिनकी हालत नाजुक है।
इनकी हो चुकी अभी तक मौत-
जहरीली शराब पीने से अब तक पिपलिया स्टेशन निवासी ब्रजेश गुर्जर, गोपाल नायक, अनिल कैथवास, गोर्धनसिंह राजपूत, खंखराई निवासी श्यामलाल मेघवाल, घनश्याम बावरी, मनोहर बागरी, गुड़भेली बड़ी निवासी रामप्रसाद गायरी, सिंदपन निवासी कंवरलाल बागरी, महागढ़ निवासी भागीरथ बागरी की मौत हो चुकी है। इसके अलावा भी गांवों में शराब पीने के बाद मौत होने की बात सामने आ रही है, लेकिन परिजन उनका पीएम नही करा पाए थे।  
जिला आबकारी अधिकारी को हटाया -
शराबकांड के बाद मंदसौर जिले के आबकारी अधिकारी सीपी सांवले को हटाए जाने की खबर है, उनके स्थान पर नीमच जिला आबकारी अधिकारी को प्रभार सौंपा गया है। उल्लेखनीय है कि पूर्व में आबकारी के उप निरीक्षक व पिपलिया पुलिस थाने के टीआई व उप निरीक्षक को निलंबित किया जा चुका है।
डीआईजी, कलेक्टर, एसपी करते रहे निर्देशित-
जहरीली शराब से लगातार हो रही मौतों के बाद रतलाम डीआईजी सुशांत सक्सेना, कलेक्टर मनोज पुष्प, एसपी सिद्धार्थ चैधरी मंगलवार सुबह से ही पिपलिया थाने पहंुच गए। यहां से वे लगातार दल-बल के साथ लैस, पुलिस अधिकारियों की गठित टीमों को सर्चिंग अभियान के लिए निर्देश देते रहे।

  गृह मंत्रालय ने बनाई 3 सदस्यीय जांच समितिरू-
मप्र गृह (पुलिस) विभाग मंत्रालय ने जहरीली शराब को लेकर तीन सदस्यीय जांच समिति बनाई है। जिसमें मंत्रालय के सचिव डी श्रीनिवास वर्मा ने जारी किए पत्र में इस समिति में गृह विभाग मंत्रालय के अपर मुख्य सचिव डाॅ. राजेश राजोरा, अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक जीपीसिंह, पुलिस महानिरीक्षक रेल एमएस सिकरवार को लिया।
----------------------------------------------
अवैध शराब का एक और ठिकाना ढहाया, हर ढाबे पर जांच
नाले में मिली बड़ी मात्रा में जहरीली शराब
मंदसौर जनसारंगी।
जहरीली शराब पीने से छह लोगों की मौत के बाद प्रदेश के मुखिया शिवराजसिंह चैहान ने अफसरों पर नजरे तरेरी तो घटना के तीसरे दिन पुलिस, प्रशासन और आबकारी विभाग के कार्रवाहीं के मैदान में पूरे दल-बल के साथ कूद पड़ा। इस दौरान अवैध शराब बेचे जाने का एक और ठिकाना ढहा दिया गया पिपलिया में कनघट्टी मार्ग एवं बरखेड़ापंथ ओवरब्रिज के नीचे स्थित करीब 4 ढ़ाबों को मशीन से नेस्तनाबूत किया।इसके साथ ही सड़क किनारे शराब बेचे जाने के मुख्य केन्द्र माने जाने वाले ढाबों पर भी चैकिंग अभियान चलाया गया। इस दौरान पुलिस को कोई खास सफलता तो हाथ नहीं लगी लेकिन सड़क किनारे नाले में लावारिसी में बड़ी मात्रा में अवैध शराब पुलिस को मिली है।
बताया जाता है कि जहरीली शराब से मौतों के बाद से पुलिस और प्रशासन ने कार्यवाहीं तो शुरू की थी लेकिन वह इतनी तेज नहीं थी कि अवैध शराब माफिया पुलिस की पकड में आ पाते लेकिन मंगलवार को जब सीएम शिवराजसिंह ने अफसरों पर नाराजगी जाहीर की तो पुलिस, प्रशासन और आबकारी पूरी तरह से सक्रिय होकर मैदान में कूद पड़ी। उज्जैन संभाग के आईजी योगेश देशमुख खुद पुलिस की कार्यवाहीं पर नजरे बनाऐ हुए थे। एएसपी अर्पित वर्मा की अगुवाई में बड़ी संख्या में पुलिस फोर्स अवैध शराब के अड्डों को तलाशने पहुंची। इस दौरान प्रशासन ने एक और अवैध शराब के ठिकाने को नेस्तनाबूत किया। इसके साथ ही मंदसौर, रतलाम और नीमच आबकारी का दल भी अवैध शराब की जांच में जूट गया। उधर पुलिस ने सीतामऊ थाना क्षेत्र के ग्राम पारसी में दबिश देकर आठ पेटी एमडी क्वार्टर, देशी सहित राजस्थान की अवैध शराब को बरामद किया। इसके अलावा पुलिस को कहीं भी बड़ी सफलता नहीं मिली लेकिन देर शाम पुलिस को पिपलियामंडी थाना क्षेत्र में पित्याखेड़ी और जयसिंह बरखेडा के बीच नाले में बड़ी मात्रा में अवैध जहरीली शराब मिली। इसमें देशी शराब के क्र्वाटर थे जो कट्टों में भरकर फेंके गऐ थे। हालांकि यह अवैध शराब किसने फैंकी इसकों लेकर कोई जानकारी पुलिस को नहीं मिल पाईं।





नकली शराब सप्लाय करने वालों तक नही पहंुच पाई पुलिस-
जहरीली शराब पीने से जिन गांवों में मौते हुई उन गांवों में प्रदेश कांग्रेस महामंत्री श्यामलाल जोकचन्द्र मंगलवार को पहंुचे। उन्होंने परिजनों व ग्रामीणों से चर्चा की। जोकचन्द्र ने आरोप लगाया पुलिस अभी तक यह पता नही लगा पाई कि जहरीली शराब कहां से आई और कौन सप्लाय करता है। अगर मादक पदार्थ पकड़ना होता तो पुलिस उसी समय पूरे खानदान का बायोडाटा निकाल लेती व पकड़ लाती। जोकचन्द्र ने आरोप लगाया पुलिस शराबकांड की आड़ में गरीब ढ़ाबे वालों को परेशान कर रही है व उनके ढ़ाबे तोड़ रही है। जबकि वास्तविता में इन ढ़ाबों पर जहरीली शराब कौन सप्लाय कर रहा था, उस पर कार्रवाई होना थी। जोकचन्द्र ने आरोप लगाया पिछले 10-12 सालों में शराब माफिया करोड़ों रुपए कमाकर राजनीति में हावी हो चुके है और प्रशासन को दबाने का काम कर रहे है। जोकचन्द्र ने यह भी बताया कि प्रशासन जहरीली शराब से बीमार हुए लोगों का इलाज भी नही करवा पा रहा है। उन्हें निजी अस्पताल में इलाज कराना पड़ रहा है। सिद्धि विनायक अस्पताल में एक-एक मरीज के उपर करीब 1-1 लाख रुपए खर्च हो गया है। सभी गरीब परिवार है। आयुष्मान कार्ड होने के बावजूद भी उन्हें निःशुल्क इलाज नही मिल पा रहा है। इससे साफ है कि प्रशासन व शासन पूरी तरह लापरवाह व उदासीन बना हुआ है। मरीजों के परिजन कर्ज लेकर उपचार करवा रहे है। जोकचन्द्र ने कलेक्टर मनोज पुष्प चर्चा कर मरीजों का मुफ्त इलाज कराने की मांग की है।
पूर्व सीएम व पीसीसी अध्यक्ष ने फिर घेरा सरकार को -
शराबकांड को लेकर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने फिर मप्र सरकार को घेरा, उन्होंने मंगलवार को ट्विटर पर एक के बाद एक तीन ट्वीट किए। पहले ट्विट में उन्होंने लिखा मप्र के आबकारी मंत्री के विधानसभा क्षेत्र में जहरीली शराब से हुई मौतों का आंकड़ा बढ़ता ही जा रहा है। बड़े शर्म की बात है कि मौत के इन आंकड़ों को व घटना को ही दबाने-छुपाने का काम किया जा रहा है ? कमलनाथ ने दूसरे ट्विट में लिखा कि अभी तक किसी भी उच्च स्तरीय जांच की घोषणा नही, पीड़ित परिवार को अभी तक कोई मुआवजा व राहत नही, सरकार इस घटना पर अभी तक गंभीर नजर नही आ रही है ? अभी तक छोटे अधिकारियों पर ही दिखावटी कार्यवाही, वास्तविक दोषियों व माफियाओं को बचाने का पूरा प्रयास ? तीसरे ट्विट में लिखा पता नही माफियाओं को गाड़ने, टांगने की बात कहने वाले शराब माफियाओं व दोषियों को बचाने में क्यों लगे है ?
मंत्री देवड़ा ने ट्वीट कर कहा कांग्रेस कर रही राजनीति -
प्रदेश के वित्त व आबकारी मंत्री तथा मल्हारगढ़ विधानसभा क्षेत्र के विधायक जगदीश देवड़ा ने मंगलवार को किए ट्वीट में लिखा कि खंखराई में हुए घटनाक्रम के बाद शासन के निर्देश पर लगातार प्रशासनिक कार्रवाई जारी है। अवैध शराब की बिक्री को लेकर जीरो टाॅलरेंस की नीति है। अवैध शराब बनाने या बेचने वालों पर सख्त कार्रवाई होगी। हमारी संवेदनाएं पीड़ित परिवार के साथ है। दूसरे ट्वीट में देवड़ा ने लिखा आज जिला आबकारी अधिकारी मंदसौर को उनके पद से हटाते हुए उज्जैन अटैच किया गया है। इस संवेदनशील मामले में भी कांग्रेस राजनीति करने की कौशिश कर रही है। उन्हें पीड़ितों से सहानुभूति नही है। कांग्रेस द्वारा दुःखद मौत पर की जा रही राजनीति घृणित और निंदनीय है।
मुख्यमंत्री ने भी दिए निर्देश-
मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चैहान ने भी शराब से हो रही मौतों के बाद ट्विटर पर जानकारी दी। पहले ट्विट में उन्होंने लिखा आज गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा व वरिष्ठ अधिकारियों के साथ मंदसौर के पिपलियामंडी में हुई घटना के संबंध में आपात बैठक की और जहरीली शराब पीने से हुई नागरिकों की मृत्यु का संज्ञान लिया। दूसरे ट्विट में उन्होंने नाराजगी व्यक्त कर कुछ उच्च अधिकारियों को मंदसौर जाने के निर्देश दिए। उन्होंने दोषियों को न छोड़ने, एसी घटनाओं को रोकने के लिए कड़े कानून बनाने और पड़ोसी राज्यों के सीमावर्ती जिलों से आ रही जहरीली शराब की रोकथाम के भी निर्देश दिए।


जहरीली शराब बनाने और बेचने को संगीन अपराध की श्रेणी में रखा जाए-मुख्यमंत्रीरू-
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान ने कहा है कि जहरीली शराब से मौत, हत्या से कम नहीं है। जहरीली शराब बनाने और बेचने को संगीन अपराध की श्रेणी में रखा जाए और कठोरतम दंड की व्यवस्था की जाए। इस संबंध में कानून में आवश्यक संशोधन किए जाए। संपूर्ण प्रदेश में अवैध मदिरा के विरुद्ध तत्काल प्रभाव से अभियान शुरू किया जाए। मंदसौर के ग्राम खंखराई में हुई घटना के दोषियों को किसी भी हालत में बख्शा नहीं जाए। अपर मुख्य सचिव गृह डॉ. राजेश राजौरा संपूर्ण प्रकरण की जाँच कर तत्काल रिपोर्ट प्रस्तुत करें। मुख्यमंत्री ने आज मंत्रालय में अवैध शराब की रोकथाम के संबंध में आयोजित बैठक को संबोधित कर रहे थे। बैठक में गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा, वाणिज्यिक कर एवं वित्त मंत्री जगदीश देवड़ा, मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस, पुलिस महानिदेशक विवेक जौहरी, अपर मुख्य सचिव गृह डॉ. राजेश राजौरा और प्रमुख सचिव वाणिज्यिक कर श्रीमती दीपाली रस्तोगी उपस्थित थे। मुख्यमंत्री चैहान ने अवैध शराब के उत्पादन और व्यापार पर नियंत्रण के उपायों पर कार्य-योजना बनाने के निर्देश दिए। प्रदेश में राज्य औद्योगिक सुरक्षा बल का उपयोग अवैध शराब के व्यवसाय को रोकने के संबंध में भी बैठक में विचार-विमर्श हुआ। बैठक में ग्राम खंखराई में हुई घटना के संबंध में की गई कार्रवाई के बारे में जानकारी ली गई। बैठक में बताया गया कि थाना प्रभारी पिपलिया मण्डी, कार्यवाहक उप निरीक्षक और आबकारी उप निरीक्षक को निलंबित कर दिया गया है।
प्रदेश कांग्रेस द्वारा गठित कमेटी जहरीली शराब से मृतकांे के परिजनो के बीच पहुंचीरू-
मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी द्वारा मल्हारगढ विधानसभा के खंखराई, गुडभेली, पिपलिया, सिंदपन पहुंचकर जहरीली शराब के कारण असमय मौत का शिकार हुए मृतकांे के परिजनो के बीच पहुंचकर उन्हें पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ की ओर से पूरा सहयोग का भरोसा दिलाते हुये मृतकों के परिजनो से घटना की विस्तृत जानकारी प्राप्त की। कमेटी के सदस्य जिला कांग्रेस अध्यक्ष नवकृष्ण पाटील, राजकुमार अहीर, उमरावसिंह गुर्जर ने ग्राम खंखराई, गुडभेली बड़ी, पिपलिया, सिंदपन ग्राम पहुंच जहरीली शराब कांड के तह तक पहुंचने का प्रयास करते हुए शिवराजसिंह चैहान सरकार से मृतकों के परिजनो को अविलंब सहायता एवं दोषियों पर कार्यवाही की मांग की।
डीआईसी सक्सेना से पिपलिया थाने में की मुलाकात-
पीसीसी द्वारा गठित समिति के सदस्यों के साथ ही कांग्रेसजनो ने पिपलिया थाने में जिला पुलिस अधीक्षक सिध्दार्थ चैधरी, कलेक्टर मनोज पुष्प एवं अन्य अधिकारियों के साथ बैठक ले रहे डीआईजी सक्सेना से मुलाकात कर घटना के सभी आरोपियों पर कडी कार्यवाही करने की मांग की। पाटील, अहीर एवं गुर्जर ने लगातार बढ रही मृतकों की संख्या पर आश्चर्य प्रकट करते हुए अब तक पुलिस कार्यवाही की जानकारी मांगी। इस दौरान डीआईजी सक्सेना ने जहरीली शराब कांड के सभी आरोपियों पर कठोर कार्यवाही का भरोसा दिलाया।
लायसेंसी शराब पीने के बावजूद मृत्यु होने का दावारू-
ग्राम गुडभेली में घटना में मृतक के घर पहुंचकर परिजनों से विस्तृत चर्चा की। इस दौरान मृतक के परिजनांे ने बताया की शराब लायसेंसी ठेकेदार के यहां से ही ली गयी थी। शराब पीने के उपरांत रात्रि में बेचेनी हुई, अस्पताल ले जाने के पूर्व दिखना बंद हो गया था। मौत के उपरांत जिला चिकित्सालय में मौके पर ड्यूटी दे रहे डाॅक्टरो ने पाईजन फैल जाने के कारण मौत बोल दिया। हमारे द्वारा पीएम करवाने का आग्रह करने के बावजूद उन्होनें मना कर दिया।
ग्राम खंखराई में कई जगह बिकती है अवैध शराबरू-
प्रदेश कांग्रेस कमेटी द्वारा नियुक्त कमेटी के मेम्बरो ने ग्राम खंखराई में मृतक श्यामलाल पिता मोडीराम, घनश्याम पिता रायसिंह बावरी एवं मनोहर पिता लक्ष्मण बागरी के घर पहुंचे। इस दौरान मृतकांे के परिजनांे एवं ग्रामवासियों ने ग्राम मे अनेक जगह अवैध शराब विक्रय होेने का दावा करते हुए मात्र एक पर कार्यवाही होने की बात कही। इस दौरान ग्रामवासियांे ने जांच दल के सदस्यों के समक्ष अपनी पीडा व्यक्त करते हुए न्याय की गुहार लगाई।
सिंदपन में विकलांग की हुई मौत, पत्नि भी विकलांग, तीन बालिकाये हुई अनाथरू-
जांच दल के सदस्यांे ने जब ग्राम सिंदपन में कंवरलाल बागरी के निवास पर पहुंचे तो मृतक कंवरलाल के घर के हालात काफी मार्मिक थे। कंवरलाल स्वयं विकलांग था। उसकी मौत के उपरांत उसकी पत्नि एवं माॅ ही शेष बची है। पत्नि विकलांग होेने के कारण कार्य करने मे असमर्थ है ऐसे हालातों में तीन मासूम बच्चियों की देखभाल की चिंता बूढी माॅ के चेहरे पर साफ दिखायी दी। इस दौरान कांग्रेसजनो ने पूरी मदद परिवार की करने का भरोसा दिलाते हुए सरकार पर दबाव बनाकर परिवारांे को उचित राशि दिलवाने का भरोसा दिलाया।
लंबे समय से बिक रही है अवैध शराब, आबकारी मंत्री के क्षेत्र में सरकार सोई हुई हैरू-
जांच दल के सदस्यों ने मृतक परिवारों के बीच पहुुंचने के दौरान उपस्थित मीडियाकर्मियो से चर्चा करते हुए कहा कि आबकारी मंत्री जगदीश देवडा के क्षेत्र में लंबे समय से अवैध शराब का विक्रय हो रहा है लेकिन सबकुछ पुलिस एवं आबकारी विभाग को मालूम होने के बावजूद कार्यवाही नही हुई। उन्होनें सरकार के सोई रहने का दावा करते हुए कहा कि पूरा मल्हारगढ विधानसभा अवैध शराब का गढ बन चुकी है। राजस्थान की सीमा के अलाव अन्य कई क्षेत्रांे से अवैध शराब का विक्रय हो रहा है। घटना में अवैध शराब के विक्रेताओं के साथ ही लायसेंसी ठेकेदारों के यहां से शराब लेने के बावजूद हुई मौत का हवाला देते हुए उन पर भी कार्यवाही करने की मांग की।
जिला चिकित्सालय एवं सिध्दी विनायक पहुंच बीमार व्यक्तियो से की चचार्रू-
जांच दल के सदस्य एवं जिला कांग्रेस अध्यक्ष नवकृष्ण पाटील, प्रदेश कांग्रेस महामंत्री श्यामलाल जोकचन्द्र, ब्लाक कांग्रेस अध्यक्ष अनिल शर्मा ने कांग्रेसजनो के साथ जिला चिकित्सालय एवं सिध्दी विनायक अस्पताल पहुंचकर जहरीली शराब के सेवन के कारण बीमार हुए नागरिको से चर्चा की। इस दौरान बीमार व्यक्तियो ने घटना की पूरी जानकारी कांग्रेसजनो को उपलब्ध करवाई।
ये रहे मौजूदरू-
जंच दल के साथ प्रदेश कांग्रेस महामंत्री श्यामलाल जोकचंद्र, कमलेश पटेल, परशुराम सिसौदिया, अजहर हयात मेव,  अनिल बोराना, अनिल शर्मा, सुरेश भाटी, राजेश भारतीय, संदीप सलोद, मनजीतसिंह मनी, विजेश मालेचा, सरफराज मेव, भूपेन्द्र महावर, मानसिंह चैहान, दिनेश कोठारी, मनोहर सोनी, अजय श्रीमाल, आशीष चावडा, गोपाल जोकचंद्र सहित अनेक कांग्रेसजन भी उपस्थित थे।
---------

हर थाने ने पकड़ी शराब
खंखराई घटना के बाद हर थाना पुलिस ने अवैध शराब के खिलाफ कार्रवाई की है। कोतवाली पुलिस ने बताया कि शिवलाल पिता मुकुनलाल निवासी हनुमंतिया को तीन लीटर शराब के साथ नेहरु बस स्टैंड के पिछे से पकड़ा है। वायडी नगर पुलिस ने बताया कि सुनील पिता गोर्वधनलाल निवासी माल्याखेडी को १८ क्वाटर शराब के साथ पकड़ा गया है। इसी तरह से १८ क्वाटर शराब के साथ अंबालाल पिता कन्हैयालाल निवासी साबाखेडा को गिरफ्तार किया गया है। नई आबादी पुलिस ने कमलेश पिता मोहनलाल निवासी हिंगोरिया को १८ क्वाटर शराब के साथ रजवाडी ढाबे के सामने से पकड़ा है। दलौदा पुलिस ने बताया कि जीतेंद्र पिता शोभाराम निवासी दलौदा को बीस क्वाटर शराब के साथ स्टील फैक्टरी के सामने से गिरफ्तार किया गया है। दलौदा पुलिस ने बताया कि भावगढ फंटा से बलवंत पिता देवीसिंह निवासी टाकेडा को १८ क्वाटर शराब के साथ गिरफ्तार किया गया है। १५ क्वाटर शराब के साथ अंतरसिंह पिता मनोहरसिंह निवासी मंगरोला को मंगरोला जवासिया रोड से पकड़ा है। १२ क्वाटर बियर और तीन बियर के साथ गुराडिया फंटा से अरविंद पिता तुलसीराम निवासी अरनौद जिला प्रतापगढ को गिरफ्तार किया है। भावगढ पुलिस ने बताया कि कमल पिता देवराम निवासी गरोडा को ताजखेडी गरोडा रोड से १६ क्वाटर शराब के साथ गिरफ्तार किया है। १९ क्वाअर शराब क ेसाथ बनी धंधोडा के बीच से दशरथ पिता कन्हैयालाल निवासी बनी को गिरफ्तार किया है। नाहरगढ पुलिस ने बताया कि राकेश पिता उत्तम निवासी निरधारी को निरधारी से तीस लीटर कच्ची शराब के साथ गिरफ्तार किया है। पद्रह क्वाटर शराब के साथ नाहरगढ पुलिस ने गारियाखेडा फंटा से भैरुलाल पिता प्रहलाद निवासी शक्करखेडी को गिरफ्तार किया है।  इसके अलावा भी अन्य सभी थाना पुलिस ने कार्रवाई की है।

Chania