Sunday, February 25th, 2024 Login Here
गरीब के जीवन से कष्टों को मिटाना प्रदेश सरकार का लक्ष्य-डॉ यादव चिकित्सक पर हुई कार्रवाहीं का डाक्टरों व सिंधी समाज ने किया विरोध किरायेदारों से अनजान पुलिस, मकान मालिक भी लापरवाह नवनिर्वाचित राज्यसभा सांसद बंशीलाल जी गुर्जर का मंदसोर शहर में होगा भव्य स्वागत ट्रक में लहसुन के नीचे छुपाकर रख 1031 किलो डोडाचूरा जब्त, ड्राइवर गिरफ्तार मुख्‍यमंत्री डॉ.मोहन यादव आज नीमच में 752 करोड से अधिक के कार्यो का लोकार्पण एवं भूमिपूजन करेंगे 36 घंटे में पुलिस ने किया अन्तरॉज्जीय लूटेरों को गिरफ्तार मदिरा दुकानों के नवीनीकरण आवेदन 22 फरवरी तक करें पांच साल के इंतजार के बाद आज से मंदसौर में प्रारंभ होगा पासपोर्ट कार्यालय मध्यप्रदेश से राज्यसभा के पांचों प्रत्याशी निर्विरोध निर्वाचित; 4 सीट बीजेपी, एक कांग्रेस के खाते में 133 किमी लंबे मार्ग में 14 किमी लंबा दूसरा रेलवे ट्रैक तैयार साँप भगाने के लिए टैंक में पेट्रोल डाला, तीली जलाते ही धमाका हुआ, दम्पत्ति झुलसे नदियॉ को छलनी करने का खेल चल रहा,माफियाओं पर नही लग पा रही नकेल सिंगिग स्टार बनने के चक्कर मे लोग हो रहे शिकार संसद रत्न पुरस्कार से सम्मानित होने वाले सांसदों को राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति ने बधाई दी
जनसारंगी न्यूज
मंदसौर। भारत सरकार द्वारा स्वास्थ्य सेवाओ के उच्चतम गुणवत्ता स्तर के मापदंड की कसौटी पर जिला चिकित्सालय मंदसौर की स्वास्थ्य सेवाओं ने  छफ।ै मानक के 19 विभागों में से 11 के लिए अपनी तैयारी पूर्ण कर उच्च स्तर पर भेजी थी जिसको मानक स्तर पर जांचने और कार्य गुणवत्ताा का आंकलन करने हेतु माह सितम्बर में भारत सरकार के द्वारा गठित 3 राष्ट¬ीय पर्यवेक्षकों का सदस्यीय दल आया था। जिनके द्वारा 11 विभागों को बिंदुवार 100 अंको के मानक स्तर पर देखा गया, कार्य व्यवस्था को लेकर स्टाफ के साथ जानकारी ली गई, रिकार्ड चेक करे गए, सभी तरह की पालिसी का अवलोकन किया गया। आम जन और भर्ती मरीजों से अस्पताल की सेवा कार्य के बारे में सवाल किए जाकर जानकारी ली गई साथ ही अन्य भौतिक सत्यापन किए गए।
कड़े मापदंडों पर खरे उतरते हुए 11 विभागों में 70 से ऊपर अंक हासिल किए गए जिसका परिणाम यह रहा कि जिला चिकित्सालय मंदसौर को 90 प्रतिशत अंको के साथ नेशनल क्वालिटी एश्योरेंस स्टैंडर्ड प्रमाण पत्र प्राप्त हुआ है।
इस उपलब्धि के साथ ही जिला चिकित्सालय को लगातार 3 वर्ष तक तकरीबन 5 हजार की राशि प्रति बेड प्रति वर्ष के अनुसार प्राप्त होगी जिससे जिला अस्पताल की कार्य गुणवत्ताा को बनाए रखने के साथ ही नई नई सेवाओ को आमजन को प्रदाय करने में काफी मदद मिलेगी।
उल्लेखनीय है की राष्ट¬ीय स्तर पर जिला चिकित्सालय मंदसौर अब उन अस्पतालों की सूची में शामिल हो गया है जहां सुरक्षित प्रसव और उच्च गुणवत्ताा की मातृत्व सुरक्षा का लक्ष्य दक्षता का प्रमाण पत्र भी है और छफ।ै प्रमाणित होने का प्रमाण पत्र भी है।
जिला चिकित्सालय का लोकार्पण 26 जनवरी 1956 को हुआ और निरंतर सुधार की प्रक्रिया को बनाए रखते हुए वर्ष 2023 में इस राष्ट¬ीय स्तर के प्रमाण पत्र तक पहुंचना आसान नही था किंतु टीम के लगातार प्रयास और सबके समर्पण भाव से यह उपलब्धि प्राप्त हुई है जिसका श्रेय  सिविल सर्जन डा डी के शर्मा ने अपनी पूरी टीम और जिला प्रशासन के सतत सहयोग और मार्गदर्शन को दिया है।

Chania