Sunday, March 3rd, 2024 Login Here
मंदसौर संसदीय क्षेत्र से सुधीर गुप्ता को मिला टिकीट सेवा कार्यो में उत्कृष्ट कार्य को लेकर रेडक्रॉस सोसायटी जिला शाखा मंदसौर को मिला अवार्ड बांछड़ा डेरों पर पुलिस की दबिश, भारी मात्रा में अवैध शराब जप्त प्रतिवेदन पेश नहीं करने पर नपा सीएमओं के खिलाफ पांच हजार का जमानती वारंट जारी सूदखोरों से परेशान होकर की आत्महत्या, पिता के मृत्युभोज के लिए लिया था पैसा मंत्री सारंग ने की वन-टू-वन चर्चा, कहा 6 लाख वोट से भाजपा को जिताने का संकल्प ले लोकसभा चुनाव - भाजपा के 155 उम्मीदवारों की सूची आज घोषित होने की संभावना स्वास्थ्य के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले 200 से अधिक प्रतिनिधि को राष्ट्रीय अवॉर्ड से सम्मानित किया भैरव घाटी पर सड़क हादसा, एक की दर्दनाक मौत दो कारों की आमने-सामने भिडन्त, कॉन्स्टेबल की मौत मानपुरा में ग्रामीण के घर, बाड़े व स्विफ्ट कार से 63 किलो से अधिक अफीम जब्त सुपर पॉवर बनने की दिशा में तीन सेमीकंडक्टर, 1.26 लाख करोड़ के प्लांट को सरकार की मंजूरी 8 महिने बाद खाटु श्याम बाबा के मंदिर में प्रवेश कर भक्तों ने किए दर्शन 15 मिनिट में एक लाख का साउंड सिस्टम चुराने वाला बदमाश सीसीटीवी से पकडाया प्रधानमंत्री ने किया वर्चुअल भूमिपूजन, मंदसौर में 99.14 करोड़ की लागत से 18 महीने में तैयार होगा औद्योगिक पार्क
कलेक्टर को लिखा पत्र बच्चे को टीसी दिलाने में किं जाये मदद
मन्दसौर।
मन्दसौर जिले के दलौदा में दलौदा पब्लिक स्कूल में फीस के अभाव में बच्चे की टीसी के लिए परेशान किया जा रहा था जिससे बच्चे का भविष्य भी खराब हो रहा था ऐसे में बच्चे के भविष्य को लेकर परेशान महिला ने पूर्व विधायक यशपालसिंह सिसोदिया से मदद की गुहार लगाई जिस पर तत्काल कलेक्टर दिलीप कुमार यादव को पत्र लिखा और बच्चे की मदद के लिये आग्रह किया। जिसके बाद कलेक्टर ने मदद का आश्वासन दिया।
पूर्व विधायक यशपालसिंह सिसोदिया ने कलेक्टर को लिखे पत्र में बताया कि श्रीमती मनीषा पति स्व. रूपेश पाल निवासी दलौदा के द्वारा  आग्रह किया है कि इनके दोनो बेटे अतुल पाल एवं  उमंग पाल जो कि दलौदा पब्लिक स्कूल में कक्षा कमशः 8वी तथा 5वी मे निरंतर पढ रहे है पिछले 2 वर्षो से विद्यालय मे फीस को लेकर बच्चो को 1 वर्ष परीक्षा मे बैठने भी नही दिया गया जिससे उनका एक साल बर्बाद हो गया, कोरोनाकाल मे दोनो बेटे से ऑनलाईन पढाई के नाम पर पूरी फीस ली गई, आवेदिका ने बताया कि इनका परिवार आर्थिक रूप से कमजोर है विद्यालय प्रबंधन की असंवेदनशीलता एवं हठधर्मिता के कारण मुझे सहयोग नही मिल पाया मैने मन बना लिया है कि मेरे दोनो बेटो को इस विद्यालय से निकालकर दूसरे विद्यालय में दाखिला करवा लिया है लेकिन प्रबंधन मेरे दोनो बेटो की बकाया फीस के नाम पर टी.सी. नही दे रहे है मैने उनसे यह भी आग्रह किया है कि मैं बकाया शुल्क को टुकडे-टुकडे मे किश्त के रूप मे राशि जमा कर दूंगी लेकिन विद्यालय प्रबंधन मेरी यह बात अस्वीकार कर रहें है।
महिला मानसिक रूप से परेशान हो रही है तथा राशि 5000 रूपये लेकर विद्यालय गई थी लेकिन उन्होने इंकार कर दिया, मनीषा  का कहना है कि उनको टी. सी. हर हाल मे दिनांक 03 फरवरी 2024 को प्रातःकाल चाहियेगी क्योकि उनके दोनो बेटो की बोर्ड की परीक्षा के लिये दोपहर 03 बजे तक दूसरे विद्यालय मे टी.सी. जमा कराना अनिवार्य है अन्यथा उनके बेटे परीक्षा मे नही बैठ पायेगें।
श्री सिसोदिया ने कलेक्टर से श्रीमती मनीषा पाल को उनके दोनो बच्चो की टी.सी. मिल जाये इस आशय के निर्देश आप जिला शिक्षा अधिकारी/विद्यालय प्रबंधन को प्रदान करने का आग्रह किया जिस पर कलेक्टर ने मदद  का आश्वासन दिया और जिला शिक्षा अधिकारी को निर्देश   दिए। उन्होंने पूर्व विधायक सिसोदिया को भरोसा दिलाया कि बच्चे की पूरी मदद की जाएगी।

Chania