Sunday, March 3rd, 2024 Login Here
मंदसौर संसदीय क्षेत्र से सुधीर गुप्ता को मिला टिकीट सेवा कार्यो में उत्कृष्ट कार्य को लेकर रेडक्रॉस सोसायटी जिला शाखा मंदसौर को मिला अवार्ड बांछड़ा डेरों पर पुलिस की दबिश, भारी मात्रा में अवैध शराब जप्त प्रतिवेदन पेश नहीं करने पर नपा सीएमओं के खिलाफ पांच हजार का जमानती वारंट जारी सूदखोरों से परेशान होकर की आत्महत्या, पिता के मृत्युभोज के लिए लिया था पैसा मंत्री सारंग ने की वन-टू-वन चर्चा, कहा 6 लाख वोट से भाजपा को जिताने का संकल्प ले लोकसभा चुनाव - भाजपा के 155 उम्मीदवारों की सूची आज घोषित होने की संभावना स्वास्थ्य के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले 200 से अधिक प्रतिनिधि को राष्ट्रीय अवॉर्ड से सम्मानित किया भैरव घाटी पर सड़क हादसा, एक की दर्दनाक मौत दो कारों की आमने-सामने भिडन्त, कॉन्स्टेबल की मौत मानपुरा में ग्रामीण के घर, बाड़े व स्विफ्ट कार से 63 किलो से अधिक अफीम जब्त सुपर पॉवर बनने की दिशा में तीन सेमीकंडक्टर, 1.26 लाख करोड़ के प्लांट को सरकार की मंजूरी 8 महिने बाद खाटु श्याम बाबा के मंदिर में प्रवेश कर भक्तों ने किए दर्शन 15 मिनिट में एक लाख का साउंड सिस्टम चुराने वाला बदमाश सीसीटीवी से पकडाया प्रधानमंत्री ने किया वर्चुअल भूमिपूजन, मंदसौर में 99.14 करोड़ की लागत से 18 महीने में तैयार होगा औद्योगिक पार्क

म.प्र. को मिला यू.एस.ए. का गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड
भोपाल /गृह मंत्री श्री बाला बच्चन ने कहा है कि अपराधियों को सजा दिलाने में मध्यप्रदेश अब देश का अग्रणी राज्य बन गया है। इस उपलब्धि के लिये अमेरिका की संस्था 'गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड' द्वारा प्रदेश को देश के प्रथम पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। गृह मंत्री श्री बच्चन ने संचालक लोक अभियोजन श्री राजेन्द्र कुमार को पुलिस प्रशिक्षण एवं शोध संस्था में यह पुरस्कार सौंपा।
गृह मंत्री श्री बच्चन ने कहा कि प्रदेश में बेहतर कानून-व्यवस्था के लिए आवश्यक है कि पुलिस द्वारा अपराधियों के विरूद्ध तत्परता से कार्यवाही की जाये और अभियोजन अधिकारी उन्हें सजा दिलाने में सजगता बरतें। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश में इन दोनों पक्ष में बेहतर समन्वय है। तभी प्रदेश के अभियोजन अधिकारी वर्ष 2018 में 21 प्रकरण में केपिटल पनिशमेंट (फाँसी की सजा) कराने में सफल हुई है। उन्होंने इस सफलता के लिए अधिकारियों को बधाई दी और राज्य सरकार की ओर से सभी आवश्यक संसाधन सुविधाएँ मुहैया करवाने का आश्वासन दिया।
संचालक लोक अभियोजन राजेन्द्र कुमार ने बताया कि मध्यप्रदेश देश का पहला राज्य है जहाँ लोक अभियोजन अधिकारियों के कार्य का मूल्यांकन 'एप' के जरिये प्रतिदिन, प्रतिमाह और प्रतिवर्ष किया जाता है। एप के आधार पर ही प्रदेश में पहली बार सर्वोत्तम कार्य करने वाले अधिकारियों को विभिन्न पुरस्कार से सम्मानित किया गया हैं।
सम्मानित अधिकारी
लोक अभियोजन वार्षिक पुरस्कार 2018 में अभियोजन गौरव का पुरस्कार - श्रीमती अनीता भरतिया, अमित कुमार शुक्ला, श्रीमती मौसमी तिवारी और उदयभान रधुवंशी को दिया गया। सर्वोत्तम उप संचालक अभियोजन जिले का पुरस्कार श्याम लाल कोष्टा (सतना), जगपाल सिंह तोमर (खरगोन) सहायक लोक अभियोजन अधिकारियों में श्रीमती ज्योति गुप्ता (इंदौर), सीमा शर्मा (रतमाल), डॉ. रश्मि वेवम शर्मा (मुरैना) सहित 14 मास्टर ट्रेनर को पुरस्कृत किया गया।
Chania