Sunday, March 3rd, 2024 Login Here
मंदसौर संसदीय क्षेत्र से सुधीर गुप्ता को मिला टिकीट सेवा कार्यो में उत्कृष्ट कार्य को लेकर रेडक्रॉस सोसायटी जिला शाखा मंदसौर को मिला अवार्ड बांछड़ा डेरों पर पुलिस की दबिश, भारी मात्रा में अवैध शराब जप्त प्रतिवेदन पेश नहीं करने पर नपा सीएमओं के खिलाफ पांच हजार का जमानती वारंट जारी सूदखोरों से परेशान होकर की आत्महत्या, पिता के मृत्युभोज के लिए लिया था पैसा मंत्री सारंग ने की वन-टू-वन चर्चा, कहा 6 लाख वोट से भाजपा को जिताने का संकल्प ले लोकसभा चुनाव - भाजपा के 155 उम्मीदवारों की सूची आज घोषित होने की संभावना स्वास्थ्य के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले 200 से अधिक प्रतिनिधि को राष्ट्रीय अवॉर्ड से सम्मानित किया भैरव घाटी पर सड़क हादसा, एक की दर्दनाक मौत दो कारों की आमने-सामने भिडन्त, कॉन्स्टेबल की मौत मानपुरा में ग्रामीण के घर, बाड़े व स्विफ्ट कार से 63 किलो से अधिक अफीम जब्त सुपर पॉवर बनने की दिशा में तीन सेमीकंडक्टर, 1.26 लाख करोड़ के प्लांट को सरकार की मंजूरी 8 महिने बाद खाटु श्याम बाबा के मंदिर में प्रवेश कर भक्तों ने किए दर्शन 15 मिनिट में एक लाख का साउंड सिस्टम चुराने वाला बदमाश सीसीटीवी से पकडाया प्रधानमंत्री ने किया वर्चुअल भूमिपूजन, मंदसौर में 99.14 करोड़ की लागत से 18 महीने में तैयार होगा औद्योगिक पार्क

 (जेपी तेलकार)
 नगर परिषद् में कार्यरत सफाई कर्मचारी अनिल पिता कैलाश राठौर ने गुरुवार को नप में पदस्थ सफाई दरोगा व लेखापाल से विवाद का कारण बताकर जहरीला पदार्थ खा लिया, इससे आक्रोशित परिजनों ने नगर परिषद् कार्यालय में घुसकर पत्थरों से तोड़फोड़ की, सूचना पर पुलिस पहंुची व पंचनामा बनाया। विषाक्त पदार्थ गटकने वाले कर्मचारी को मंदसौर जिला अस्पताल भर्ती कराया। जानकारी के अनुसार यहां हरिजन मोहल्ला निवासी अनिल (27) पिता कैलाश राठौर ने दोपहर 12.30 बजे करीब नगर परिषद् कार्यालय में जहरीला पदार्थ गटक लिया व घर पहंुच गया। अनिल के भाई अजय ने बताया कि अनिल विषाक्त पदार्थ गटकने के बाद घर पहंुचा, चक्कर आने पर पत्नी रानी उसे अस्पताल ले जा रही थी, इसी दौरान उसने घर पर इसकी सूचना दी कि नगर परिषद् में दरौगा व लेखापाल से विवाद के चलते उसने जहरीला पदार्थ गटक लिया है। अनिल को मंदसौर जिला अस्पताल भर्ती कराया।
नगर परिषद् में की तोड़फोड़:-
कीटनाशक पीने की घटना से आक्रोशित अनिल के परिजनों ने नगर परिषद् कार्यालय पहंुच हंगामा किया, यहां कुर्सियां, टेबल, एलसीडी, पिं्रटर, सीपीयू, कांच आदि तोड-़फोड़ दिए। करीब बीस मिनट तक तोड़-फोड़ के बाद पुलिस मौके पहंुची, तब तक तोड़-फोड़ करने वाले निकल चुके थे। बाद में पुलिस ने पंचनामा बनाया।
सफाई के पद पर था कार्यरत, कुछ दिनों से ऑफिस में था अटैच:-
जानकारी के अनुसार अनिल सफाई कर्मचारी के रुप में कार्यरत था, लेकिन दरौगा से विवाद के बाद उसे करीब एक माह से नगर परिषद् कार्यालय में अटेच किया था। लेकिन गुरुवार को उसने अचानक जहरीला पदार्थ खा लिया ?
इनका कहना:-
विषाक्त पीने वाले कर्मचारी अनिल ने पुलिस को दिए बयान में बताया मुझे स्वच्छता पर्यवेक्षक (दरौगा) मुकेश राठौर व एकाउंटंेड (लेखापाल) चन्द्रप्रकाश अग्रवाल रोज परेशान करते है, इसी कारण जहरीला पदार्थ पीया।
दरौगा मुकेश राठौर का कहना है पिछले एक माह से मैंने अनिल को कोई कार्य नही बताया, नप में मेरी शिकायत करने के बाद उसे कार्यालय में ही अटैच कर रखा है, पिछले दो दिन से अहमदाबाद में हंू।
लेखापाल चन्द्रप्रकाश अग्रवाल का कहना है मेरा उक्त घटनाक्रम से मेरा कोई लेना-देना नही है। मैंने अनिल को परेशान नही किया है, मेरा उससे कोई विवाद भी नही हुआ, आरोप गलत है।
सीएमओ नाहरसिंह यादव ने बताया करीब एक दर्जन महिला-पुरुष ने नप में घुसकर तोड़फोड़ की, पुलिस को सीसीटीवी फुटेज उपलब्ध करा दिए है व शिकायत दर्ज कराई है। कर्मचारी ने जहर खाया मुझे इसकी जानकारी नही।
नगर परिषद् अध्यक्ष राजेन्द्र भारद्वाज का कहना है जो भी हुआ गलत है, अनिल के परिजनों ने तोड़फोड़ की है, इसको लेकर थाने में शिकायत दर्ज कराई है।
मामले की जांच कर रहे पुलिस चौकी एएसआई एमएल वर्मा ने बताया अस्पताल में भर्ती अनिल के बयान लिए है, जिसमें उसने दरौगा व एकाउंटटेड द्वारा परेशान होने की बात कही है। फिलहाल मामला जांच में है। विवेचना के बाद शीघ्र कार्रवाई की जाएगी।
Chania