Sunday, March 3rd, 2024 Login Here
मंदसौर संसदीय क्षेत्र से सुधीर गुप्ता को मिला टिकीट सेवा कार्यो में उत्कृष्ट कार्य को लेकर रेडक्रॉस सोसायटी जिला शाखा मंदसौर को मिला अवार्ड बांछड़ा डेरों पर पुलिस की दबिश, भारी मात्रा में अवैध शराब जप्त प्रतिवेदन पेश नहीं करने पर नपा सीएमओं के खिलाफ पांच हजार का जमानती वारंट जारी सूदखोरों से परेशान होकर की आत्महत्या, पिता के मृत्युभोज के लिए लिया था पैसा मंत्री सारंग ने की वन-टू-वन चर्चा, कहा 6 लाख वोट से भाजपा को जिताने का संकल्प ले लोकसभा चुनाव - भाजपा के 155 उम्मीदवारों की सूची आज घोषित होने की संभावना स्वास्थ्य के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले 200 से अधिक प्रतिनिधि को राष्ट्रीय अवॉर्ड से सम्मानित किया भैरव घाटी पर सड़क हादसा, एक की दर्दनाक मौत दो कारों की आमने-सामने भिडन्त, कॉन्स्टेबल की मौत मानपुरा में ग्रामीण के घर, बाड़े व स्विफ्ट कार से 63 किलो से अधिक अफीम जब्त सुपर पॉवर बनने की दिशा में तीन सेमीकंडक्टर, 1.26 लाख करोड़ के प्लांट को सरकार की मंजूरी 8 महिने बाद खाटु श्याम बाबा के मंदिर में प्रवेश कर भक्तों ने किए दर्शन 15 मिनिट में एक लाख का साउंड सिस्टम चुराने वाला बदमाश सीसीटीवी से पकडाया प्रधानमंत्री ने किया वर्चुअल भूमिपूजन, मंदसौर में 99.14 करोड़ की लागत से 18 महीने में तैयार होगा औद्योगिक पार्क


भोपाल। एग्जिट पोल आने के बाद से ही मध्य प्रदेश की सियासत गरमा गई है। एक तरफ भाजपा कमलनाथ सरकार के गिरने की बात बार-बार बोल रही है, तो वहीं कांग्रेस हर तरह की चुनौती से निपटने को तैयार है। इस बीच प्रदेश सरकार के कानून मंत्री पीसी शर्मा का बड़ा बयान आया है। आज उन्होंने भोपाल में कहा कि, प्रदेश सरकार देवास के संघ प्रचारक सुनील जोशी हत्याकांड की फाइल फिर से खोलेगी। कानून मंत्री ने कहा कि, "जिस तरह भोपाल लोकसभा सीट से भाजपा उम्मीदवार साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने शहीद हेमंत करकरे की शहादत पर विवादित बयान दिया था और गांधीजी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताया था। उससे उनकी विचारधारा का अंदाजा लगाया जा सकता है।" ऐसे में सरकार को ये आशंका है कि वो संघ प्रचारक सुनील जोशी की हत्या में शामिल हो सकती हैं। साध्वी प्रज्ञा इस मामले में पहले आरोपीं थीं औऱ शिवराज सिंह की सरकार के दौरान उनकी गिरफ्तारी भी हुई थी। लेकिन बाद में कोर्ट ने उन्हें बरी कर दिया था। मगर अब सरकार दोबारा से इस मामले की फाइल खोलेगी और फिर से इसकी जांच होगी।

वहीं कमलनाथ सरकार के अल्पमत में होने और भाजपा नेताओं द्वारा सरकार गिराने की बात पर मंत्री पीसी शर्मा ने साफ कर दिया कि, हमारी सरकार को कोई खतरा नहीं है। उलटे भाजपा के 25 विधायक हमारे संपर्क में है और लोकसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद ये सभी भाजपा विधायक कांग्रेस में आ जाएंगे। इस बीच प्रदेश सरकार के खाद्य एवं आपूर्ति मंत्री प्रद्युम्न तोमर का बयान आया है कि भाजपा कांग्रेस विधायकों को खरीदने के लिए पचास करोड़ का ऑफऱ कर रही है पर कानून मंत्री ने कहा कि, कांग्रेस के विधायक पार्टी के साथ खड़े हैं और किसी भी लालच से वो डिगने वाले नहीं है।
Chania