Monday, May 17th, 2021 Login Here
कोरोना के गंभीर रोगियों का उपचार सर्वसुविधायुक्त बड़े अस्पतालों में होना जरूरी पुलिस और डाक्टर की पकड़ में कोरोना से सुरक्षित आम आदमी लेकिन लापरवाह लोग बन रहे मुश्किल मंदसौर के मनोज ने कर दिया 200 रूपऐ में आॅक्सी फ्लो मीटर का निर्माण वायरल विडियों ने मंदसौर की दादी को बना दिया स्टाॅर मंदसौर जिला चिकित्सालय में अक्षय तृतीया से सीटी स्कैन मशीन से जांच होना हुई प्रारंभ वित्त मंत्री श्री देवड़ा के निर्देश पर गृह मंत्रालय ने मल्हारगढ़ ब्लॉक कोविड-19 आपदा प्रबंधक मैनेजमेंट कमेटी का गठन कलेक्टर द्वारा किया गया *शामगढ़ में 85 वर्ष के बूढे व्यक्ति का घर से मृत अवस्था मे मिला शव* खुशियों की दास्तां /मल्हारगढ़ कोविड केयर सेंटर से आज 3 व्यक्ति स्वस्थ होकर घर गए प्रशासन ने मीटिंग बुलाकर ईद घर पर ही मनाने हेतु समझाइश दी । अपने अपने मोहल्ले मैं सख्ती से कर्फ्यू का पालन करवाना और दवाई वितरण करवाना हम सबकी जवाबदेही है: श्री पँवार *जिले में रक्त स्त्रोतम संस्थान द्वारा कराया गया पहला प्लाज्मा डोनेशन जनसारंगी --प्रसंगवश./ सर्वसमावेशी समाज के संस्थापक भगवान परशुराम. दो लाख खर्च होने के बाद भी नहीं बनी खाद, पिट बन गऐ डस्टबिन हॉटस्पॉट में बेखौफ चल रहीं सब्जी मंडी, लोगों की जमा हो रहीं भीड़ महामारी से निपटने आर्थिक सहयोग में आगे आ रहे नागरिक
मध्यप्रदेश की कमलनाथ सरकार अब सरकारी नौकरियों में भी स्थानीय युवाओं को प्राथमिकता देने का नियम बनाने जा रही है। तय किया गया है कि कम से कम गैर प्रशासनिक पदों पर इसे लागू किया जाएगा। बाहरी उम्मीदवारों के लिए कोटा निर्धारित कर दिया जाएगा।
 पिछले दिनों सीएम कमलनाथ के यूपी-बिहार के लोगों द्वारा मध्यप्रदेश में रोजगार हासिल करने को लेकर बयान दिया था जिसको लेकर काफी हंगाम भी हुआ था। हालांकि इस सबको ध्यान न देते हुए कांग्रेस सरकार ने गैर सरकारी नौकरियों में ही नहीं, बल्कि प्रदेश में निकलने वाली सरकारी नौकरियों में भी प्रदेश के युवाओं को प्राथमिकता देने की तैयारी कर रही है।
 गैर प्रशासकीय पदों जैसे सिपाही, वन रक्षक, जेल प्रहरी छोटे पदों पर भी प्रदेश के युवाओं को ऑॅल इंडिया लेवल पर प्रतिस्पर्धा करनी पड़ती है, जिसकी वजह से मध्यप्रदेश के युवा नौकरी पाने में पिछड़ जाते हैं। कांग्रेस के युवा विधायक कुणाल चौधरी का कहना है कि प्रदेश के युवाओं को नौकरियों में प्राथमिकता मिलनी चाहिए। ऐसा करने वाला मध्यप्रदेश कोई अकेला राज्य नहीं होगा, बल्कि दूसरे राज्यों में इस तरह की व्यवस्था है। इसलिए मध्यप्रदेश के युवाओं को सरकारी नौकरियों में प्राथमिकता दी जाएगी।

Chania