Monday, May 17th, 2021 Login Here
कोरोना के गंभीर रोगियों का उपचार सर्वसुविधायुक्त बड़े अस्पतालों में होना जरूरी पुलिस और डाक्टर की पकड़ में कोरोना से सुरक्षित आम आदमी लेकिन लापरवाह लोग बन रहे मुश्किल मंदसौर के मनोज ने कर दिया 200 रूपऐ में आॅक्सी फ्लो मीटर का निर्माण वायरल विडियों ने मंदसौर की दादी को बना दिया स्टाॅर मंदसौर जिला चिकित्सालय में अक्षय तृतीया से सीटी स्कैन मशीन से जांच होना हुई प्रारंभ वित्त मंत्री श्री देवड़ा के निर्देश पर गृह मंत्रालय ने मल्हारगढ़ ब्लॉक कोविड-19 आपदा प्रबंधक मैनेजमेंट कमेटी का गठन कलेक्टर द्वारा किया गया *शामगढ़ में 85 वर्ष के बूढे व्यक्ति का घर से मृत अवस्था मे मिला शव* खुशियों की दास्तां /मल्हारगढ़ कोविड केयर सेंटर से आज 3 व्यक्ति स्वस्थ होकर घर गए प्रशासन ने मीटिंग बुलाकर ईद घर पर ही मनाने हेतु समझाइश दी । अपने अपने मोहल्ले मैं सख्ती से कर्फ्यू का पालन करवाना और दवाई वितरण करवाना हम सबकी जवाबदेही है: श्री पँवार *जिले में रक्त स्त्रोतम संस्थान द्वारा कराया गया पहला प्लाज्मा डोनेशन जनसारंगी --प्रसंगवश./ सर्वसमावेशी समाज के संस्थापक भगवान परशुराम. दो लाख खर्च होने के बाद भी नहीं बनी खाद, पिट बन गऐ डस्टबिन हॉटस्पॉट में बेखौफ चल रहीं सब्जी मंडी, लोगों की जमा हो रहीं भीड़ महामारी से निपटने आर्थिक सहयोग में आगे आ रहे नागरिक

तीन आरोपी जावरा जेल में रहेंगे
 ( जगदीश राठौर)।
कुंदन कुटीर आश्रम में नाबालिग बालिकाओं के व्यवहार के आरोपियों को 12 फरवरी तक का जुडिशल रिमांड मिला है औद्योगिक क्षेत्र पुलिस थाना के थाना प्रभारी भगवान सिंह सोलंकी ने बताया कि चारों आरोपियों को जेएफसी न्यायालय जावरा अनिल चौधरी की अदालत में पेश किया गया जहां से सभी आरोपियों को 12 फरवरी तक का रिमांड मिला है ।  उल्लेखनीय है कि जिला बाल संरक्षण समिति अध्यक्ष श्रीमती रचना भारतीय को 26 जनवरी को रतलाम में बालिका संरक्षण में महत्वपूर्ण कार्य करने के लिए सम्मानित किया गया था 2 वर्ष पूर्व आकाशवाणी इंदौर द्वारा भी उन्हें सम्मानित किया गया था कुंदन वेलफेयर सोसायटी को प्रति वर्ष राज्य शासन से 1600000 रुपए अनुदान प्राप्त होता था और इसमें बालिकाओं को रहने भोजन पढ़ाई एवं सुख सुविधाओं की व्यवस्था रही थी इसके अलावा कुंदन वेलफेयर एजुकेशन को अलग अलग संस्थाओं से भी अनुदान मिलता रहा है लोगों में इस बात की चर्चा है कि एक से ही संस्था के जिम्मेदार पदाधिकारी भी ऐसा कर सकते हैं और इस बात की चर्चा घर घर में है कि रचना भारती जैसी मां नाम का एक कलंक अभिशाप बन गया है  । व्यभिचार का यह मामला इतना गंभीर हो गया है कि विधि विशेषज्ञ अनुसार चारों आरोपियों की जमानत में काफी समय लग सकता है क्योंकि यह इतने गंभीर आरोप है कि जिन पर न्यायालय बहुत बारीकी से संध्या लेगा और खास बात यह है कि इस मामले की रिपोर्ट में फरियादी के रूप में नायब तहसीलदार सीएल टाक है  ।

Chania