Saturday, May 8th, 2021 Login Here
भोईवाडा की घटना के बाद मंदसौर में पुलिस का फ्लेग मार्च जावरा विधायक से पंगा और मंदसौर के हिस्सें की आॅक्सीजन रोकना भरी पड़ा कलेक्टर को, विधायक सिसोदिया की सीएम के समक्ष कड़ी आपत्ति के बाद विवाह की खुशी में भूल गए लाॅकडाउन के आदेश/ शादि में मेंहमान बन कर पहुंच गऐ एसडीएम और टीआई बीस दिन लाॅकडाउन के बाद भी कोरोना काबू नहीं हुआ तो अब सीएम के निर्देश के बाद मंदसौर में भी शुरु हुआ सख्ती वाला लॉक डाउन कोरोना के तांडव की हकीकत बयां करती मंदसौर के शमशान की सच्चाई ! कोरोना से जंग में भारतीय जैन संघठना ने नृत्य नाटिका के माध्यम से दिया सकारात्मकता का सन्देश रतलाम के एडवोकेट सुरेश डागर की मृत्यु का मामला गरमाया इंदौर के एडवोकेट ने हाईकोर्ट के आदेश की अवमानना पर जबलपुर उच्च न्यायालय में की याचिका दायर रतलाम के एडवोकेट सुरेश डागर की मृत्यु का मामला गरमाया इंदौर के एडवोकेट ने हाईकोर्ट के आदेश की अवमानना पर जबलपुर उच्च न्यायालय में की याचिका दायर बेटा चाहता था ऐश का जीवन जीने के लिए जमीन बेचना, माॅ ने मना किया तो कर दी हत्या कोविड की मार ने तोड़ी आम लोगों की कमर, बिगाडा मध्यवर्गीय परिवार का बजट योग बना रहा निरोग, कोरोना से जीती जंग आपदा में गायब धरती के भगवान! एक दर्जन डाक्टरों को नोटिस अग्रवाल समाज द्वारा सवा लाख महामृत्युंजय जाप एवं नवचंडी अनुष्ठान हुआ आरंभ अग्रवाल समाज सोमवार से सवा लाख महामृत्युंजय जप एवं नवचंडी अनुष्ठान का आयोजन करेगा लापरवाहीं- कोरोना लेकर बाजार में घूम रहे संक्रमित,


 पीएम नरेंद्र मोदी ने श्रीनगर में बोलते हुए कहा कि केंद्र सरकार युवाओं को बेहतर अवसर दे रही है। खेलों को प्रोत्साहन देने के लिए गंदरबल में इंडोर स्टेडियम का उद्घाटन किया गया है। लंबे समय से अटके प्रोजेक्ट पूरे किए जा रहे हैं। जम्मू-कश्मीर देश का पहला राज्य होगा जहां हर गांव में पीने का पानी पाइप के जरिए जल्द मिलने लगेगा। हमारी सरकार ने 18000 अंधेरे में डूबे गांवों को रोशन किया है। जम्मू कश्मीर में भी करीब-करीब हर घर बिजली से रोशन हो चुका है। बिजली उत्पादन में बड़े पैमाने पर राज्य में किया जा रहा है। पानी की हर बूंद का उपयोग राज्य के हक में किया जाएगा।

इससे पहले जम्मू में उन्होंने केंद्र सरकार की योजनाओं की तारीफ करते हुए विपक्ष पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि हम जो योजनाएं लाए है उसका लाभ देश के 12 करोड़ किसान परिवारों को मिलेगा। मतलब हर गांव में 100 में से 95 किसान इसका हकदार बनेंगे। अगर मान भी लें कि इमानदारी से कर्नाटक में किसानों की कर्ज माफी का वादा पूरा करते हैं तो भी 100 में से 30-40 को ही फायदा मिलेगा और यह फायदा जिनको मिला वे कौन से किसान हैं यह सभी जानते हैं। वर्ष 2008 की इनकी कर्ज माफी का लाभ भी बीस-तीस प्रतिशत लोगों को ही मिला।
उन्होंने कहा कि अभी अभी मध्यप्रदेश में सरकार बनाने के बाद कांग्रेस ने ऐसे किसानों का कर्ज माफ किया जिन पर कभी कर्ज नहीं था। जिन पर कर्ज था, उनको मात्र 13 रुपये का चेक मिला। राजस्थान में कांग्रेस की सरकार ने आते ही हाथ खड़े कर दिए। इनकी नीति कभी भी किसानों के कर्ज माफी करने की नहीं रही। इनकी नीति सिर्फ बिचौलिओं के पेट भरने की रही है।

कांग्रेस पर निशाना साधते हुए पीएम मोदी ने कहा कि किसानों पर छह लाख करोड़ का कर्ज था। किसानों की आंखों में धूल झोंकी गर्इ। लेकिन माफ किया तो 52 हजार करोड़। जब सीएजी ने जांच की तो उनमें भी 35 लाख लोग फर्जी थे। वे कौन लोग थे, वे कौन सा पंजा था जो खजाना खाली कर गया, वह रुपया कहां गया, यह मुझे बताने की जरुरत नहीं है। जिनकी तब कर्ज माफी हुई , वह फिर कर्जदार बन गए। जब दस साल पूरे हुए तो कांग्रेस को एक बार फिर कर्ज माफी का बुखार नजर आता है।
पीएम मोदी ने उनकी सरकार द्वारा हाल ही में पेश किए गए अंतिम बजट को गरीब और किसान के विकास को गति देने वाला बताया। उन्होंने कहा कि किसानों को हर वर्ष 6 हजार रुपये मिलेंगे। 75 हजार करोड़ रुपये सीधे किसानों के खाते में पहुंचेंगे। केंद्र सरकार जम्मू-कश्मीर में संतुलित विकास में कोई कमी नहीं छोड़ेगी। उनके लिए देश और देश के लोगों का हित सर्वोपरि है।

उन्होंने कहा कि पिछली सरकार में देश की आवश्यकताओं और भावनाओं को नजरअंदाज करने की प्रवृत्ति थी, इससे आप अच्छी तरह वाकिफ हैं। उदाहरण के लिए करतारपुर कॉरिडोर को लें। अगर उन्होंने ध्यान दिया होता तो गुरु नानक देव की भूमि भारत का हिस्सा होती। जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद से सख्ती से निपटा जा रहा है। जम्मू कश्मीर के संतुलित विकास में कोई कमी नहीं छोड़ी जाएगी।

प्रधानमंत्री पैकेज के तीन जिन तीन हजार पदों पर कश्मीरी विस्थापितों को नियुक्त करने का वादा किया गया था, उस पर भी काम शुरु किया गया है। कश्मीरी पंडितों के गौरव को बहाल किया जाएगा। उनकी पीड़ा मेरे मन में रही है। श्रीनगर में बांदीपुर और गांदरबल में ट्रांजिट एकोमोडेशन की योजना लागू होगी।

उन्होंने कहा कि एम्स के बनने से स्वास्‍थ्य सेवाओं में बेहतरी तो होगी ही साथ ही जल्द ही जम्मू-कश्मीर में पांच और मेडिकल कॉलेज जल्द ही खुलेगा। पहले यहां के छात्रों के लिए 500 मेडिकल सीटें ही होती थीं पर बीजेपी सरकार ने इसे जल्द ही देागुणा करने का निर्णय लिया है। साथ ही आइआईएम और आईआईटी पर भी काम चल रहा है। शिक्षण संस्थानों में 25 फीसदी सीटें बढ़ेंगी।
बिजली परियोजनाओं को क्रांतिकारी बताते हुए कहा कि नए परियोजनाएं शुरू होने पर जम्मू-कश्मीर में 850 मेगावाट अतिरिक्त बिजली मिलेगी। उन्होंने शाहपुर कंडी को सबसे बड़ी उपलब्धि बताया। उन्होंने कहा कि इससे कठुआ जिला के कंडी इलाकों की कर्इ एकड़ भूमि को सिंचार्इ के लिए बारह महीने पानी मिल पाएगा। उन्होंने 40 साल से लटके प्रोजेक्ट को भी जल्द पूरा करने का एलान किया।

उन्होंने कहा कि 40 हजार करोड़ से सड़कों और आधारभूत ढांचे का विकास होगा। जम्मू-कश्मीर में आकर मुझे ऊर्जा की अनुभूति होती है। और काम करने की प्रेरणा मिलती है। प्रधानमंत्री ने डोगरी में भाषण की शुरूआत करते हुए कहा कि मां वैष्णो के बुलावा पर उन्हें दोबारा यहां आने का मौका मिला है।
पहाड़ी समुदाय के नेताओं ने भी समुदाय को 3 प्रतिशत आरक्षण देने पर उन्हें फूलों का गुलदस्ता देकर अभिनंदन किया। गुलाम कश्मीर के विस्थापितों को 2000 करोड़ रूपये का पैकेज देने पर विस्थापित समुदाय के नेताओं ने भी उनका स्वागत किया। इस पैकेज के तहत साढ़े पांच लाख रूपये प्रति परिवार को दिए गए हैं।

ऊधमपुर में देविका नदी को प्रदूषण मुक्त बनाने के लिए परियोजना का शुभारंभ करने के बाद आईआईएमसी की बिल्डिंग, चिनाब पर किश्तवाड़ जिले में 4610 करोड़ से बनने वाली 624 मेगावाट क्षमता वाली किरू पनबिजली परियोजना का शिलान्यास रखने, 850 मेगावाट क्षमता वाली रतले हाइड्रो पावर प्रोजेक्ट के लिए एनएचपीसी से करार हुआ। कठुआ इंजीनियरिंग कालेज का भी प्रधानमंत्री ने शुभारंभ किया।

प्रधानमंत्री ने सबसे पहले एम्स का नींव पत्थर रखा। पंडाल में मौजूद एक लाख से अधिक लोगों ने तालियां बजाकर उनका स्वागत किया। जम्मू के विजयपुर में 1260 करोड़ की लागत से बनने वाले एम्स अस्पताल में 750 बेड की सुविधा के साथ मेडिकल और नर्सिंग कॉलेज भी होगा। इसके बाद उन्होंने दरिया चिनाब से लगते परगवाल टापू पर इंद्रीपतन सेतु का नींव पत्थर रखा। इस पुल के जरिए परगवाल को ज्यौड़ियां के साथ जोड़ा जाएगा। इस पुल के बनने से पचास किलोमीटर की दूरी कम होकर मात्र तीन किलोमीटर रह जाएगी।

पीएम का यह दौरा संसदीय और विधानसभा चुनाव से पहले काफी अहम माना जा रहा है। रैली का थीम 'अबकी बार फिर मोदी सरकार' रखा गया है, इससे यह साफ पता चलता है कि पीएम यहां से चुनावी बिगुल फूंकने वाले हैं।

बता दें कि राज्य में भारत का जनाधार सबसे ज्यादा जम्मू में है और पार्टी के दो सांसद जम्मू से ही चुने गए हैं। वहीं, पिछले विधानसभा चुनाव में भाजपा ने 25 सीटें जीतकर इतिहास रचा था, इस कारण पार्टी का मुख्य फोकस जम्मू रहेगा। यहां करीब 35 हजार करोड़ रुपये के विकास प्रोजेक्टों का नींव रखी गई है।

पीएम ने जम्मू और कश्मीर में करीब 44 हजार करोड़ रुपये के प्रोजेक्टों की नींव का पत्थर रखा और कुछ का उद्घाटन किया है। इसके प्रधानमंत्री पंच-सरपंचों के साथ सीधी बातचीत भी करेंगे। संसदीय और विधानसभा चुनाव से पहले प्रधानमंत्री का यह दौरा काफी अहम होगा। हालांकि प्रधानमंत्री कश्मीर और लेह भी गए, लेकिन जम्मू के विजयपुर में रैली अधिक अहम होगी।

रैली मंच का थीम अबकी बार फिर मोदी सरकार है, जिससे पता चलता है कि रैली के जरिए प्रधानमंत्री चुनावी बिगुल फूंकेंगे। चूंकि भाजपा का जनाधार जम्मू में है और पार्टी के दो सांसद जम्मू संभाग से ही चुने गए हैं। इसके अलावा पार्टी ने पिछले विधानसभा चुनाव में 25 सीटें हासिल कर इतिहास रचा था। इसलिए पार्टी का जम्मू पर अधिक ध्यान रहेगा और करीब 35 हजार करोड़ रुपये के विकास प्रोजेक्टों का नींव रखी गई।
यह है पीएम का कार्यक्रम

-प्रधानमंत्री सीधा लेह पहुंचे। -लेह से जम्मू के विजयपुर में करीब 11 बजे पहुंचे। -जम्मू के बाद वह श्रीनगर गए। -श्रीनगर से दिल्ली रवाना हो जाएंगे। जम्मू के प्रोजेक्ट : 1- विजयपुर में रखेंगे एम्स की नींव का पत्थर। 2- परगवाल-इंद्री पट्टन, ज्योड़ियां में चिनाब नदी पर पुल के नींव का पत्थर रखेंगे। 3- देविका और तवी नदी में प्रदूषण मुक्त प्रोजेक्ट के नींव का पत्थर रखेंगे। 4- आइआइएमसी के उत्तरी क्षेत्र के कैंपस के नींव का पत्थर रखेंगे। 5- 624 मैगावाट की पनबिजली परियोजना के नींव का पत्थर रखेंगे। 6- यूनिवर्सिटी इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिग एंड टेक्नोलाजी कठुआ का उद्घाटन। 7- 850 मैगावाट रतले पनबिजली परियोजना की नींव का पत्थर रखेंगे। 8- चनैनी-सुद्धामहादेव सेक्शन की नींव रखेंगे। 9- जम्मू अखनूर फोर लेन की नींव भी रखेंगे। 10-उज्ज मल्टीपर्पज प्रोजेक्ट के लिए भी रखेंगे नींव। 11- आइआइएम जम्मू की भी रखी जाएगी नींव। 12- सुदंरबनी डिग्री कॉलेज की भी रखी जाएगी नींव। 13- आइआइटी मेन कैंपस का होगा उद्घाटन।

श्रीनगर में प्रोजेक्ट

1- एम्स अवंतीपोरा (कश्मीर) में रखेंगे नींव का पत्थर। 2- जालंधर-सांबा-राजोरी-शोपियां-अमरगढ़ ट्रांसमिशन का उद्घाटन। 3- सौभाग्य योजना के तहत एक सौ प्रतिशत हर घर में बिजली योजना का उद्घाटन। 4- ग्रामीण बीपीओ सुविधा का उद्घाटन। 5- गादंरबल में मल्टीपर्पज इंडोर स्टेडियम का उद्घाटन। 6- कश्मीरी विस्थापित कर्मचारियों के लिए गांदरबल में ट्रांजिट सुविधा की नींव का पत्थर रखेंगे। 7- दो माडल डिग्री कॉलेजों कुपवाड़ा और बारामुला में रखेंगे नींव का पत्थर।

लेह के प्रोजेक्ट

1- लेह और कारगिल में लद्दाख विश्वविद्यालय का लोकार्पण। 2- लेह एयरपोर्ट में टर्मिनल इमारत की नींव रखेंगे। 3- श्रीनगर-अलस्टेंग-द्रास-कारगिल25-लेह ट्रांसमिशन सिस्टम जनता को समर्पित करेंगे। 4- नौ मैगावाट दाह पनबिजली परियोजना का उद्घाटन। 5- लद्दाख में नए पर्यटक और ट्रैकिंग मार्ग खोलेंगे।
Chania