Friday, May 7th, 2021 Login Here
रतलाम के एडवोकेट सुरेश डागर की मृत्यु का मामला गरमाया इंदौर के एडवोकेट ने हाईकोर्ट के आदेश की अवमानना पर जबलपुर उच्च न्यायालय में की याचिका दायर रतलाम के एडवोकेट सुरेश डागर की मृत्यु का मामला गरमाया इंदौर के एडवोकेट ने हाईकोर्ट के आदेश की अवमानना पर जबलपुर उच्च न्यायालय में की याचिका दायर बेटा चाहता था ऐश का जीवन जीने के लिए जमीन बेचना, माॅ ने मना किया तो कर दी हत्या कोविड की मार ने तोड़ी आम लोगों की कमर, बिगाडा मध्यवर्गीय परिवार का बजट योग बना रहा निरोग, कोरोना से जीती जंग आपदा में गायब धरती के भगवान! एक दर्जन डाक्टरों को नोटिस अग्रवाल समाज द्वारा सवा लाख महामृत्युंजय जाप एवं नवचंडी अनुष्ठान हुआ आरंभ अग्रवाल समाज सोमवार से सवा लाख महामृत्युंजय जप एवं नवचंडी अनुष्ठान का आयोजन करेगा लापरवाहीं- कोरोना लेकर बाजार में घूम रहे संक्रमित, चार महिने में नहीं बन पाया सवा दो सौ मीटर का नाला दूकान का शटर बंद लेकिन अंदर मिले ग्राहक हर दिन आॅक्सीजन आने का दावा लेकिन खत्म नहीं हो रहीं मारा-मारी *रजिस्ट्री की गाइड लाइन 30 जून तक यथावत* MP में 1 मई से शुरू नहीं होगा वैक्सीनेशन पार्ट-3:2.5 लाख डोज की पहली खेप 3 मई तक मिली तो 18+ लोगों को 5 मई से लगेगा टीका, 19 हजार लोगों ने कराया रजिस्ट्रेशन सोमली नदी को पार कर मंदसौर की तरफ आगे बढा चंबल का पानी

मंदसौर  जनसारंगी।
 कालाखेत-गांधी चैराहा मार्ग पर नगर पालिका द्वारा बनाए जा रहे 225 मीटर लंबे नाले का निर्माण चार माह बाद भी पूरा नहीं हो पाया है। इस कारण राहगीर और रहवासी परेशान हो रहे हैं। कार्य बंद होने का कारण ठेकेदार को समय पर भुगतान नहीं होना बताया जा रहा है। नाला निर्माण जब से शुरू हुआ है, तब से ही चींटी चाल से भी धीमी गति से चल रहा है। इसी के कारण चार माह बाद भी अधूरा ही है।
वार्ड 17 में एमआरसी स्कूल के सामने मार्ग पर नगर पालिका द्वारा करीब 225 मीटर लंबे नाले का निर्माण कार्य फरवरी माह में शुरू किया था, लेकिन चार माह में सिर्फ खोदाई और आधा-अधूरा पक्का निर्माण ही हो पाया है। नाले का काम धीमी गति से चलने के कारण रहवासी और व्यवसायी परेशान हैं। इसको लेकर कई बार रहवासी व व्यवसायियों ने आक्रोश भी जताया। निर्माण कार्य प्रारंभ होने के दौरान ही नाले की जेसीबी से खोदाई के दौरान बीएसएनएल की केबलें कट गई थीं। इसके बाद बीएसएनएल और नपा के अधिकारियों के बीच विवाद हो गया। नाले का निर्माण कार्य तो एक तरफ रह गया और नपा के अधिकारी व बीएसएएनल के अधिकारी विवाद में ही उलझे रहे। इसके कारण भी नाले का काम प्रभावित हुआ और रहवासी, व्यवसायी व राहगीर परेशान होते रहे। कुछ दिन काम बंद रहने के बाद काम शुरू हुआ। नाले की दीवारें बनाने एवं अन्य कार्य ठेकेदार द्वारा किया गया, लेकिन नपा द्वारा ठेकेदार को समय पर भुगतान जारी नहीं करने के कारण अब फिर से काम बंद हो गया है। भुगतान के कारण काम कई दिनों से बंद पड़ा है। इसके कारण रहवासी, राहगी सभी परेशान हो रहे हैं। नाले में सरिए निकल रहे हैं, इससे कभी भी कोई हादसा भी हो सकता है। जबकि नाले का निर्माण पूर्ण होने के बाद नाले को ऊपर से ढंकना भी है, ऐसे में अभी इतने काम में ओर कितना समय लगेगा यह अधिकारी भी नहीं बता पा रहे हैं।

Chania