Sunday, February 25th, 2024 Login Here
गरीब के जीवन से कष्टों को मिटाना प्रदेश सरकार का लक्ष्य-डॉ यादव चिकित्सक पर हुई कार्रवाहीं का डाक्टरों व सिंधी समाज ने किया विरोध किरायेदारों से अनजान पुलिस, मकान मालिक भी लापरवाह नवनिर्वाचित राज्यसभा सांसद बंशीलाल जी गुर्जर का मंदसोर शहर में होगा भव्य स्वागत ट्रक में लहसुन के नीचे छुपाकर रख 1031 किलो डोडाचूरा जब्त, ड्राइवर गिरफ्तार मुख्‍यमंत्री डॉ.मोहन यादव आज नीमच में 752 करोड से अधिक के कार्यो का लोकार्पण एवं भूमिपूजन करेंगे 36 घंटे में पुलिस ने किया अन्तरॉज्जीय लूटेरों को गिरफ्तार मदिरा दुकानों के नवीनीकरण आवेदन 22 फरवरी तक करें पांच साल के इंतजार के बाद आज से मंदसौर में प्रारंभ होगा पासपोर्ट कार्यालय मध्यप्रदेश से राज्यसभा के पांचों प्रत्याशी निर्विरोध निर्वाचित; 4 सीट बीजेपी, एक कांग्रेस के खाते में 133 किमी लंबे मार्ग में 14 किमी लंबा दूसरा रेलवे ट्रैक तैयार साँप भगाने के लिए टैंक में पेट्रोल डाला, तीली जलाते ही धमाका हुआ, दम्पत्ति झुलसे नदियॉ को छलनी करने का खेल चल रहा,माफियाओं पर नही लग पा रही नकेल सिंगिग स्टार बनने के चक्कर मे लोग हो रहे शिकार संसद रत्न पुरस्कार से सम्मानित होने वाले सांसदों को राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति ने बधाई दी

साजिश रचने वाले दीपक तंवर की पुलिस को तलाश
मंदसौर निप्र।  वीएचपी नेता युवराजसिंह चौहान को गोली मारने वाले बदमाश इंदौर के मुसाखेड़ी से गुरूवार की शाम पकड़े गए । तीनो शूटर युवराजसिंह चौहान हत्याकाण्ड की साजिश रचने वाले दीपक की बहन के घर जाकर रूके थे। तीनों शूटरों के पकड़े जाने के बाद पुलिस अब दीपक की तलाश कर रही है हालांकि तीनो शूटरों के पकड़े जाने की मंदसौर पुलिस ने अब तक अधिकृत पुष्टि नही की है लेकिन माना जा रहा है कि पुलिस तीनों शूटरों से दीपक के बारे में सुराग खंगाल रही है इसके अलावा साजिश के पीछे के असल कारणों का भी पता लगाने की कोशिश कर रही है ।
मंदसौर पुलिस कप्तान हितेश चौधरी ने केबल और अन्य व्यवसायिक प्रतिस्पर्धा में हत्या होने की बात स्वीकारी भी है । सूत्रों की माने तो दरअसल केबल विवाद के साथ ही मछली ठेके को लेकर भी युवराजसिंह का दीपक के साथ विवाद चल रहा था । विवाद इतना गहरा गया था कि दोनों एक दूसरे की जान के प्यासे हो गए थे । सूत्र बताते है कि इसी रंजिश में दोनों ने एक दूसरे की जान लेने की साजिश रच दी लेकिन दीपक का शिकार होता उससे पहले ही उसने युवराज को अपना शिकार बना लिया । बताया जाता है कि तीनो शूटर अंकित तंवर , फैजान रजवी और नागेश गोस्वामी उर्फ लाला  हत्याकाण्ड को अंजाम देने के बाद मंदसौर से इंदौर पहुंच गए जहां मुसाखेड़ी में दीपक की बहन नीतू टेम्पो स्टेण्ड के समीप रहती है पुलिस को इसकी आशंका थी जिसके चलते मंदसौर पुलिस ने इंदौर पुलिस के सहयोग से नीतू के घर दबिश दी जहां से अनिल, फैजान और अंकित तीनों मिल गए अब पुलिस को दीपक की तलाश है । सूत्रों के अनुसार षड़यंत्रकर्ता दीपक हत्याकाण्ड को अंजाम दिए जाने से पहले ही मंदसौर की सीमा को छोड़कर राजस्थान की और चला गया था ऐसे में पुलिस की टीमें लगातार संभावित ठीकानों पर दबिशे देकर दीपक की तलाश कर रही है ।
गहन जांच होगी तो उठेंगे कई पर्दे
सूत्रों की माने तो गैंगस्टर सुधाकर राव मराठा के करीबी रहे युवराजसिंह चौहान हत्याकाण्ड की गहन जांच होगी तो कई पर्दे उठ सकते है। बताया जाता हे कि युवराजसिंह चौहान की संदीप अग्रवाल हत्याकाण्ड में भी भूमिका होने की पुलिस को आशंका थी लेकिन उसके खिलाफ कोई पुख्ता सबूत नही मिले थे इसके अलावा अपराध की दुनिया से जुड़े अन्य लोगो से भी संबंध जुड़े होने की चर्चाएं है । ऐसे में माना जा रहा है कि पूरे हत्याकाण्ड की गहन जांच कई रहस्यों को खोल सकती है ।
विहिप ने रैली निकालकर सौपा ज्ञापन
युवराजसिंह चौहान हत्याकाण्ड के विरोध में विश्व हिन्दु परिषद ने रैली निकालकर ज्ञापन सौंपा । इससे पहले नगर के प्रमुख मार्गो से होती हुई रैली एसपी कार्यालय पहुंची जहां महामहिम राज्यपाल के नाम ज्ञापन देते हुए कहा कि विहिप के सहमंत्री युवराजसिंह चौहान की सुनियोजित षड़यंत्र के तहत हत्या की गई है । अपराधियों में कानून और पुलिस का कोई खौफ नही है प्रदेश में जंगलराज प्रारंभ हो गया है । अपराधियों को तत्काल गिरफ्तार किया जाएें, ज्ञापन में गीता भवन अण्डरब्रिज का नाम युवराजसिंह चौहान के नाम से किए जाने की भी मांग की गई । मंदसौर के अलावा दलौदा और मल्हारगढ़ में भी विश्व हिन्दु परिषद ने ज्ञापन सौंपा । सेन समाज ने भी आरोपियों को पकड़ने की मांग को लेकर ज्ञापन सौंपा ।
दीपक की अभी पुलिस को तलाश है पकड़े गए लोगों से पुछताछ की जा रही है कल तक सारी चीजें खुलने की संभावना बन रही है ।
हितेश चौधरी, एसपी
Chania