Monday, February 26th, 2024 Login Here
गरीब के जीवन से कष्टों को मिटाना प्रदेश सरकार का लक्ष्य-डॉ यादव चिकित्सक पर हुई कार्रवाहीं का डाक्टरों व सिंधी समाज ने किया विरोध किरायेदारों से अनजान पुलिस, मकान मालिक भी लापरवाह नवनिर्वाचित राज्यसभा सांसद बंशीलाल जी गुर्जर का मंदसोर शहर में होगा भव्य स्वागत ट्रक में लहसुन के नीचे छुपाकर रख 1031 किलो डोडाचूरा जब्त, ड्राइवर गिरफ्तार मुख्‍यमंत्री डॉ.मोहन यादव आज नीमच में 752 करोड से अधिक के कार्यो का लोकार्पण एवं भूमिपूजन करेंगे 36 घंटे में पुलिस ने किया अन्तरॉज्जीय लूटेरों को गिरफ्तार मदिरा दुकानों के नवीनीकरण आवेदन 22 फरवरी तक करें पांच साल के इंतजार के बाद आज से मंदसौर में प्रारंभ होगा पासपोर्ट कार्यालय मध्यप्रदेश से राज्यसभा के पांचों प्रत्याशी निर्विरोध निर्वाचित; 4 सीट बीजेपी, एक कांग्रेस के खाते में 133 किमी लंबे मार्ग में 14 किमी लंबा दूसरा रेलवे ट्रैक तैयार साँप भगाने के लिए टैंक में पेट्रोल डाला, तीली जलाते ही धमाका हुआ, दम्पत्ति झुलसे नदियॉ को छलनी करने का खेल चल रहा,माफियाओं पर नही लग पा रही नकेल सिंगिग स्टार बनने के चक्कर मे लोग हो रहे शिकार संसद रत्न पुरस्कार से सम्मानित होने वाले सांसदों को राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति ने बधाई दी

मंदसौर निप्र। जिला अस्पताल में स्थित सीएमएचओ निवास के समीप पड़े कुड़ा-करकट में सफाईकर्मी को एक भ्रुण दिखाई दिया जिसकी शिकायत पुलिस को की गई । देखते ही देखते मौके पर बड़ी भीड़ एकत्र हो गई, इधर सूचना के बाद पुलिस भी मौके पर पहुंच गई । प्रारंभिक दृष्टियां उक्त भ्रुण बच्ची का दिखाई दे रहा था, लेकिन जब भ्रुण का प्रारंभिक परीक्षण किया गया तो वह पूर्ण रूप से एक बच्ची का पाया गया । इधर पुलिस ने उक्त शव को पीएम के लिए भिजवाया, लेकिन इतने ही वहां पर एक महिला पहुंची और उसने स्वयं को महूवा निवासी होना बताकर उक्त बच्ची जो कि मृत अवस्था में थी अपनी स्वयं की होना बताई । मामलें की जानकारी देते हुए कोतवाली एसआई रितेश डामोर ने बताया कि अस्पताल परिसर में एक भ्रुण पड़े होने की जानकारी मिली थी जिसके बाद मौके पर पहुंचे थे । यहां पर प्रारंभिक कार्यवाही कर देखा तो वह भ्रुण न होते हुए 8 माह के आसपास की बच्ची थी जो कि मृत अवस्था में पड़ी हुई थी । शव को पीएम के लिए रवाना किया था तभी महूवा निवासी एक महिला पहुंची और उसने बताया कि वह बच्ची उसी की है । एसआई ने बताया कि महिला गर्भ अवस्था में थी तथा लगभग 8 माह से ऊपर हो चुके थे, दोपहर में लगभग 12.30 बजे के आसपास जब गांव में अपने खेत पर कार्य कर रही थी तभी अचानक उसकी डिलेवरी हो गई, डिलेवरी होने के पश्चात दोनों जच्चा-बच्चा को जिला चिकित्सालय लाया गया था जहां पर डॉक्टर ने बच्ची को मृत होना बताया था । एसआई ने बताया कि महिला ग्रामीण परिवेश की होने के साथ ही अनपढ़ थी तथा उसके साथ कोई भी शिक्षित व समझदार व्यक्ति नही था ऐसे में वह समझ नही पाई कि  मृत होने के बाद बच्चों का  क्या किया जाता है । ऐसे मे वह उक्त बच्ची को सीएमएचओ निवास के पीछे रोडी में फेंक गई । पुलिस ने इस मामलें में महिला के ससूर सहित अन्य को बुलवाकर मामलें की पुष्टि की जिसके बाद मृत बच्ची का शव महिला तथा उसके परिजनों को सौपकर उसे दफनवाया गया है । प्रारंभिक स्तर पर किसी प्रकार  का कोई अपराध होना नही पाया गया है ऐसे में मामलें में कोई प्रकरण दर्ज नही किया गया है ।

Chania