Saturday, May 8th, 2021 Login Here
भोईवाडा की घटना के बाद मंदसौर में पुलिस का फ्लेग मार्च जावरा विधायक से पंगा और मंदसौर के हिस्सें की आॅक्सीजन रोकना भरी पड़ा कलेक्टर को, विधायक सिसोदिया की सीएम के समक्ष कड़ी आपत्ति के बाद विवाह की खुशी में भूल गए लाॅकडाउन के आदेश/ शादि में मेंहमान बन कर पहुंच गऐ एसडीएम और टीआई बीस दिन लाॅकडाउन के बाद भी कोरोना काबू नहीं हुआ तो अब सीएम के निर्देश के बाद मंदसौर में भी शुरु हुआ सख्ती वाला लॉक डाउन कोरोना के तांडव की हकीकत बयां करती मंदसौर के शमशान की सच्चाई ! कोरोना से जंग में भारतीय जैन संघठना ने नृत्य नाटिका के माध्यम से दिया सकारात्मकता का सन्देश रतलाम के एडवोकेट सुरेश डागर की मृत्यु का मामला गरमाया इंदौर के एडवोकेट ने हाईकोर्ट के आदेश की अवमानना पर जबलपुर उच्च न्यायालय में की याचिका दायर रतलाम के एडवोकेट सुरेश डागर की मृत्यु का मामला गरमाया इंदौर के एडवोकेट ने हाईकोर्ट के आदेश की अवमानना पर जबलपुर उच्च न्यायालय में की याचिका दायर बेटा चाहता था ऐश का जीवन जीने के लिए जमीन बेचना, माॅ ने मना किया तो कर दी हत्या कोविड की मार ने तोड़ी आम लोगों की कमर, बिगाडा मध्यवर्गीय परिवार का बजट योग बना रहा निरोग, कोरोना से जीती जंग आपदा में गायब धरती के भगवान! एक दर्जन डाक्टरों को नोटिस अग्रवाल समाज द्वारा सवा लाख महामृत्युंजय जाप एवं नवचंडी अनुष्ठान हुआ आरंभ अग्रवाल समाज सोमवार से सवा लाख महामृत्युंजय जप एवं नवचंडी अनुष्ठान का आयोजन करेगा लापरवाहीं- कोरोना लेकर बाजार में घूम रहे संक्रमित,

गीता भवन के निकट सनसनीखेज वारदात, भाजपा आज पुलिस कप्तान का करेगी घेराव
मंदसौर निप्र। शहर के गीता भवन अण्डर ब्रिज के निकट बुधवार की सुबह सनसनीखेज गोलीकांड हुआ जिसमें विहिप के नेता युवराजसिंह चौहान की मोटरसायकल पर सवार होकर आये तीन बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी। घटना के बाद पूरे शहर में सनसनी फैल गई। चौहान को तत्काल जिला अस्पताल ले जाया गया जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। उधर घटना के बाद से अफवाहों का बाजार भी गर्म हो गया लेकिन पुलिस की चुस्ती के चलते शहर पूरी तरह से शांत रहा। अपराधियों को पकड़ने के लिये पुलिस ने चारों तरफ नाकाबंदी भी। पुलिस की जांच के दौरान कुछ संदिग्धों के नाम भी सामने आये जिनकी पुलिस तलाश कर रहीं है। दूसरी तरफ घटनाक्रम को लेकर विहिप के प्रांत पदाधिकारी भी शाम को मंदसौर पहुंचे और घटनाक्रम को लेकर चर्चा की। पुलिस भी पूरी तरह से मुस्तैद रही, उज्जैन संभाग के आईजी राकेश गुप्ता,रतलाम डीआईजी गौरव राजपुत भी मंदसौर पहुँचे, उन्होंने घटनास्थल का अवलोकन किया और पुलिस कप्तान से पूरे घटनाक्रम को लेकर चर्चा की।
प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक घटना बुधवार सुबह करीब साढ़े 11 बजे की है। विहीप नेता और एसआरएम केबल के संचालक युवराजसिंह चौहान गीता भवन अण्डर ब्रीज के निकट स्थित विघुत केन्द्र पर अपनी बाईक क्रमांक होण्डा शाईन क्रमांक एमपी 14 एमआर 0630 बिजली का बिल भरने के लिये आये थे, बिल भरने के बाद वे पास ही स्थित चाय की होटल पर खड़े थे इसी दौरान बाईक पर सवार होकर तीन बदमाश आये जिसमें से दो ने नकाब पहन रखा था पिछे से चौहान पर फायर किया जिससे चौहान जमीन पर गिर पड़े तभी बदमाशों ने दो और फायर किये और मौके से भाग निकले। घटना के बाद गोलियों की आवाज से पूरे क्षेत्र में सनसनी फैल गई, वहां खडे लोग तत्काल ऑटो रिक्शा से चौहान को अस्पताल लेकर पहुँचे। घटना की खबर लगते ही पुलिस भी मौके पर पहुंची, पुलिस की एफएसएल टीम ने मौके से साक्ष्य इकट्ठा करना शुरू किये साथ ही पुलिस की दूसरी टीम मौके पर घटना के समय मौजूद लोगों से चर्चा की और घटना के बारे में पता लगाने की कोशिश की।
घटना का पता लगते ही अस्पताल में बड़ी संख्या में विहीप व अन्य हिन्दु संगठनों से जूडे लोगों का जमावड़ा हो गया। पुलिस कप्तान हितेश चौधरी भी अस्पताल पहुंचे, विधायक यशपालसिंह सिसोदिया भी अस्पताल पहुंचे और घटनाक्रम को लेकर पुलिस अधीकारियों से चर्चा की। घटना से जुडे अपराधियोंकी धरपकड़ के लिये पुलिस ने पूरे जिले भर में सघन नाकाबंदी की और जगह-जगह वाहन चैकिंग शुरू की गई। शहर बाहर आने और जाने वाले रास्तों पर नाकाबंदी की गई। सूत्रों की माने तो घटनाक्रम से जूड़े अहम सुराग पुलिस के हाथ लगे है जिसके आधार पर पुलिस अपराधियों की धरपकड़ में जूटी हुई है।
दो महिने पहले जूडे से विहिप से
बताया जाता है कि मृतक युवराजसिंह चौहान हाल ही में करीब दो महिने पहले ही विहिप से जूडे थे उन्हें जिले का पदाधिकारी बनाया गया था इससे पहले वे कुछ समय तक संघ में भी सक्रिय थे लेकिन बिते सालों में संघ ने तमाम जिम्मेदारियों से मुक्त कर दिया था। पैशे से वकील श्री चौहान एसआरएम केबलनेटवर्क का संचालन भी करते थे। घटना की खबर मिलने के बाद विहिप के प्रदेश पदाधिकारी नंददास, धर्म जागरण विभाग के प्रमुख भेरूलाल टांक सहित कुछ अन्य पदाधिकारी भी मंदसौर पहुॅचे और बुधवार की शाम को जिला अस्पताल के सामने स्थित विहिप कार्यालय पर बैठक कर आगामी रणनीति पर चर्चा की। हालांकि विहिप ने क्या रणनीति बनाई इसका खुलासा नहीं हुआ, उधर भाजपा ने भी आंदोलन का ऐलान किया। भाजपा जिलाध्यक्ष राजेन्द्र सुराणा ने बताया कि घटना को लेकर भाजपा दोपहर 3 बजे पुलिस अधीक्षक का घेराव कर ज्ञापन देगी।
पुलिस का खबरी तंत्र फैल
शहर कोतवाली भावगढ़ क्षेत्र में एनडीपीएस की कार्यवाहियों के लिये चर्चित थे लेकिन मंदसौर में वे अपनी कोई खास काबिलियत नहीं दिखा पाऐ यहीं कारण था कि  मंदसौर में गोली कांड में शहर कोतवाली का मुखबिर तंत्र भी फैल दिखाई दिया ना तो वहां सरकारी सीसीटीवी कैमरे थे और ना ही पुलिस दूसरे कैमरों की मदद से तत्काल बदमाशों के हुलिये के बारे में पता लगा पाईं। जिससे पुलिस को पता हीं नहीं लग पाया कि बदमाश किस दिशा में भागे है। करीब एक घंटे बाद पुलिस को समीप का एक सीसीटीवी से फूटेज मिले जिसमें बदमाशों के भागने की स्थिति के बारे में पता लग पाया।
पीएम तक मौजूद रहे कप्तान
घटना के बाद पुलिस कप्तान पूरी तरह से सजग रहे। पूरे जिले भर में पुलिस की टीमे आरोपियों की धरपकड़ करने के लिये चप्पा-चप्पा खंगाल रहीं थी वहीं पुलिस कप्तान हितेश चौधरी अस्पताल के पोस्टमार्टम रूम के बाहर पोस्टमार्टम होने तक मौजूद रहे, उन्होंने चौहान के परिजनों और अन्य लोगों से चर्चा भी की और आश्वस्त किया कि पुलिस शीघ्र ही आरोपियों को पकड़ लेगी।
संदिग्ध पकड़े, पुलिस जुटी है जांच में
- केबल और व्यापार को लेकर के विवाद घटना का कारण सामने आ रहा है । पुलिस की 15 से 20 टीमें आरोपियों को पकड़ने में जुटी हुई है ।  दिपक तंवर, अंकित तंवर सहित कुछ अन्य लोगो के नाम सामने आ रहे है। पुलिस ने संदिग्ध करीब  20 लोगो को पुछताछ के लिये उठाया है । उम्मीद है जल्द ही मामले को सुलझा कर हत्याकाण्ड से जुड़े आरोपियों को पकड़ लिया जायेगा । शहर की सुरक्षा में पुलिस पुरी तरह से मुस्तैद है, सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम है । आम शहरवासी किसी भी तरह से भयभीत न हो ।
हितेश चौधरी, पुलिस अधीक्षक
Chania