Saturday, May 8th, 2021 Login Here
भोईवाडा की घटना के बाद मंदसौर में पुलिस का फ्लेग मार्च जावरा विधायक से पंगा और मंदसौर के हिस्सें की आॅक्सीजन रोकना भरी पड़ा कलेक्टर को, विधायक सिसोदिया की सीएम के समक्ष कड़ी आपत्ति के बाद विवाह की खुशी में भूल गए लाॅकडाउन के आदेश/ शादि में मेंहमान बन कर पहुंच गऐ एसडीएम और टीआई बीस दिन लाॅकडाउन के बाद भी कोरोना काबू नहीं हुआ तो अब सीएम के निर्देश के बाद मंदसौर में भी शुरु हुआ सख्ती वाला लॉक डाउन कोरोना के तांडव की हकीकत बयां करती मंदसौर के शमशान की सच्चाई ! कोरोना से जंग में भारतीय जैन संघठना ने नृत्य नाटिका के माध्यम से दिया सकारात्मकता का सन्देश रतलाम के एडवोकेट सुरेश डागर की मृत्यु का मामला गरमाया इंदौर के एडवोकेट ने हाईकोर्ट के आदेश की अवमानना पर जबलपुर उच्च न्यायालय में की याचिका दायर रतलाम के एडवोकेट सुरेश डागर की मृत्यु का मामला गरमाया इंदौर के एडवोकेट ने हाईकोर्ट के आदेश की अवमानना पर जबलपुर उच्च न्यायालय में की याचिका दायर बेटा चाहता था ऐश का जीवन जीने के लिए जमीन बेचना, माॅ ने मना किया तो कर दी हत्या कोविड की मार ने तोड़ी आम लोगों की कमर, बिगाडा मध्यवर्गीय परिवार का बजट योग बना रहा निरोग, कोरोना से जीती जंग आपदा में गायब धरती के भगवान! एक दर्जन डाक्टरों को नोटिस अग्रवाल समाज द्वारा सवा लाख महामृत्युंजय जाप एवं नवचंडी अनुष्ठान हुआ आरंभ अग्रवाल समाज सोमवार से सवा लाख महामृत्युंजय जप एवं नवचंडी अनुष्ठान का आयोजन करेगा लापरवाहीं- कोरोना लेकर बाजार में घूम रहे संक्रमित,

तेंदूए ने वृध्द महिला सहित कईयों को किया घायल, बमशक्कत पकड़ा ग्रामीणों ने, मौत
पिपलिया मण्डी/ टकरावद निप्र । सोमवार को सुबह गांव फतेहपुर में एक घर के पास तेंदूए को देखा गया, तेंदूएं दो की संख्या में दिखाई दिए, तेंदूआ दिखाई देने पर गांव में भय का माहौल हो गया, जहां एक और ग्रामीण सतर्क हो गए वहीं लोगों ने वन विभाग की टीम तथा पुलिस को सूचना दी । सूचना के बाद पुलिस मौके पर पहुंची लेकिन वन विभाग की टीम घंटो इंतजार के बाद मौके पर पहुंच पाई । इधर तेंदूएं ने पहले तो एक महिला पर हमला कर दिया जिससे वह घायल हो गई उसके बाद कुछ अन्य लोगों को भी तेंदूएं ने अपना शिकार बनाने की कोशिश की, हालाकि किसी को भी गंभीर चोंट नही लगी। घायलों को प्राथमिक उपचार के लिए स्वास्थ्य केन्द्र ले जाया गया वहीं एक गंभीर घायल को जिला चिकित्सालय रैफर किया गया । तेंदूएं को पकड़ने के दौरान एक पुलिसकर्मी शैलेन्द्र कनेश को भी तेंदूएं ने दांत लगा दिए, वन विभाग की टीम के द्वारा मौके पर देरी से पहुंचने को लेकर ग्रामीणों में आक्रोश देखा गया । ग्रामीणों ने आक्रामक होते तेंदूएं को स्वयं ही पकड़ने के प्रयास प्रारंभ कर दिए । ग्रामीणों ने तेंदूए को पकड़ लिया। हालांकि बाद में उसकी मौत हो गई। तेंदूएं की संख्या दो बताई जा रही थी जिसमें से एक के भांगने की बात कहीें जा रही है । इस मामलें में वन विभाग के डीएफओ मयंक चांदीवाल का कहना है कि भेड़ का शिकार करने के चलते तेंदूएं गांव में घुस गए थे, एक की मौत हो चुकी है जबकि दुसरा भाग निकला है, हालाकि वन विभाग की टीम क्षेत्र में नजर बनाएं हुए है ।
जानकारी के अनुसार नारायणगढ़ थानान्तर्गत गांव फतेहपुर नई आबादी निवासी 85 वर्षीय हमेरीबाई पति रामलाल अहिरवार प्रात: पौने सात बजे शौच के लिए जंगल जा रही थी, इसी दौरान तेंदूए ने उन पर हमला कर दिया, वृध्दा को लहूलुहान हो गई। ग्रामीण वरदीचंद पिता फतेहसिंह व बबलू पिता जयसिंह ने जब यह देखा तो उन्होंने पत्थर फेंककर वृध्दा को छुड़ाया, वृध्दा को नारायणगढ़ में प्राथमिक उपचार के लिए ले गए, जहां से मंदसौर रेफर कर दिया, बताया गया वृध्द को घायल करने के बाद एक पेंथर खेत की घास में घुस गया, वहीं एक भाग गया। इसकी सूचना ग्रामीणों ने वन विभाग व पुलिस को दी। नारायणगढ़ पुलिस तो पहुंच गई, लेकिन वनविभाग के अधिकारी नही पहुंचे तो दस बजे करीब ग्रामीणों ने ही तेंदूए को पकड़ने की हिम्मत जुटाई, जिस घास में तेंदूआ घुसा था, वहां ग्रामीण पहुंचे। तेंदूए के गांव में घुसने की सूचना पर कवरेज के लिए खेत के पास पहुंचे नारायणगढ़ के प्रेस फोटोग्राफर रमेश पेंटर पर तेंदूए ने हमला कर दिया, जिसे बचाने आए फतेहपुर निवासी नागूसिंह (38) पिता बहादूरसिंह भी तेंदूए के हमले में घायल हो गए। ग्रामीणों के चिल्लाने पर तेंदूआ फिर घास में घुस गया। करीब दस गांव के ग्रामीण फतेहपुर में एकत्रित हो गए। ग्रामीणों ने तेंदूए को घेरा तो तेंदूआ खेत से निकलकर भागा, इस दौरान तेंदूआ खेत के पास खड़े वरदीचंद पिता फतेहसिंह बावरी पर लपका और हाथ पकड़ लिया, वरदीचंद ने भी साहस दिखाते हुए तेंदूए को पकडने की कौशिश की, इस दौरान एकत्रित ग्रामीणों ने वरदीचंद को छुड़ाने के लिए तेंदूए पर रस्सी का फंदा डाला व लट्ट से वार किया। हाथ  छुड़वाने के बाद तेंदूए को रस्सी से बांध दिया। कुछ देर बाद वन विभाग की टीम पिंजारा व जाल ले कर पहुंची, ग्रामीणों ने बंधे तेंदूए को वन विभाग के पिंजरे में बंद कर दिया। यह घटनाक्रम करीब एक घंटे तक चला। जिसे लेकर टीम मंदसौर पहुंची, लेकिन रास्ते में ही उसकी मृत्यु हो चुकी थी। 
Chania