Sunday, August 1st, 2021 Login Here
छापामार कार्रवाहीं में यूरिया की कालाबाजारी करते पकड़े गऐ व्यापारी जहरीले जाम से बही के चैकीदार की भी मौत, एसआईटी पहुंची जांच के लिए एम्बुलेंस स्टेण्ड पर जमाया निजी टैक्सियों ने कब्जा, पुलिस ने हटवाया मंडी में हम्मालों ने कर दी हड़ताल, चर्चा के बाद काम पर लोटे मंगलवार को बादल हुए साफ, ठण्डक रहीं बरकरार जहरीली शराब कांड, एक के बाद एक तीन और मौतों के बाद आंकड़ा पहंुचा 10 पर सावन का पहला सोमवार, शिवमय हुआ पशुपति का शहर लगातार बारिश से शिवना लबालब, शिव के अभिषेक से दूर रह गई मैय्या अब मंदसौर के आसमान पर उडान भर तैयार होंगें पायलट जहरीली शराब से एक और की मौत, चार गंभीर में से एक रेफर महिनों के बजाय सालों में पूरे हुए सेतु में घटिया निर्माण का टांका फिर भी कार्रवाहीं नहीं शराब पीने के बाद तीन की मौत , चार घायल समर्थ गुरु से जुड़े जीवन मे अज्ञानता होगी दूर -आचार्यश्री आस्था के पुष्प से गुरू को नमन, आज से प्रारम्भ होगी शिवशंकर की आराधना साठ साल बाद गांधीसागर झील का लाभ किसानों को, डेढ़ लाख हेक्टेयर में सिंचाई

सूने रहे पांडाल, नहीं मची 10 दिवसीय गणेशोत्सव की धूम, आज होगी बप्पा की विदाई
मंदसौर जनसारंगी।
 शायद यह पहला अवसर है जब 10 दिवसीय गणेश उत्सव के दौरान मंदसौर में ना तो भगवान श्री गणेश के पांडाल सजे और ना ही उत्सव की धूम रही। इससे पहले कभी अनंत चतुर्दशी की झिलमिलाती,जगमगाती, नयनाभिराम झांकियों का कारवां रुका है। किसी वर्ष बारिश भी आई तो अगले दिन झांकियों का कारवां निकला है लेकिन कोरोना संकट के कारण आज पहली बार झांकियों के साथ रतजगा नहीं होगा गणपति विसर्जन भी लोग अधिकांश अपने घरों पर ही करेंगे। 10 दिनों तक सुने रहे पंडालों के बीच आज गणपति बप्पा की विदाई हो जाएगी लेकिन उसमें भी उत्साह नहीं दिखेगा।
10 दिवसीय गणेश उत्सव का आज आखरी दिन है अनंत चतुर्दशी का पर्व 1 सितंबर सोमवार को  मनाया जाएगा, लेकिन आज हर बार की तरह गणपति बप्पा विसर्जन की धूम नहीं मचेगी बल्कि अधिकांश लोग अपने घरों में ही विधि विधान के साथ विसर्जन करेंगे तथा कई लोग जो घर पर विसर्जन नहीं करेंगे उनके लिए नगरपालिका विसर्जन की व्यवस्थाएं करेगी। लेकिन पूरे दिन कहीं भी विसर्जन के चल समारोह नहीं निकलेंगे और ना ही विसर्जन के लिए ढोल,ढमाकों की गूंज सुनाई देगी। पूरे 10 दिन सूने रहे  पंडालों के साथ ही गणपति बप्पा मोरिया अगले बरस तू जल्दी आ के जयघोष के साथ गणपति बप्पा की आज विदाई हो जाएगी।

कल से शुरू हो जाएगा श्राद्ध पक्ष
मंदसौर जनसारंगी।
अनंत चतुर्दशी के साथ ही आज से श्राद्ध पक्ष भी प्रारंभ हो रहा है 15 दिनों तक श्राद्ध पक्ष रहेगा जिसमें पित्र पूजा का विशेष महत्व होता है एक सितंबर को पहला स्थान पूर्णिमा का होगा तथा 17 सितंबर को सर्व पित्र अमावस्या के श्राद्ध के साथ श्राद्ध पक्ष समाप्त होगा। श्राद्ध पक्ष समाप्त होने के अगले ही दिन से नवरात्रि प्रारंभ होती है लेकिन इस वर्ष ऐसा नहीं होगा अधिक मास होने के कारण श्राद्ध के अगले ही दिन से अधिक मास प्रारंभ हो जाएगा अधिक मास की समाप्ति के बाद नवरात्रि प्रारंभ होगी।

किस दिन कोन सा श्राद्ध होगा

श्राद्ध पक्ष निर्णय--
*दि. 1-9-2020, मंगल वार, पूर्णिमा का व्रत और  श्राद्ध की पूर्णिमा।
*दि. 2-9-2020, बुधवार, एकम का श्राद्ध।
*दि.3-9-2020, गुरुवार, द्वितीया का श्राद्ध।
*दि.5-9-2020, शनिवार,तृतीया श्राद्ध।
*दि.6-9-2020, रविवार, चतुर्थी श्राद्ध।
*दि.7-9-2020, सोमवार, पंचमी श्राद्ध।
*दि.8-9-2020, मंगलवार, छठ का श्राद्ध।
*दि. 9-9-2020, बुधवार, सप्तमी श्राद्ध।
*दि. 10-9-2020, गुरुवार, अष्टमी श्राद्ध।
*दि. 11-9-2020, शुक्रवार, नवमी श्राद्ध।
*दि.12-9-2020, शनिवार, दशमी श्राद्ध।
*दि.13-9-2020, रविवार, एकादशी श्राद्ध।
*दि.14-9-2020, सोमवार, बारस का श्राद्ध।
*दि.15-9-2020, मंगलवार, तेरस का श्राद्ध।
*दि.16-9-2020, बुधवार, चतुर्दशी श्राद्ध।
*दि.17-9-2020, गुरुवार, सर्व पितृ अमावास्या।
_____________________
प. उमेश जोशी
ज्योतिष एवं कर्मकांडपरिषद, मंदसौर (म.प्र.)
Chania