Friday, May 7th, 2021 Login Here
रतलाम के एडवोकेट सुरेश डागर की मृत्यु का मामला गरमाया इंदौर के एडवोकेट ने हाईकोर्ट के आदेश की अवमानना पर जबलपुर उच्च न्यायालय में की याचिका दायर रतलाम के एडवोकेट सुरेश डागर की मृत्यु का मामला गरमाया इंदौर के एडवोकेट ने हाईकोर्ट के आदेश की अवमानना पर जबलपुर उच्च न्यायालय में की याचिका दायर बेटा चाहता था ऐश का जीवन जीने के लिए जमीन बेचना, माॅ ने मना किया तो कर दी हत्या कोविड की मार ने तोड़ी आम लोगों की कमर, बिगाडा मध्यवर्गीय परिवार का बजट योग बना रहा निरोग, कोरोना से जीती जंग आपदा में गायब धरती के भगवान! एक दर्जन डाक्टरों को नोटिस अग्रवाल समाज द्वारा सवा लाख महामृत्युंजय जाप एवं नवचंडी अनुष्ठान हुआ आरंभ अग्रवाल समाज सोमवार से सवा लाख महामृत्युंजय जप एवं नवचंडी अनुष्ठान का आयोजन करेगा लापरवाहीं- कोरोना लेकर बाजार में घूम रहे संक्रमित, चार महिने में नहीं बन पाया सवा दो सौ मीटर का नाला दूकान का शटर बंद लेकिन अंदर मिले ग्राहक हर दिन आॅक्सीजन आने का दावा लेकिन खत्म नहीं हो रहीं मारा-मारी *रजिस्ट्री की गाइड लाइन 30 जून तक यथावत* MP में 1 मई से शुरू नहीं होगा वैक्सीनेशन पार्ट-3:2.5 लाख डोज की पहली खेप 3 मई तक मिली तो 18+ लोगों को 5 मई से लगेगा टीका, 19 हजार लोगों ने कराया रजिस्ट्रेशन सोमली नदी को पार कर मंदसौर की तरफ आगे बढा चंबल का पानी

रतलाम मेडिकल कॉलेज में मंदसौर नीमच के नागरिकों के उपचार की व्यवस्था को लेकर विधायक यशपालसिंह सिसोदिया ने सीएम शिवराज सिंह चौहान और मंदसौर के कोरोना प्रभारी मंत्री जगदीश देवड़ा को ट्वीट किया जिसमें उन्होंने कहा कि रतलाम मेडिकल काॅलेज में मंदसौर और नीमच के कोरोना पाॅजीटिव मरीजों के लिए पलंगों की संख्या निर्धारित करें। क्योंकि दोनो जिलों के चिकित्सल मरीजों को रैफर कर रहे है पर वहां स्थान उपलब्ध नहीं हो पा रहा है। इसके साथ ही विधायक श्री सिसोदिया ने आम जनता से भी विडियों जारी कर अपील की जिसमें उन्होंने कहा कि कोरोना की इस दूसरी लहर में मरीज और उसके परीजन गंभीरता को समझे। कोरोना के लक्षण देखते हुए उपचार प्रारम्भ कर रहे है। सीटी स्कैन और एक्सरे में उन्हें कोरोना के लक्षण होते है ऐसे में इन मरीजों से अनुरोध है अपनी आरटीपीसीआर जांच भी कराऐ और किसी भी जांच में कोरोना के लक्षण दिखाई दे तो समय पर शासकीय या निजी कोविड अस्पताल में जाऐ। क्योंकि जिस मरीज का आॅक्सीजन लेवल कम हो रहा है तो घर पर उसे काबू करना मुश्किल होगा।कोरोना के लक्षण होने के बाद भी यदि घर में ही बैठे रहेगें तो स्थिति बेकाबू होगी और सरकारी या निजी कोविड सेंटर पर पहुंचने में देर हो जाऐगी। इसलिए कोई भी व्यक्ति कोराना के शुरूआती लक्षणों में ही सरकारी या निजी कोविड संटर पर ही अपना परीक्षण कराऐ और वहां के चिकित्सकों की सलाह अनुसार ही ट्रीटमेंट ले ताकी कोरोना से जंग को जीता जा सके।
--------------------------------

बैंगलोर से आई रेमडेसिविर की खेप से मन्दसौर पहुचेंगे इंजेक्शन
’रतलाम मेडिकल कॉलेज में भी होगी आपूर्ति, ’मंत्री श्री देवड़ा ने सक्रियता से कराई व्यवस्था,
वरिष्ठ विधायक श्री सिसौदिया एवं कलेक्टर श्री पुष्प से लगातार चर्चा’
’भोपाल/मन्दसौर।
कोरोना पॉजिटिव होने के बावजूद लगातार मन्दसौर एवं रतलाम की व्यवस्था में जुटे मंत्री जगदीश देवड़ा ने मंगलवार को दोनों स्थानों पर रेमडिसिवर इंजेक्शन की व्यवस्था करवाई।
मंगलवार को विधायक यशपालसिंह सिसौदिया एवं कलेक्टर मनोज पुष्प ने आपको इंजेक्शन की आवश्यकता से अवगत करवाया। इस पर मंत्री श्री देवड़ा तत्काल इस व्यवस्था में स्वयं जुटे। आपने उच्च पदस्थ जिम्मेदारों से चर्चा की। आधे घंटे के भीतर ही आपने विधायक श्री सिसौदिया एवं कलेक्टर श्री पुष्प को अवगत करवाया कि बैंगलोर से इंदौर पहुंची इंजेक्शन की खेप में से मन्दसौर और रतलाम की आपूर्ति की जाएगी। मंत्री श्री देवड़ा द्वारा उज्जैन कमिश्नर से चर्चा कर मन्दसौर की खेप को मंदसौर से दवा लेने जाने वाले अधिकारी को देना सुनिश्चित करने को कहा। आपने यह भी सुनिश्चित किया कि रतलाम हवाई पट्टी पर भी शासन के हेलीकॉप्टर के माध्यम से इंजेक्शन की खेप पहुंचेगी।’ ’मंत्री श्री देवड़ा द्वारा तत्परता से की गई मन्दसौर जिले की व्यवस्था के लिए विधायक श्री सिसौदिया ने आपका आभार व्यक्त किया।’
Chania